Uttarakhand Government
Uttarakhand Government
Home उत्तराखंड देहरादून- मंत्री सतपाल महाराज ने प्रवासियों को लेकर तैयार किया ये प्लान,...

देहरादून- मंत्री सतपाल महाराज ने प्रवासियों को लेकर तैयार किया ये प्लान, ऐसे सुधारेंगे प्रदेश की अर्थव्यवस्था

सिख समाज ने एसडीएम के माध्यम से राष्ट्रपति को भेजा ज्ञापन और साथ ही जताया रोष

संवाददाता- अनुराग शुक्ला सितारगंज में सिख समाज के लोगों ने जम्मू-कश्मीर का राजस्थान में पंजाबी मां बोली का तीसरे स्थान का दर्जा खत्म करने से...

11,000 हाईटेंशन लाइन की चपेट में आने से डिश केबल ऑपरेटर दर्दनाक मौत

संवाददाता -अनुराग शुक्ला सितारगंज नगर के केबल ऑपरेटर की हाईटेंशन लाइट की चपेट में आने से मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई घटना उस...

हल्द्वानी-आम्रपाली इंस्टिट्यूट का बड़ा प्लान, प्रवासियों को देंगे स्वरोजगार की फ्री ट्रेंनिंग, देखिये सरकार के साथ कैसे करना चाहते हैं कदमताल

हल्द्वानी । आम्रपाली ग्रुप आॅफ इंस्टीट्यूटस के सीईओ0 डा0 संजय ढींगरा ने बताया कि कोविड संकट और केन्द्र की नई शिक्षा नीति को देखते...

उत्तराखंड- अब इस मीटर के जरिये बिजली का बिल आयेगा बेहद कम, जानिये ऊर्जा निगम की ये योजना

ऊर्जा निगम ने एक नई योजना जारी की गई है, जो बिजली उपभोक्ताओं के लिये बेहद फायदेमंद है। अगर आप भी अनपे घर में...

हल्द्वानी- कोरोना को हराकर घर लौटी नेता प्रतिपक्ष, जनता के लिए दिया ये खास संदेश

उत्तराखंड की नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश की बीते दिनों कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। लगातार जन सेवा करते हुए वह कोरोना संक्रमित हो गईं...
Uttarakhand Government

उत्तराखंड की अर्थव्यवस्था पटरी पर लाने के लिए प्रदेश के जलागम मंत्री सतपाल महाराज ने केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर से मुलाकात कर उन्हें जलागम विकास परियोजनाओं के लिए 1000 करोड़ के प्रस्ताव सौंपे है। इस दौरान मंत्री सतपाल महाराज ने उन्हें बताया कि उत्तराखंड राज्य में क्रियान्वित की जा रही विश्व बैंक पोषित उत्तराखंड विकेंद्रीकृत जलागम विकास परियोजना ग्राम्या फेज-2 एक सफल परियोजना है। यह परियोजना वास्तव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की साल 2022 तक किसानों की आय दुगनी करने और प्राकृतिक जल स्रोतों के संवर्धन के साथ पुनर्जीवन की परिकल्पना को साकार करने में सक्रिय भूमिका निभा रही है।


Uttarakhand Government

Minister satpal maharaj news

Uttarakhand Government

प्रवासियों के लिए लाभकारी

मुलाकात के दौरान सतपाल महाराज ने कहा कि यह परियोजना वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण के बाद वापस आए प्रवासी भाई-बहनों के लिए भी आजीविका के अवसरों में वृद्धि और सहयोग करने में लाभकारी होगी। सतपाल महाराज ने अनुराग ठाकुर को बताया कि ग्राम्या-2 के नाम से चल रही यह परियोजना सितंबर 2021 में समाप्त हो रही है। इसलिए इस जन उपयोगी और लोकप्रिय परियोजना जो हमारे हिमालय राज्यों के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है, जिसका तीन साल की अवधि के लिए करने के अलावा 90 मिलियन यूएस डॉलर के अतिरिक्त वित्त पोषण के प्रस्ताव की संस्तुति कर विश्व बैंक को प्रेषित किया जाए।

Uttarakhand Government

जलागम मंत्री सतपाल महाराज ने बताया कि जलागम प्रबंधन विभाग उत्तराखंड ने राज्य के उच्च दुर्गम पर्वतीय हिमालय क्षेत्रों में लगभग चार दशकों से विभिन्न बाह्य वित्त पोषित जलागम परियोजनाओं का क्रियान्वयन किया जाता रहा है। उन्होने कहा कि इन परियोजनाओं की इस हिमालय राज्य में जल और भू-संपदा के संरक्षण में अत्यंत महत्वपूर्ण भूमिका रही है। इसके साथ ही परियोजनाओं से प्रदेश में गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले सीमांत किसानों के लिए संचालित विभिन्न गतिविधियों में सहयोग से उनकी आजीविका का संवर्धन भी हुआ है।

2014 में शुरू हुई थी योजना

उत्तराखंड राज्य में विश्व बैंक पोषित परियोजना ग्राम्या-2 वर्ष 2014 में शुरू हुई थी, जो कि सितंबर 2021 में खत्म हो रही है। उससे आगे दो वर्ष 11 महीने के लिए (128 यूएस मिलियन डॉलर) यानि 1000 करोड़ रुपए के नए प्रोजेक्ट के प्रस्ताव पर सतपाल महाराज और अनुराग ठाकुर के बीच व्यापक चर्चा हुई। आपको बता दें कि पूरी परियोजना की धनराशि 1000 करोड़ में से 70 प्रतिशत 90 मिलियन यूएस डॉलर यानि 684 करोड़ रुपए विश्व बैंक देता है और 25 प्रतिशत राशि राज्य सरकार की होती है, जबकि पांच प्रतिशत राशि लाभार्थी शेयर के रूप में होती है।

केंद्रीय मंत्री से मुलाकात के दौरान उत्तराखंड के जलागम मंत्री महाराज ने उन्हें बताया कि प्रदेश के सूदूरवर्ती गांव जो वीरान हो गए थे, प्रवासियों के आने के बाद फिर से आबाद होने लगे हैं। इसलिए उनकी कोशिश है कि उत्तराखंड वापस लौटे प्रवासियों को जलागम परियोजनाओं के माध्यम से गांव में ही आजीविका के अवसर प्राप्त हों। अनुराग ठाकुर ने सतपाल महाराज को आश्वासन दिया कि इसके लिए वो गंभीरता से कोशिश करने के साथ-साथ परियोजना के विस्तार पर संस्तुति करते हुए जल्द ही विश्व बैंक को वित्त पोषण के लिए प्रेषित करेंगे।

यहाँ भी पढ़े

नैनीताल- हाईकोर्ट पहुंचे उधमसिंह नगर के पूर्व SSP, DGP और DG लॉ एंड ऑर्डर पर लगायें ये गंभीर आरोप

हरिद्वार- HRD मिनिस्टर निशंक के कैंप कार्यालय में चोरों की दस्तक, खराब मिले सीसीटीवी कैमरें

नई दिल्ली- नहीं रहे कद्दावर नेता अमर सिंह, इस अस्पताल में ली अंतिम सांसे

Uttarakhand Government

Related News

सिख समाज ने एसडीएम के माध्यम से राष्ट्रपति को भेजा ज्ञापन और साथ ही जताया रोष

संवाददाता- अनुराग शुक्ला सितारगंज में सिख समाज के लोगों ने जम्मू-कश्मीर का राजस्थान में पंजाबी मां बोली का तीसरे स्थान का दर्जा खत्म करने से...

11,000 हाईटेंशन लाइन की चपेट में आने से डिश केबल ऑपरेटर दर्दनाक मौत

संवाददाता -अनुराग शुक्ला सितारगंज नगर के केबल ऑपरेटर की हाईटेंशन लाइट की चपेट में आने से मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई घटना उस...

हल्द्वानी-आम्रपाली इंस्टिट्यूट का बड़ा प्लान, प्रवासियों को देंगे स्वरोजगार की फ्री ट्रेंनिंग, देखिये सरकार के साथ कैसे करना चाहते हैं कदमताल

हल्द्वानी । आम्रपाली ग्रुप आॅफ इंस्टीट्यूटस के सीईओ0 डा0 संजय ढींगरा ने बताया कि कोविड संकट और केन्द्र की नई शिक्षा नीति को देखते...

उत्तराखंड- अब इस मीटर के जरिये बिजली का बिल आयेगा बेहद कम, जानिये ऊर्जा निगम की ये योजना

ऊर्जा निगम ने एक नई योजना जारी की गई है, जो बिजली उपभोक्ताओं के लिये बेहद फायदेमंद है। अगर आप भी अनपे घर में...

हल्द्वानी- कोरोना को हराकर घर लौटी नेता प्रतिपक्ष, जनता के लिए दिया ये खास संदेश

उत्तराखंड की नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश की बीते दिनों कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। लगातार जन सेवा करते हुए वह कोरोना संक्रमित हो गईं...

हल्द्वानी- प्रीति ने शुरू किया इकोनॉमिक्स की ई-कोचिंग का अनोखा कांसेप्ट, कई राज्यों के छात्र ले रहे शिक्षा

कोरोना वायरस के चलते लगे लॉकडाउन के लंबे समय बाद अब अनलॉक में बाजार खुल जरूर रहे हैं। लेकिन डर का साया अभी भी...
Uttarakhand Government