Uttarakhand Government
Uttarakhand Government
Home उत्तराखंड कुमाऊँ हल्द्वानी-निजी अस्पतालों की लापरवाही से नाराज हुए डीएम, अब होगी ये बड़ी...

हल्द्वानी-निजी अस्पतालों की लापरवाही से नाराज हुए डीएम, अब होगी ये बड़ी कार्यवाही

विजय भूषण बने ओमैक्स सोसायटी के निर्विरोध अध्यक्ष बने

रुद्रपुर। ओमेक्स रिवेरा वेलफेयर एसोसिएशन के चुनाव में शहर के प्रतिष्ठित व्यापारी विजय भूषण गर्ग निर्विरोध अध्यक्ष चुने गए । त हासिल की है। विजय...

सीएम ने बाजपुर के हजारों किसानों के चेहरों पर इस तरह ला दी मुस्कान

रुद्रपुर । ऊधमसिंह नगर जिले की तहसील बाजपुर क्षेत्र में हजारों एकड़ भूमि पर खरीद फरोख्त पर रोक लगाने के बाद आंदोलित किसानों के...

हल्द्वानी-(बड़ी खबर)-नेता प्रतिपक्ष डा. इंदिरा हृदयेश एसटीएच में भर्ती, कोरोना टेस्ट को भेजी रिपोर्ट

हल्द्वानी-प्रदेश में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे है। हाल ही में भाजपा के कई विधायक कोरोना पॉजिटिव निकले है। अब नेता प्रतिपक्ष...

रुद्रपुर-मजदूरों की समस्याओं का समाधान करने को बनेगी उच्च स्तरीय समिति

रुद्रपुर । सिडकुल ऊधम सिंह नगर की मौजूदा श्रमिक समस्याओं के निस्तारण के संबंध में श्रमिक संयुक्त मोर्चा के नेतृत्व में विभिन्न यूनियनों ने...

रुद्रपुर- परिजनों की मर्जी के बिना की लव मैरिज, फिर ऐसे हुआ नरकीय जिंदगी का अंत

रुद्रपुर । पहले प्यार, फिर परिवार वालों की मर्जी के खिलाफ शादी और फिर पति की बेवफाई ऐसी घटनाएं आमतौर पर सामने आती हैं।...
Uttarakhand Government

हल्द्वानी- निजी चिकित्यालयों में गंभीर रोगों से ग्रस्त रोगियों को बिना कोविड जांच किये हुए उपचार प्रदान नहीं किये जाने पर जिलाधिकारी सविन बंसल ने कड़ी नाराजगी व्यक्त की। उनके संज्ञान मे आया कि निजी चिकित्सालयों की गंभीर मरीजों के उपचार में इस प्रकार की लापरवाही संवेदनहीनता से विगत सप्ताहों में तथा कथित तीन मरीजों की मृत्यु हो चुकी है। उन्होंने कहा कि निजी चिकित्सालयों की लापरवाही व संवेदनहीनता से हुई तथा कथित तीन मरीजों के मृत्यु की जांच अपर जिलाधिकारी की अध्यक्षता में गठित टीम द्वारा कराई जा रही है। साथ ही उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी व नगर मजिस्टे्रट हल्द्वानी (अध्यक्ष आईआरटी) से अब तक निजी चिकित्यालयों द्वारा गंभीर रोगियों का उपचार नहीं किया गया और रोगियों की मृत्यु हो गई, उन चिकित्सालयों के खिलाफ की गई कार्यवाही तलब की।


Uttarakhand Government

देहरादून-यात्रियों के लिए अच्छी खबर, अब उत्तराखंड से इन चार शहरों के लिए शुरू होंगी हवाई सेवा

Uttarakhand Government

जिलाधिकारी बंसल ने कहा कि निजी चिकित्सालयों द्वारा मरीजों के उपचार में इस प्रकार की लापरवाही व संवेदनहीनता बरतने से जहां एक ओर आम जनता के स्वास्थ्य व जीवन को विपरीत रूप से प्रभावित किया जा रहा है। वही दूसरी ओर जिले की स्वास्थ्य व्यवस्था की छवि को भी धूमिल किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि निजी चिकित्सालयों द्वारा गंभीर रोगियों को बिना कोविड जांच किये हुये उपचार प्रदान नहीं किया जा रहा है तथा रोगियों से उपचार से पूर्व कोविड जांच संबन्धी प्रमाण-पत्र मांगा जा रहा है जो गंभीर प्रकरण है।

Uttarakhand Government

देहरादून-उत्तराखंड को मिली बड़ी सफलता, स्टार्टअप रैंकिंग-2019 में लगाई छलांग

उन्होंने कहा कि निजी चिकित्सालयों के लैब चिकित्सकों, तकनीशियनों को मुख्य चिकित्साधिकारी द्वारा माह अप्रैल कोविड -19 सेम्पलिंग की ट्रेनिंग भी दी गई थी तथा निजी चिकित्सालयों के सक्षम अधिकारियों द्वारा इस आशय का प्रमाण -पत्र भी दिया गया है कि उनका चिकित्सालय कोविड 19 सैम्पलिंग के लिए सक्षम है और यदि किसी आकस्मिक परिस्थिति में कोई ऐसा मरीज आता है तो संबन्धित मरीज का कोविड-19 सैम्पल उनके चिकित्सालय द्वारा ही लिया जायेगा। साथ ही चिकित्सालयों में कोविड -19 से निपटने के लिए आइसोलेशन वार्ड की स्थापना का भी प्रमाण पत्र निजी चिकित्सालयों द्वारा दिया गया है। उक्त के अतिरिक्त सक्षम स्तर से जिले में कोविड-19 सैम्पलिंग के लिए निजी लैबों को भी अधिकृत किया गया है। इस हेतु शासनादेश भी निर्गत किये गये है।

जिलाधिकारी ने कहा कि इसके बावजूद भी निजी चिकित्सालयों द्वारा गंभीर रोगियों के उपचार में संवेदनहीनता लापरवाही बरती जा रही है जो गंभीर बात है। उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी व नगर मजिस्ट्रेट का स्पष्टीकरण तलब किया है कि इस प्रकार की लापरवाही, संवेदनहीनता, अनुशासनहीनता का संज्ञान लेते हुये उन निजी चिकित्सालयों के विरूद्व आपदा प्रबन्धन अधिनियम 2005, उत्तराखण्ड एपेडमिक डिजीज, कोविड 19 रेगुलेशन 2020, एपेडमिक डिजीज एक्ट 1897 एवं आईपीसी की सुसंगत धाराओं के अधीन उनके स्तर से क्या कार्यवाही की गई है अथवा इन चिकित्सालयों के विरूद्व प्रतिकूल कार्यवाही करने हेतु सक्षम स्तर पर किस प्रकार की संस्तुति प्रेषित की गई है।

यह भी स्पष्ट करने को निर्देेशित किया गया है कि निजी चिकित्सालयों द्वारा गंभीर रोगियों के उपचार में की गई लापरवाही जिससे आम जनमानस का स्वास्थ्य विपरीत रूप से प्रभावित हुआ है तथा मानवीय जीवन मे संकट आया है और जनहानि भी हुई है, क्या उपयुक्त आचरण है, यदि नहीं तो उनके स्तर से इसका संज्ञान लेते हुये क्यों कार्यवाही नहीं की गई, क्या उनके द्वारा निजी चिकित्सालयों से कोविड सैम्पलिंग निजी लैब से कराने एवं आइसोलेशन वार्ड हेतु प्रमाण पत्र, शपथपत्र लिये गये है, यदि हां तो सम्बन्धित अभिलेख भी आख्या के साथ पंाच दिन के भीतर प्रस्तुत करें। उन्होंने कहा कि प्रकरण अत्यन्त ही महत्वपूर्ण प्रकृति का है तथा आम जनमानस के स्वास्थ्य से सम्बन्धित है अत् एवं प्रकरण में किसी प्रकार का कोई विलम्ब क्षम्य नहीं होगा।

 

Uttarakhand Government

Related News

विजय भूषण बने ओमैक्स सोसायटी के निर्विरोध अध्यक्ष बने

रुद्रपुर। ओमेक्स रिवेरा वेलफेयर एसोसिएशन के चुनाव में शहर के प्रतिष्ठित व्यापारी विजय भूषण गर्ग निर्विरोध अध्यक्ष चुने गए । त हासिल की है। विजय...

सीएम ने बाजपुर के हजारों किसानों के चेहरों पर इस तरह ला दी मुस्कान

रुद्रपुर । ऊधमसिंह नगर जिले की तहसील बाजपुर क्षेत्र में हजारों एकड़ भूमि पर खरीद फरोख्त पर रोक लगाने के बाद आंदोलित किसानों के...

हल्द्वानी-(बड़ी खबर)-नेता प्रतिपक्ष डा. इंदिरा हृदयेश एसटीएच में भर्ती, कोरोना टेस्ट को भेजी रिपोर्ट

हल्द्वानी-प्रदेश में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे है। हाल ही में भाजपा के कई विधायक कोरोना पॉजिटिव निकले है। अब नेता प्रतिपक्ष...

रुद्रपुर-मजदूरों की समस्याओं का समाधान करने को बनेगी उच्च स्तरीय समिति

रुद्रपुर । सिडकुल ऊधम सिंह नगर की मौजूदा श्रमिक समस्याओं के निस्तारण के संबंध में श्रमिक संयुक्त मोर्चा के नेतृत्व में विभिन्न यूनियनों ने...

रुद्रपुर- परिजनों की मर्जी के बिना की लव मैरिज, फिर ऐसे हुआ नरकीय जिंदगी का अंत

रुद्रपुर । पहले प्यार, फिर परिवार वालों की मर्जी के खिलाफ शादी और फिर पति की बेवफाई ऐसी घटनाएं आमतौर पर सामने आती हैं।...

भीमताल-मैं दिल को सूट करूं या दिमाग को, फिर युवक ने पिस्टल से खुद को…

भीमताल-देर रात एक युवक ने पिस्टल से खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली। युवक की मौत के बाद परिवार में कोहराम मच गया।...
Uttarakhand Government