हल्द्वानी - बनभूलपुरा में अवैध मदरसे, मस्जिद को तोड़ने पर बैकफुट में क्यों आया प्रशासन, बदल डाला अपना ट्रैक 

 | 

हल्द्वानी - बनभूलपुरा में मालिक के बगीचे में बने अवैध मदरसे एवं नमाज वाली जगह के आज होने वाली ध्वस्तीकरण की कार्यवाई पर फिलहाल रोक लगा दी गयी है। सिटी मजिस्ट्रेट ऋचा सिंह ने फिलहाल देर रात दोनों भवनों को सील कर दिया है, सिटी मजिस्ट्रेट ने प्रेस नोट जारी करते हुए बताया। सभी संबंधित को सूचित किया जाता है कि नगर निगम हल्द्वानी द्वारा दिनांक 04 फ़रवरी 2024 को बनभूलपुरा क्षेत्र में राजकीय भूमि पर निर्मित दो भवनों के ध्वस्तकरण की कार्रवाई प्रस्तावित है। 


आगे सिटी मजिस्ट्रेट ने बताया की माननीय उच्च न्यायालय, उत्तराखंड नैनीताल के आदेशों के क्रम में प्रत्यावेदन का निस्तारण किया जाना है. उक्त के. निस्तारण की कार्रवाई पूर्ण होने तक ध्वस्तीकरण की कार्रवाई रोकने के निर्देश नगर आयुक्त, नगर निगम हल्द्वानी को दिए गए हैं. फिलहाल ध्वस्तीकरण वाले दोनों भवन को प्रशासन ने सील कर दिया है। इस दौरान एसडीएम पारितोष वर्मा एवं सहायक नगर आयुक्त गणेश भट्ट समेत नगर निगम की टीम मौजूद थी। 


क्या सियासत ने एक्शन पर लगाए ब्रेक - 
शनिवार को पूरे दिन प्रशासनिक गहमा-गहमी के बीच रात करीब नौ बजे विधायक सुमित हृदयेश के नेतृत्व में स्थानीय लोग नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य के घर पहुंचे। वहां यशपाल आर्य को प्रशासन की ओर से की जाने वाली कार्रवाई से अवगत कराया। कहा जा रहा है इसके बाद यशपाल आर्य ने देहरादून किसी को फोन मिलाया जिसके बाद प्रशासनिक अमला ने ट्रैक बदल दिया। ध्वस्तीकरण के कयास के बीच आनन-फानन देर रात में ही सीलिंग की कार्रवाई कर दी गई। इससे जिले का पुलिस और प्रशासनिक अमला पूरी तरह बैकफुट पर आ गया।