हल्द्वानी - हिमांशु पांडे बने भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट, पिछले साल CDS एग्जाम में किया था देशभर में टॉप, यहां मिली पोस्टिंग 

 | 

lieutenant Himanshu Pandey Haldwani - उत्तराखंड के युवा देश सेवा में सबसे आगे होते हैं, देहरादून के इंडियन मिलिट्री एकेडमी IMA में पासिंग आउट परेड के बाद देश-विदेश के के 343 युवा अफसर भारतीय सैन्य अकादमी (IMA) से देश सेवा से जुड़ गए हैं। 343 युवा कैडेट्स के साथ मित्र राष्ट्रों के 29 यानी देश-विदेश के 372 कैडेट्स अफसर बनकर अपनी सेनाओं से जुड़ेंगे। सीडीएस परीक्षा 2022 में टॉप (CDS Topper Himanshu Pandey) करने वाले हल्द्वानी के पूरनपुर कुमेटिया लामाचौड़ निवासी हिमांशु पांडे भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट (Indian Army lieutenant Himanshu Pandey) बन गए हैं। हिमांशु भारतीय सैन्य अकादमी देहरादून में एक वर्ष का प्रशिक्षण कर पासआउट हुए। अब जम्मू एवं कश्मीर में तैनाती मिली है। उन्हें गोरखा राइफल ग्वालियर यूनिट मिली है।  


मूल रूप से अल्मोड़ा जिले के सेराघाट निवासी हिमांशु पांडे (lieutenant Himanshu Pandey Almora) बचपन से मेधावी छात्र रहे थे। उन्होंने इंटर में 95 प्रतिशत अंक प्राप्त किए थे। इसके बाद उन्होंने बीटेक करने के लिए स्व. विपिन चंद्र त्रिपाठी इंजीनियरिंग कॉलेज द्वाराहाट अल्मोड़ा में दाखिला लिया, हालांकि सेना में जाने की तैयारी के साथ ही उन्होंने बीटेक की पढ़ाई भी जारी रखी थी। 


हिमांशु के पिता कमल पांडे प्राइवेट फर्म में काम करते हैं और मां दुर्गा देवी गृहणी हैं। हिमांशु की बहन भावना पांडे एसबीआई गुजरात में पीओ और छोटा भाई योगेश पांडे कुमाऊं विवि से एमबीए की पढ़ाई कर रहा है। हिमांशु बचपन से ही भारतीय सेना में शामिल होना चाहते थे। यही कारण रहा की अपने सपने को पूरा करने के लिए हिमांशु ने कड़ी मेहनत की और सीडीएस परीक्षा में टॉप किया। एनडीए में चयन नहीं हुआ तो उन्होंने सीडीएस के रास्ते एंट्री का प्लान किया और अब हिमांशु सफल हुए हैं। हिमांशु की इस उपलब्धि पर उनके परिवार और पैतृक गांव सहित पूरे हल्द्वानी शहर में खुशी है।