drishti haldwani

हल्द्वानी- पूनम पांडे हत्याकांड में 4 संदिग्धों से सीबीआई करेगी पूछताछ, डीआईजी ने पल्टे केस के पन्ने

2207

हल्द्वानी न्यूज- नगर के बहुचर्चित पूनम हत्याकांड को आगामी 28 अगस्त को एक साल पूरा हो जाएगा, लेकिन हत्याकांड को इतना समय बीतने के बावजूद पुलिस केवल कातिलों की तलाश के दावे करते नजर आ रही है। बता दें कि मामले में हाईकोर्ट के संज्ञान लेने के बाद भी पुलिस के हाथ पूनम के कातिलों तक नहीं पहुंच सके है। कातिलों की तालश के लिए कई राज्यों में भटकी नैनीताल की हाईटैक पुलिस 11 महिने बाद भी केवल पूछताछ में ही जुटी है। हालाकिं आईजी कुमाऊं जगत राम जोशी की माने तो हत्याकांड में कातिलों तक पहुंचने के लिए पुलिस पुनह प्रयास में लगी है।

iimt haldwani

यह भी पढ़े.. हल्द्वानी-बागेश्वर के सागर ने स्विट्जरलैंड में लहराया तिरंगा, दुनियां मेंं बजा देवभूमि डंका

4 संदिग्धों से होगी पूछताछ

सूत्रों की माने तो मामले में पूनम पांडे की बेटी और तीन सहेलियों का सीबीआई द्वारा लाई डिटैकटिंक टैस्ट किया जा जुका है। जिसकी रिपोर्ट आने के बाद भी पुलिस के रास्ते साफ नहीं हुए है। हालाकिं यह बात हजम करना भी मुश्किल है कि आखिर हत्याकांड की रात की इकलौती गवाह की रिपोर्ट निल कैसे आ सकती है? जानकारी है कि मामले में पुलिस एक बार फिर रुद्रपुर लैब में तीन-चार संदिग्धों से पूछताछ करने की तैयारी में है। हालाकिं यह संदिग्ध पूनम के परिवार के लोग है या बाहर के यह अभी साफ नहीं हो पाया है। उम्मीद है कि पुलिस के इस प्रयास के बाद शहर के चर्चित हत्याकांड से जल्द पर्दा उठा सके।

यह भी पढ़े.. ऋषिकेश- डॉक्टरों ने ऐसे निकाला आहार नली में फंसा 10 का सिक्का, आंखें बंद रोते रहे बच्चे के माता-पिता

क्या है पूरा मामला

ज्ञात हों वर्ष 2018 में 27 अगस्त की रात को हल्द्वानी के मंडी चौकी क्षेत्र के गोरापड़ाव स्थित एक घर में पूनम और उसकी बेटी पर अज्ञात लोगो द्वारा धारदार हत्यार से हमला कर दिया गया था। जिसमें ट्रांसपोर्टर लक्ष्मी दत्त पांडेय की पत्नी पूनम पांडेय की मौत हो गई। जबकि उसकी बेटी गंभीर रूप से घायल हो गई थी। जिसके बाद पुलिस द्वारा हत्या का खुलासा जल्द करने की बात कही गई थी। जबकि पूर्ण खुलासे के लिए पुलिस ने जांच जारी होने की बात कही थी। लेकिन मामले में 11 महिने से अधिक समय बीत जाने के बाद भी पुलिस के हाथ खाली हैं।