Haldwani Violence - नैनीताल जेल में ऐसी जिंदगी जी रहा है अब्दुल मलिक, जेल में भी कर डाली यह डिमांड 

 | 

Haldwani Violence - हल्द्वानी हिंसा के मोस्ट वांटेड अब्दुल मलिक को उपद्रव के 81 आरोपियों से अलग रखा है। मलिक को शनिवार देर रात नैनीताल जेल में दाखिल किया गया। मलिक को छोड़कर उपद्रव के सभी आरोपियों को हल्द्वानी उप कारागार में रखा गया है। नैनीताल जेल के बैरक नंबर एक में अब्दुल मलिक पर सीसीटीवी से नजर रखी जा रही है। 16 दिन बाद अब्दुल मलिक को पुलिस ने गिरफ्तार किया और शनिवार की शाम को पुलिस ने कोर्ट से अब्दुल मलिक की कस्टडी मांगी। इसके बाद कोर्ट ने अब्दुल मलिक को 10 दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया। अब अब्दुल मलिक 6 मार्च तक पुलिस कस्टडी में रहेगा। 


चिकन बिरयानी का शौकीन है अब्दुल मलिक - 
कभी थ्री स्टार लग्जरी होटल और लाखों के सोफे में बैठकर खाना खाने वाला अब्दुल मलिक जेल में जमीन में बैठकर खाना खाने को मजबूर है। आज सोमवार को बनभूलपुरा कांड के मास्टरमाइंड अब्दुल मलिक का पुलिस कस्टडी में तीसरा दिन है। इसी बीच पुलिस सूत्रों से यह खबर भी सामने आई कि अब्दुल मलिक को जेल का खाना पसंद नहीं आ रहा है। मलिक को रविवार सुबह जब पुलिस कस्टडी में चाय दी गई तो मलिक का ने कहा कि मुझे शुगर फ्री चाय चाहिए क्योंकि मुझे शुगर है। फिर जब लंच का समय हुआ तो अब्दुल मलिक ने पुलिस के जवानों से डिमांड करी की उसे चिकन बिरयानी खानी है, लेकिन अब्दुल मलिक को जेल में चिकन बिरयानी खाने को नहीं मिल पाई, जेल शेड्यूल के हिसाब से ही मलिक को खाना परोसा गया। 10 दिन तक मास्टरमाइंड अब्दुल मलिक पुलिस कस्टडी में है और जेल का खाना अब्दुल मलिक को पसंद नहीं आ रहा है।


डॉक्टर को दिखाने की करी मांग - 
वह सुबह चाय के बदले शुगर फ्री चाय और दिन में जेल के शेड्यूल के हिसाब से खाना नहीं खाना चाहता है और जेल में भी मलिक को अपना मनपसंद खाना चाहिए। उसने जेल में पुलिसकर्मियों से स्पेशल चिकन बिरयानी की डिमांड की। हालांकि जेल अधिकारियों ने जेल शेड्यूल के हिसाब से अब्दुल मलिक को खाना परोसा। अब्दुल मलिक को नैनीताल जेल में रखा गया है और अब्दुल मलिक ने जेल में डॉक्टर को दिखाने की डिमांड भी की है, मलिक को कमर दर्द की शिकायत हो रही है।
जेल अधीक्षक नैनीताल संजीव ह्यांकी ने बताया की अब्दुल मलिक को सुरक्षित बैरक में रखा गया है। बैरक में लगे सीसीटीवी से भी लगातार निगरानी की जा रही है। जो भोजन अन्य बंदी व कैदियों को दिया जा रहा है, वही मलिक को भी दिया गया है।

अन्य अभियुक्तों से रखा गया है 40 किलोमीटर दूर - 
लाइन नंबर 8 बनभूलपुरा निवासी अब्दुल मलिक को पुलिस ने शनिवार को दिल्ली से गिरफ्तार किया था। मलिक आठ फरवरी को बनभूलपुरा में हुए उपद्रव के पहले से ही फरार चल रहा था। इसके बाद इस मामले के आरोपी 81 लोगों को गिरफ्तार किया गया और सभी को उप कारागार हल्द्वानी में रखा गया। उम्मीद जताई जा रही थी कि मलिक को भी हल्द्वानी में ही अन्य उपद्रवियों के साथ रखा जाएगा लेकिन ऐसा हुआ नहीं। मलिक को हल्द्वानी उपकारागार से 40 किलोमीटर दूर डिस्ट्रिक जेल नैनीताल में रखा गया है। कोर्ट में पेश करने के बाद अब्दुल मलिक को पुलिस ने शनिवार रात जिला जेल नैनीताल में दाखिल किया। मलिक को वहां बैरक नंबर एक में रखा गया है।