iimt haldwani

हरिद्वार में आया ऑनर किलिंग का मामला, इस कारण नौवीं कक्षा की छात्रा की हत्याकर जलाया शव

554

हरिद्वार-नगर में एक ऑनर किलिंग का मामला सामने आया है। यहां एक नौवीं कक्षा में पढऩे वाली छात्रा की हत्या कर दी गई। हत्या की खबर लगते ही पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने हत्या के आरोपी में छात्रा के पिता व अन्य रिश्तेदारों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुलिस ने कई ग्रामीणों से पूछताछ की तो पता चला कि छात्रा दो दिन पहले गांव में स्थित एक स्कूल से लापता हो गई थी। परिजनों को शक था कि उसका एक युवक से प्रेम प्रसंग चल रहा है। जिसके चलते वह उस युवक के साथ गई है। बताया जा रहा है कि शुक्रवार को ही छात्रा वापस आई थी। जैसे ही वह घर वापस आयी तो परिजन उससे लगातार पूछताछ में जुट गये। ग्रामीणों का कहना है कि छात्रा के परिजन उसके प्रेम-प्रसंग से नाराज थे। पुलिस को शक है कि इसी के चलते छात्रा की हत्या की गई है।

amarpali haldwani

यह भी पढ़ें- देहरादून-देवभूमि की शाही शादी में खर्च होंगे 200 करोड़, पांच किलो चांदी से बना है शादी का कार्ड, कई फिल्मी सितारे मचायेंगे शादी में धूम

ग्रामीणों व मां के बयानों से हत्या की आशंका

बताया जा रहा है कि छात्रा के पिता गांव में ही किसानों के यहां मजूदरी करते हैं। शुक्रवार रात छात्रा की मौत हो गई। शनिवा करे परिजनों ने गांव के पास स्थित श्मशान घाट में उसका अंतिम संस्कार कर दिया। तीन बजे ग्रामीणों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। जैसे ही पुलिस श्मसान घाट पहुंची तो शव पूरी तरह जल चुका था। जिसके बाद पुलिस ने चिता की राख और अस्थियों को कब्जे में लेकर फॉरेंसिक जांच के लिए भेज दिया। इसके बाद पुलिस ने शक के आधार पर छात्रा की मां को हिरासत में लेकर लिया। इस बीच घर के अन्य सदस्य घटना के बाद फरार हो गये। पुलिस की माने तो छात्रा की मां और ग्रामीणों के बयानों से लगता है कि छात्रा की हत्या की गई है। फिलहाल छात्रा की मां से पूछताछ जारी है।

यह भी पढ़ें- कॉलेज खत्म होने का जश्न मनाने गए थे ये छात्र, झील के पास ले रहे थे सेल्फी फिर अचानक मची चीख-पुकार

डीएनए सैंपल से करेंगी मिलान

देर रात एक ग्रामीण की शिकायत पर पुलिस ने छात्रा के पिता रामआसरे और अन्य के खिलाफ हत्या और शव को खुदबुर्द करने के आरोप में मुकदमा दर्ज कर लिया है। मामले की जांच की जा रही है। हालांकि पुलिस ने इस मामले में मुकदमा तो दर्ज कर लिया पुलिस के सामने सबसे पहले यह चुनौती होगी कि उसे छात्रा की मौत का प्रमाण कोर्ट में देना होगा। इसके बाद ही हत्यारों पर आरोप साबित करने होंगे। पुलिस छात्रा के माता-पिता के डीएनए सैंपल की जांच छात्रा के डीएनए से मिलान कराएगी।