inspace haldwani
inspace haldwani
Home उत्तराखंड नैनीताल-(बड़ी खबर)- कानून से नहीं बच सकी जज साहिबा, इस मामले में...

नैनीताल-(बड़ी खबर)- कानून से नहीं बच सकी जज साहिबा, इस मामले में हो गई बर्खास्त

देहरादून- सरकार के इस फैसले से उत्तराखंड पुलिस के खिल जाएंगे चेहरे, होगा ये फायदा

शासन ने उत्तराखंड पुलिस के कर्मचारियों को छठे वेतनमान की सिफारिशों के तहत उच्चीकृत वेतन ग्रेड पर एरियर की सौगात दे दी है। हाईकोर्ट...

पिथौरागढ़- भारत से पेंशन लेकर लौट रहे 5 नेपाली पेंशनरों को मिली दर्दनाक मौत, ऐसे हुआ पूरा हादसा

भारत से पेंशन लेकर जा रहे नेपाली पेंशनरों की एक जीप नेपाल में झूलाघाट से करीब सात किमी दूर सड़क से पलटकर डेढ़ सौ...

उत्तराखंड- सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने षडयंत्रकारियों को ऐसे किया चारों खाने चित, पैने चार साल की रही बेमिसाल परफार्मेंस

बीते तकरीबन पौने चार साल की परफार्मेंस से उत्तराखंड में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने अपनी कार्यशैली से सरकार और संगठन के अलावा केंद्र...

देहरादून- उत्तराखंड में कोरोना का आकड़ा बढ़कर पहुंचा इतना , आज 11 लोगों ने गवाईं जान

उत्तराखंड में आज 528 नये कोरोना संक्रमित मरीज मिलने के साथ ही राज्य में आंकड़ा बढ़कर 72160 हो गया है। जबकि 11 लोगों की...

लालकुआं- डीएम सविन बंसल ने इस अधिकारी को किया निलंबित, जाने क्या रही इस एक्शन की बड़ी वजह

कानूनगो रजिस्ट्रार के पद पर पदोन्नति के बाद की गई तैनाती स्थल पर योगदान ना करने उच्च अधिकारियों के आदेशों की अवहेलना करने तथा...

नैनीताल--भ्रष्टाचार के आरोपों से घिरी व करीब पिछले चार सालों से निलंबित चल रही वर्ष 2015 में काशीपुर की एसीजेएम (अपर मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी) के पद पर रही अनुराध गर्ग को बर्खास्त कर दिया गया है। जज के बर्खास्त होने का प्रदेश के इतिहास का यह पहला मामला है। जानकारी के अनुसार 2005 बैंच की अनुराधा गर्ग पर भ्रष्टाचार के आरोप है। इसी मामले को लेकर वह पिछले चार सालों से विभाग से निलंबित चल रही थी। राज्य कार्मिक विभाग द्वारा ये कार्रवाई की गई।

COURT Uttarakhand anuradha Garg

रामनगर-समझाते रहे एसडीएम पर नहीं मानी महिला और दे गई इच्छा मृत्यु का ज्ञापन, जानिये आखिर ऐसा कदम क्यों उठाना चाहती है विधवा औरत

भ्रष्टाचार के आरोपों पर हुइ कार्रवाई

बता दें कि न्यायिक अधिकारी अनुराधा गर्ग के खिलाफ वर्ष 2015 नैनीताल हाई कोर्ट ने भ्रष्टाचर की शिकायतों पर गोपनीय जांच करायी थी। इस दौरान जांच में आरोपों की पुष्टि हुई। यह जांच मुख्य न्यायधीश को सौंपी। जिसके बाद 27 मार्च 2015 को उन्हें निलंबित कर दिया गया।

देहरादून-छह महीने पहले हुई थी युवक-युवती की सगाई, छह घंटे में उठाया ऐसा खौफनाक कदम कि कांप उठी रूह

अब भ्रष्टाचार के आरोपी सही पाये जाने पर उनकी बर्खास्तगी के लिए उत्तराखंड शासन को रिपोर्ट भेजी गई इसके आधार पर आज उत्तराखंड के कार्मिक विभाग ने उनकी बर्खास्तगी के आदेश जारी कर दिये।

Related News

देहरादून- सरकार के इस फैसले से उत्तराखंड पुलिस के खिल जाएंगे चेहरे, होगा ये फायदा

शासन ने उत्तराखंड पुलिस के कर्मचारियों को छठे वेतनमान की सिफारिशों के तहत उच्चीकृत वेतन ग्रेड पर एरियर की सौगात दे दी है। हाईकोर्ट...

पिथौरागढ़- भारत से पेंशन लेकर लौट रहे 5 नेपाली पेंशनरों को मिली दर्दनाक मौत, ऐसे हुआ पूरा हादसा

भारत से पेंशन लेकर जा रहे नेपाली पेंशनरों की एक जीप नेपाल में झूलाघाट से करीब सात किमी दूर सड़क से पलटकर डेढ़ सौ...

उत्तराखंड- सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने षडयंत्रकारियों को ऐसे किया चारों खाने चित, पैने चार साल की रही बेमिसाल परफार्मेंस

बीते तकरीबन पौने चार साल की परफार्मेंस से उत्तराखंड में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने अपनी कार्यशैली से सरकार और संगठन के अलावा केंद्र...

देहरादून- उत्तराखंड में कोरोना का आकड़ा बढ़कर पहुंचा इतना , आज 11 लोगों ने गवाईं जान

उत्तराखंड में आज 528 नये कोरोना संक्रमित मरीज मिलने के साथ ही राज्य में आंकड़ा बढ़कर 72160 हो गया है। जबकि 11 लोगों की...

लालकुआं- डीएम सविन बंसल ने इस अधिकारी को किया निलंबित, जाने क्या रही इस एक्शन की बड़ी वजह

कानूनगो रजिस्ट्रार के पद पर पदोन्नति के बाद की गई तैनाती स्थल पर योगदान ना करने उच्च अधिकारियों के आदेशों की अवहेलना करने तथा...

उत्तराखंड- जाने कैसी है पद्मश्री डॉ. अनिल प्रकाश जोशी के संघर्ष की कहानी, रह चुके है ‘मैन ऑफ द ईयर’

अनिल प्रकाश जोशी एक भारतीय हरित कार्यकर्ता, सामाजिक कार्यकर्ता, वनस्पति विज्ञानी और हिमालयी पर्यावरण अध्ययन और संरक्षण संगठन HESCO के संस्थापक हैं। 6 अप्रैल...