Haldwani Violence - सपा नेता मतीन ने अपने भाई को बताया बेक़सूर, कहा भाई का हत्यारा है अब्दुल मलिक, CBI जांच की करी मांग

 | 

Haldwani Violence - उत्तराखंड के हल्द्वानी में आठ फ़रवरी को हुई हिंसा और आगजनी के बाद समाजवादी पार्टी के नेता और उत्तराखण्ड प्रभारी हाजी अब्दुल मतीन सिद्दीक़ी (Sp Leader Abdul Mateen Siddiqui) का बड़ा बयान आया है। सिद्दीक़ी ने हल्द्वानी 8 फरवरी को कथित मलिक के बगीचे में हुई घटना की कड़े शब्दों में निंदा की है। मतीन ने कहा की हल्द्वानी वासियों के साथ-साथ हमारे लिये यह सबसे दुर्भाग्य पूर्ण घड़ी है, कि हमें हल्द्वानी में अपनी ज़िन्दगी में इस तरह की घटना देखनी पड़ी। उन्होंने कहा इस पूरे प्रकरण की सीबीआई या हाई कोर्ट के सीटिंग जज के द्वारा जांच होनी चाहिये। और जो भी दोषी हों उनके ख़िलाफ़ सख़्त से सख़्त कार्यवाही होनी चाहिये।


भाई जावेद की गिरफ़्तारी पर बोले मतीन सिद्दीकी - 
जावेद सिद्दीक़ी के इस प्रकरण में शामिल होने के प्रश्न पर उन्होंने कहा कि जावेद सिद्दीक़ी ने ऐसा कोई कार्य नहीं किया है। जिससे शहर का माहौल ख़राब हो। उसने बार-बार लोगों से शान्ति बनाने की अपील की लेकिन भीड़ इतनी उग्र हो चुकी थी कि वह किसी की बात सुनने को तैयार नहीं थी। वैसे भी अगले दिन रात को जब पुलिस जावेद की गिरफ़्तारी के लिए आई थी। तब भी उसने फ़ोन पर मुझसे रो-रो कर अपने बच्चों की और मेरी क़समें खा-खा कर यही कह रहा था। मैं तो लोगों को पत्थर बाज़ी व हुड़दंग से रोक रहा था। लेकिन फिर भी प्रशासन ने पता नहीं किन हालातों या किन फुटेजों के आधार पर उसकी गिरफ़्तारी की है।लेकिन मुझे इस बात का विश्वास है कि अगर उसने अपने बच्चों के साथ-साथ मेरी भी क़सम खाकर अगर वह ये बात कह रहा है। मतीन सिद्दीकी ने कहा मैंने अपने बहन भाईयों को अपनी संतान से भी बढ़कर पाला है। जब उनके पिता का इंतेक़ाल हुआ था। तब जावेद की उम्र महज ढाई साल थी। और सबसे बड़ी बात यह है। मेरे यहाँ शादी की तैयारियां चल रही थी। 15 फ़रवरी को उनके छोटे बेटे की शादी थी। और 17-फ़रवरी को हल्द्वानी विंटेज ग्रीन में रिसेप्शन था। जो इस घटना के चलते स्थगित करना पड़ा। 


बोले अब्दुल मलिक के हम नहीं हो सकते मददगार - 
मतीन बोले 8 फ़रवरी की घटना की हम लोगों ने कभी सपने में भी कल्पना नहीं की थी। उन्होंने कहा हम अब्दुल मलिक के मद्दगार तो कभी हो ही नहीं सकते।क्योंकि अब्दुल मलिक उसके भाई और भतीजे उनके छोटे भाई अब्दुल रऊफ़ सिद्दीक़ी के हत्यारे हैं। और उसका मुक़दमा अब भी इलाहाबाद हाई कोर्ट में चल रहा है। मतीन ने कहा की उनका कहना है एक बार इस घटना की बारीकी से निष्पक्ष जांच हो जाये जिससे किसी निर्दोष को सजा के साथ-साथ शर्मिंदगी ना उठानी पड़े। उसके बाद जो भी दोषी हों उनके खिलाफ कठोर से कठोर कार्यवाही होनी ही चाहिये।

उन्होंने कहा हम लोगों ने हमेशा हर जगह आपसी भाईचारा बढ़ाने और आपस में प्यार मोहब्बत से रहने का पैग़ाम ही दिया है। और प्रयास भी किया है हल्द्वानी में कई बार लोगों ने माहौल ख़राब करने की कोशिश की लेकिन यहां के व्यक्तियों व लोगों की दुआओं से हमेशा शांत कराने में सफल रहे हैं। उन्होंने कहा जिन लोगों ने इस घटना में अपने प्राण त्याग दिये हैं उनके परिवार को ऊपर वाला इस दुःख को सहन करने की शक्ति प्रदान करें। साथ ही जो भी पुलिस अधिकारी,कर्मचारी, निगम कर्मचारी और घायल हुए हैं। उनके शीघ्र स्वस्थ होने की वह प्रार्थना करते हैं। साथ ही उत्तराखण्ड सरकार से मृतक व घायलों को उचित मुआवज़ा देने की अपील करते हुए लोगों से भी आपसी भाईचारा बनाये रखने और अफवाहों से सावधान रहने की अपील की है।


Tags - समाजवादी पार्टी के नेता और उत्तराखण्ड प्रभारी हाजी अब्दुल मतीन सिद्दीक़ी, Sp Leader Haldwani Abdul Mateen Siddiqui Statement,  हल्द्वानी में हिंसा, Haldwani Riots, Haldwani Banbhulpura Babaal, अब्दुल मतीन सिद्दीक़ी ने अपने भाई जावेद सिद्दीक़ी को बताया बेकसूर, अब्दुल मतीन सिद्दीक़ी, जावेद सिद्दीक़ी, हल्द्वानी में आठ फ़रवरी को हुई हिंसा, Haldwani Violence update, Haldwani news, Haldwani Banbhulpura Riots,