drishti haldwani

नई दिल्ली-BANK FD से अच्छी है डाकघर की स्कीमें, जानिये कैसे जल्दी डबल होगा आपका पैसा

195

नई दिल्ली-आज हर आदमी कुछ पैसे लगातार जल्दी दोगुनी कीमत हासिल करना चाहता है। इसके लिए कई पॉलसियां और योजनाएं है। ज्यादातर लोग बैंक में एफडी करना अच्छा मानते है। लेकिन इससे बेहतर डाकघर की स्कीमें है। पोस्टऑफिस में सुरक्षा और रिटर्न की गारंटी बैंक एफडी की तरह ही है, लेकिन ब्याज दर बैंक एफडी (BANK FD) से कहीं अधिक है।

iimt haldwani

डाकघर में नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट (National Saving Certificate Scheme) सरकार ने 1 अक्‍टूबर से 5 साल की एनएससी पर ब्याज दर को 7.6 प्रतिशत से बढ़ाकर 8 प्रतिशत कर दिया है। वही वाणिज्यिक बैंकों में 5 साल की एफडी पर ब्याज दर इस समय 6.5 प्रतिशत से 7 प्रतिशत के बीच है। इस हिसाब से डाकघर अच्छा विकल्प है।

investment-invest-money, Post Office, FD Bank

निवेश की कोई सीमा नहीं

नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट (National Saving Certificate Scheme) भारत सरकार की एक बचत योजना है। इस पर ब्याज की दर सरकार ही तय करती है। एनएससी में न्‍यूनतम 100 रुपये का निवेश किया जा सकता है। इतनी राशि निवेश करने पर पांच साल बाद मैच्‍योरिटी पर आपको 146.93 रुपये मिलेंगे।

8 फीसदी की प्रतिवर्ष ब्याज दर के हिसाब से आपका पैसा 9 साल में दोगुना हो जाएगा। इस स्‍कीम में अधिकतम निवेश की कोई सीमा नहीं है। अगर आप आयकर में बचत का लाभ उठाना चाहते हैं तो यह आपको अधिकतम 1.50 लाख रुपये तक के निवेश पर ही मिलेगा।

इस योजना के तहत 100 रुपये, 500 रुपये, 1000 रुपये, 5000 रुपये, 10000 रुपये या इससे ज्यादा के सर्टिफिकेट मिलते है। इसमें नि‍वेश करने की कोई सीमा नहीं है। एनएससी को कैश या चेक के जरिए खरीदा जा सकता है। चेक से पेमेंट करने पर खाता तभी खुलता है, जब बैंक से चेक क्लीयर हो जाता है।

एनएससी पर आसानी से लोन भी लिया जा सकता है। एनएससी ज्वाइंट नाम से भी लिया जा सकता है। इसके अलावा माता-पिता अपने 18 साल से कम उम्र के बच्चे के नाम से भी इसे खरीद सकते हैं।