drishti haldwani

नैनीताल-(बड़ी खबर)- कानून से नहीं बच सकी जज साहिबा, इस मामले में हो गई बर्खास्त

1290

नैनीताल--भ्रष्टाचार के आरोपों से घिरी व करीब पिछले चार सालों से निलंबित चल रही वर्ष 2015 में काशीपुर की एसीजेएम (अपर मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी) के पद पर रही अनुराध गर्ग को बर्खास्त कर दिया गया है। जज के बर्खास्त होने का प्रदेश के इतिहास का यह पहला मामला है। जानकारी के अनुसार 2005 बैंच की अनुराधा गर्ग पर भ्रष्टाचार के आरोप है। इसी मामले को लेकर वह पिछले चार सालों से विभाग से निलंबित चल रही थी। राज्य कार्मिक विभाग द्वारा ये कार्रवाई की गई।

iimt haldwani

COURT Uttarakhand anuradha Garg

रामनगर-समझाते रहे एसडीएम पर नहीं मानी महिला और दे गई इच्छा मृत्यु का ज्ञापन, जानिये आखिर ऐसा कदम क्यों उठाना चाहती है विधवा औरत

भ्रष्टाचार के आरोपों पर हुइ कार्रवाई

बता दें कि न्यायिक अधिकारी अनुराधा गर्ग के खिलाफ वर्ष 2015 नैनीताल हाई कोर्ट ने भ्रष्टाचर की शिकायतों पर गोपनीय जांच करायी थी। इस दौरान जांच में आरोपों की पुष्टि हुई। यह जांच मुख्य न्यायधीश को सौंपी। जिसके बाद 27 मार्च 2015 को उन्हें निलंबित कर दिया गया।

देहरादून-छह महीने पहले हुई थी युवक-युवती की सगाई, छह घंटे में उठाया ऐसा खौफनाक कदम कि कांप उठी रूह

अब भ्रष्टाचार के आरोपी सही पाये जाने पर उनकी बर्खास्तगी के लिए उत्तराखंड शासन को रिपोर्ट भेजी गई इसके आधार पर आज उत्तराखंड के कार्मिक विभाग ने उनकी बर्खास्तगी के आदेश जारी कर दिये।