Loksabha Election 2024 - कभी बेची चाय, सब्जी, चूड़ी और बिंदी, जानिए अजय भट्ट पर हाई कमान दोबारा कैसे हुआ मेहरबान

 | 

Nainital Udham Singh Nagar| Loksabha Election 2024 | Ajay Bhatt MP Candidate|  नैनीताल-उधमसिंह नगर लोकसभा क्षेत्र उत्तराखंड के पांच लोकसभा (संसदीय ) निर्वाचन क्षेत्रों में से एक है। इसमें दो जिले शामिल हैं - नैनीताल और उधम सिंह नगर जिला, साल 2009 में यह लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र परिसीमन के बाद अस्तित्व में आया था. वर्तमान में इस सीट से सांसद अजय भट्ट प्रतिनिधित्व कर रहे हैं. लेकिन फिर एक बार बीजेपी हाई कमान और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने अजय भट्ट पर ही विश्वास जताया है.


आइये जानते हैं कौन हैं अजय भट्ट -Who is Ajay Bhatt, Minister of State for Defence of India - 

1 मई साल 1961 को अल्मोड़ा जिले के द्वाराहाट के ढंकाल गांव में जन्मे अजय भट्ट का बचपन बड़ी ही मुसलिफी में बीता था. भट्ट के ऊपर बचपन से ही परिवार को संभालने की जिम्मेदारियां आ गई थी, अजय भट्ट जब काफी युवा थे तभी उनके पिता कमलापति भट्ट का निधन हो गया था. कुछ समय बाद ही उनके दो और भाइयों का भी निधन हो गया था, किन्तु उन्होंने हार नहीं मानी अपने कंधो पर ज़िम्मेदारी लेते हुए अपने बड़े भाई के साथ परिवार को आगे बढ़ाया.


पिता के निधन के बाद चाय, सब्जी, चूड़ी और बिंदी बेचीं - 
पिता के निधन के बाद उनको काफी आर्थिक दिक्कतों का सामना करना पड़ा, जिसके चलते उन्होंने कम उम्र में ही काम करना शुरू कर दिया. भट्ट ने कॉलेज में मेस चलाकर अपनी पढ़ाई पूरी करी, इतना ही नहीं अजय भट्ट ने अपने जीवन के संघर्ष वाले दिनों में प्रसिद्द माँ दूनागिरी मंदिर एवं हैडाखान बाबा मंदिर में बिंदी एवं चूड़ियों को बेचने और इसके साथ-साथ उन्होंने सब्जियां बेचने का काम भी किया. आगे चलकर उन्होंने कई अन्य तरह की दुकानें खोली और अपने परिवार के भरण-पोषण और उसी समय साथ-साथ अपनी पढ़ाई भी जारी रखी. उनके एक बड़े भाई रिटायर्ड इंडियन रेवेन्यू अफसर हैं और वह पिथौरागढ़ में अपने परिवार के साथ रहते हैं.


अल्मोड़ा, पिथौरागढ़ से की पढ़ाई, कर चुके हैं वकालत - 
अजय भट्ट ने प्राइमरी पाठशाला आगर (द्वाराहाट), हाईस्कूल पिथौरागढ़ से, इंटरमीडिएट रानीखेत, स्नातक व विधि की शिक्षा अल्मोड़ा से हासिल की. अल्मोड़ा कॉलेज (उत्तराखंड रेजिडेंशियल यूनिवर्सिटी) से बी.ए एलएलबी का पाँच वर्षीय स्नातक कोर्स किया. जिसके बाद वर्ष 1986 में उन्होंने पुष्पा भट्ट से विवाह किया. अजय भट्ट और पुष्पा भट्ट की तीन बेटियां और एक बेटा है, आगे चलकर पुष्पा और अजय भट्ट ने मिलकर वकालत शुरू कर दी. पुष्पा भट्ट एक पूर्व जज है और वर्तमान में नैनीताल हाई कोर्ट में वकालत करती हैं. अजय भट्ट भी एक मशहूर और काबिल वकील के तौर पर अपने आप को सिद्ध कर चुके हैं, उन्होंने जनता के हित में कई जनहित याचिकाओं के ज़रिये न्याय की लड़ाईयां भी लड़ी हैं.


अजय भट्ट का राजनैतिक जीवन - Uttarakhand  Ajay Bhatt Political Careers
उत्तराखंड में भाजपा के कुनबे को मजबूत करने वाले अजय भट्ट का राजनीतिक करियर भी पहली बार हार और सियासी ड्रामे के साथ शुरू हुआ था. भाजपा के वरिष्ठ नेताओं में शुमार अजय भट्ट ने सबसे पहले साल 1989 में नगर पंचायत द्वाराहाट में पार्टी के ही वरिष्ठ नेता प्यारे लाल साह के खिलाफ अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ा था. दोनों को बराबर वोट मिले लेकिन लॉटरी में भट्ट को हार का सामना करना पड़ा. इसके बाद भट्ट मानसिक रूप से मजबूत हुए और राजनीति के पायदान पर चढ़ते गए, और रानीखेत को अपना सियासी गढ़ बना लिया.


साल 1885 में ज्वाइन की भाजपा - 
सन 1985 में अजय भट्ट ने भारतीय जनता पार्टी की युवा इकाई भारतीय जनता युवा मोर्चा में शामिल होकर राजनीति की शुरुआत की, अपने अथक संगठन परिश्रम के दम पर वह जल्द ही भारतीय जनता युवा मोर्चा उत्तर प्रदेश इकाई की वर्किंग कमेटी के सदस्य बन गए. आगे चलकर उन्होंने रानीखेत और भिक्यासैंण तहसील समन्वयक के तौर पर ज़िम्मेदारी संभाली, अल्मोड़ा ज़िले के संगठन मंत्री के तौर पर भी काम किया है. सन 1985 से ही उन्हें भाजपा राज्य कार्यकारणी की सदयस्ता प्राप्त हुई. उत्तरांचल राज्य निर्माण आंदोलन में अजय भट्ट की सक्रिय एवं अहम भूमिका देखने को मिली, इसी आंदोलन के तहत बानी उत्तरांचल संघर्ष समिति के वह अग्रणी सदस्य भी रहे. 


प्रदेश अध्यक्ष और नेता प्रतिपक्ष की जिम्मेदारी संभाली - 
वर्ष 1996 से 2007 तक वह रानीखेत विधानसभा क्षेत्र से विधायक भी रह चुके हैं। भट्ट उत्तराखंड सरकार में कई विभागों के मंत्री रह चुके हैं, साल 2012 तक 2017 तक वह उत्तराखंड विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष रहे, साल 2015 में उन्हें सर्वसम्मति से भाजपा का उत्तराखंड प्रदेश अध्यक्ष चुना गया. उन्होंने विधानसभा की पब्लिक एकाउंट्स कमेटी के चेयरमैन के तौर पर भी काम किया है. 


बीजेपी की प्रचंड लहर में भट्ट हार गए चुनाव - 
मुख्यमंत्री के दौड़ में शामिल अजय भट्ट साल 2017 में विधानसभा चुनाव में भाजपा की ऐतिहासिक जीत के बावजूद भी रानीखेत सीट नहीं बचा पाए तब वह कांग्रेस के वर्तमान प्रदेश अध्यक्ष करन माहरा से लगभग 4981 वोटों से अपना चुनाव हार गए, नतीजतन मुख्यमंत्री की दौड़ में चल रहे भट्ट को तब मायुस होना पड़ा था. विधानसभा चुनाव 2017 में भाजपा के खाते में 57 सीट आई थी और त्रिवेंद्र सिंह रावत मुख्यमंत्री बनाये गए, लेकिन आज भी पार्टी की साख बचाने का श्रेय अजय भट्ट को ही दिया जाता है, भले ही रानीखेत विधानसभा सीट से उन्हें हार का सामना करना पड़ा हो लेकिन भाजपा को जीत दिलाने में वो सफल हुए थे और पार्टी में उनका कद भी बढ़ा था.


2019 में की लोकसभा चुनाव में एंट्री - 
लेकिन कहते हैं पार्टी के साथ वफादारी का फल मीठा ही मिलता है, साल 2019 में भट्ट को नैनीताल- उधम नगर लोकसभा सीट से पहली बार लोकसभा का टिकट मिला और प्रचंड मोदी लहर में सांसद चुने गए. उन्होंने पूर्व सीएम और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता हरीश रावत को 3,39,096 वोटों के भारी अंतर से हराया था. 2019 में भट्ट लोकसभा चुनाव जीते हैं और मौजूदा वक्त में पर्यटन और रक्षा राज्यमंत्री की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं. अब एक बार फिर पार्टी हाई कमान ने अजय भट्ट पर दांव खेला है और फिर वह इस सीट को भाजपा की झोली में डाल पायेगें यह चुनाव परिणामों के बाद ही साफ़ होगा. सियासी जानकारों का मानना है की उन्हें इसलिए दोबारा टिकट दिया गया क्योंकि वो अजय भट्ट ही थे, जब देश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2014 के बाद भाजपा का विजय रथ चलाया था, उस रथ की 2017 में उत्तराखंड में कमान भट्ट ने ही थामी थी, जिसके बाद उन्होंने उत्तराखंड को भाजपा का गढ़ बना दिया था.


नैनीताल उधम सिंह नगर लोकसभा सीट का इतिहास - 
यह निर्वाचन क्षेत्र 2009 में लोकसभा निर्वाचन क्षेत्रों के परिसीमन के बाद अस्तित्व में आया. 14 विधानसभा क्षेत्रों वाली लालकुआं , भीमताल , नैनीताल , हलद्वानी , कालाढूंगी , जसपुर , काशीपुर , बाजपुर , गदरपुर , रुद्रपुर , किच्छा ,सितारगंज , नानकमत्ता और खटीमा की विधानसभा की सीटें आती हैं.  2009 में नैनीताल उधम सिंह नगर लोकसभा सीट पर भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के करण चंद सिंह बाबा ने इस सीट पर जीत दर्ज की थी, साल 2014 में भारतीय जनता पार्टी के भगत सिंह कोश्यारी जीते थे, 2019 में फिर भाजपा के अजय भट्ट ने जीत हासिल की थी. 

 

Tags - Ajay Bhatt Defence Minister, अजय भट्ट जीवन परिचय, अजय भट्ट कौन हैं?, अजय भट्ट सांसद, नैनीताल उधम सिंह नगर अजय भट्ट सांसद, Nainital MP  Ajay Bhatt Biography, Uttarakhand  Ajay Bhatt Political Careers, Ajay Bhatt Ranikhet MLA, रानीखेत पूर्व विधायक अजय भट्ट, Ajay Bhatt Education, MP  Ajay Bhatt News, Nainital Udham singh Nagar Politics News.