हल्द्वानी - फ्यूचर फोरम देगा 30 बच्चों को नीट-यूजी के लिए फ्री कोचिंग, आर्थिक रूप से कमजोर बच्चे भी बन सकेंगे डॉक्टर 

 | 

हल्द्वानी - नेल्सन मंडेला ने कहा था कि शिक्षा ही वह सबसे ताकतवर हथियार है जिसका उपयोग आज दुनिया को बदलने के लिए कर सकते हैं। क्वालिटी एजुकेशन ही वो तरीका है जिससे समाज के अंदर व्याप्त अन्तर को दूर किया जा सकता है। अगर आप डॉक्टर बनने का सपना देख रहे हैं तो आपको नीट यूजी जैसी राष्ट्रीय स्तर की परीक्षा से गुजरना होता है। इस परीक्षा के स्तर का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि बीस लाख से ज्यादा आवेदनों में लगभग 48000 विद्यार्थियों को ही सफलता मिल पाती है कहीं न कहीं इसी वजह से इस परीक्षा में सफल होने के लिए अच्छे मार्गदर्शन या कोचिंग की जरूरत होती है। लेकिन अगर आप आर्थिक स्थिति की वजह से महँगी कोचिंग का खर्च वहन नहीं कर सकते तो आपको निराश होने की जरूरत नहीं है।

 

इंजीनियरिंग और मेडिकल परीक्षाओं की तैयारी के लिए प्रतिष्ठित संस्थान फ्यूचर फोरम के द्वारा मेड कॉलर्स-30 प्रोग्राम के जरिए ऐसे 30 विद्यार्थियों को नीट यूजी के लिए फ्री ऑफलाइन कोचिंग दी जाएगी। जो परिवार आर्थिक रूप से कमजोर हैं। जिसमें कम आय वाले  मेड स्कॉलर्स 30 प्रोग्राम में फ्री कोचिंग लिए वह सारे विद्यार्थी रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं जो नीट यूजी परीक्षा देने के लिए पात्रता रखते हैं और इस वर्ष 2024 में बोर्ड की परीक्षा देंगें, या पिछले वर्ष 2023 में 12वीं की बोर्ड परीक्षा दे चुके हैं। विद्यार्थियों का चयन लिखित परीक्षा (वैकल्पिक) एवं साक्षात्कार के माध्यम से किया जायेगा। अगर आप भी इस सुनहरे मौके का फायदा उठाना चाहते हैं तो आप मेड स्कॉलर्स-30 की अंतिम तिथि 18 फरवरी 2024 से पहले दिए गए लिंक Link for Registration : https://forms.gle/EbCqByyPHKcx1BGr5 और मोबाइल नंबर 8755149125/7452874798 पर संपर्क कर सकते हैं 

Link Scan for Registration - 

 

फ्यूचर फोरम इंस्टिटयूट के निदेशक दिनेश यादव का कहना कभी कई टीचर्स ने आईआईटी की तैयारी के दौरान उनकी मदद की थी और उन्हें फ्री पढ़ाया था जिसकी वजह से वह आईआईटी में चयनित होकर आज यहाँ तक पहुंच सके। अब उस ऋण को चुकाने की बारी उनकी है कि वह लोगों को उनके सपने पूरे करने में मदद करें, उन्होंने कहा कि मेड स्कॉलर्स-30 प्रोग्राम के जरिए उन बच्चों को लाभान्वित करने की कोशिश की जा रही हैं जो संसाधनों के अभाव में या आर्थिक स्थिति के चलते नीट यूजी की तैयारी नहीं कर पाने की वजह पाने का सपना पूरा नहीं कर पाते हैं। से काबिल होने के बावजूद भी डॉक्टर बन पाने का सपना पूरा नहीं कर पाते हैं।