हल्द्वानी - देवभूमि उत्तराखंड की बेटी मनीषा कांडपाल ने बजाया डंका, भारतीय सेना में बनीं लेफ्टिनेंट 
 

 | 

Uttarakhand Manisha Kandpal lieutenant - उत्तराखंड के होनहार युवाओं का भारतीय सेना में जाना बचपन से ही एक सपना रहता है। लेकिन अब बेटियां भी इसमें पीछे नहीं हैं, देवभूमि की बेटियां आज हर क्षेत्र में अपनी प्रतिभा का डंका बजा रही है। वह भी भारतीय सेना में जाकर बुलंदी का झंडा गाड़ रही हैं और देवभूमि उत्तराखण्ड का नाम रोशन कर रही है। आज हम बात कर रहे हैं उत्तराखंड के नैनीताल जिले के हल्द्वानी की रहने वाली बेटी मनीषा कांडपाल की, चार साल की कठिन मेहनत के बाद मनीषा कांडपाल (Manisha Kandpal lieutenant Haldwani Nainital) भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट बन गई हैं। मनीषा ने समूचे उत्तराखंड में हल्द्वानी का नाम रोशन किया है। 

 

(lieutenant Manisha Kandpal Haldwani)
मूल रूप से अल्मोड़ा के भनोली की रहने वाली मनीषा कांडपाल (Manisha Kandpal lieutenant Almora Uttarakhand) की हाईस्कूल और इंटर की पढ़ाई इंस्पिरेशन स्कूल हल्द्वानी से हुई है। 12वीं की परीक्षा पास करने के उपरान्त उन्होंने 2019 में मिलिट्री नर्सिंग सर्विस की परीक्षा उत्तीर्ण की थी, जिसके बाद मनीषा ने बीएससी नर्सिंग कमांड हॉस्पिटल लखनऊ में चार साल सफलतापूर्वक प्रशिक्षण लेने के बाद लेफ्टिनेंट रैंक के लिए कमीशन पद और शपथ ग्रहण की है। 

 

(lieutenant Manisha Kandpal Almora)
मनीषा के पिता तारा दत्त कांडपाल भी भारतीय सेना से रिटायर्ड हैं। वर्तमान में शिक्षा विभाग में प्राथमिक शिक्षक के पद पर सेवायें दे रहे हैं। उनकी माता कुशल ग्रहणी हैं। मनीषा ने इस सफलता के लिए अपने माता-पिता, दादा, नाना और अपने गुरुजनों को श्रेय दिया है, उन्होंने कहा इन सभी के सही दिशा निर्देशन में यह सफलता उनको हासिल हुई है। शपथ ग्रहण के दौरान उनके परिवार के लोग शामिल रहे। मनीषा की इस अभूतपूर्व उपलब्धि से उनके परिवार और मूल गांव अल्मोड़ा में भी हर्षोल्लास का माहौल है।