हल्द्वानी - चिल्ड्रन्स एकेडमी के वार्षिकोत्सव में धूम, बच्चों ने अद्भुत प्रतिभाओं का प्रदर्शन कर खूब लूटी वाह-वाही 
 

 | 

हल्द्वानी/हल्दूचौड़ - गोपीपुरम स्थित चिल्ड्रन्स एकेडमी सीनियर सेकेंडरी स्कूल (Children's Academy Senior Secondary School, Halduchaur) में 23 दिसंबर 2023, शनिवार को ‘अवलोकन इल्युमिनेटिंग  विस्टस‘ थीम के अंतर्गत  विद्यालय के चौथे वार्षिकोत्सव का भव्य आयोजन किया गया। कार्यक्रम में धर्म,संस्कृति ,कला, विज्ञान एवं विविध भाषाओं का हुआ संगम जिसमें कुमाऊँनी, हिंदी, संस्कृत, अंग्रेजी एवं फ्रेंच भाषा का सुंदर समावेश किया गया तथा न्यू एजुकेशन पॉलिसी के अंतर्गत शारीरिक, बौद्धिक, प्राणिक, मानसिक एवं चैत्सिक पाँच महत्वपूर्ण बिंदुओं का एक अद्भुत समागम रहा। 


कार्यक्रम में कक्षा एक से 12वीं तक के विद्यार्थियों ने अपनी कला, रंगमंच, नाटक, नृत्य एवं संगीत के माध्यम से दर्शकों के बीच अपनी अद्भुत प्रतिभाओं का प्रदर्शन कर खूब वाह-वाही लूटी। इस अवसर पर क्षेत्र के सम्मानित प्रतिनिधि गण एवं  अभिभावक उपस्थित रहे। कार्यक्रम का शुभारंभ  पारंपरिक तरीके से मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित डॉ0 मोहन सिंह बिष्ट विधायक लालकुआँ विशिष्ट अतिथि डी आर वर्मा कोतवाल ,लालकुआँ, विद्यालय के निदेशक श्रीष पाठक, ला इन्फैन्शिया की निदेशिका कविता पाठक, शैक्षणिक प्रशासिका रेनू मिश्रा एवं शिक्षाविद डा0 बी0 सिंह ने मां शारदा के समक्ष दीप प्रज्वलन के साथ किया। कार्यक्रम के उद्देश्य पर प्रकाश डालते हुए विद्यालय की एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर प्रियांशी पाठक ने बताया कि विद्यार्थियों को अपनी कला एवं संस्कृति से जोड़े रखना, अपनी जन्मभूमि एवं प्राचीन संस्कृति के प्रति गौरव की भावना का विकास  तथा अपने बीते हुए समय का अवलोकन कर भविष्य को सुदृढ़ बनाने व वैज्ञानिक उन्नति के साथ-साथ अपने पर्यावरण को भी संरक्षित एवं सुरक्षित करने का संदेश देना है। इस अवसर पर सर्वप्रथम विद्यार्थियों के द्वारा पृथ्वी वंदना की गई। 


कार्यक्रम में विद्यार्थियों के द्वारा जहाँ एक ओर हॉरर डांस प्रस्तुत किया तो वहीं दूसरी तरफ हनुमान चालीसा की प्रस्तुति से अपने भय पर विजय पाने का मार्ग प्रशस्त किया गया। मौके पर विद्यालय की शैक्षिक निदेशका महोदया सीमा मलिक द्वारा विद्यालय की वार्षिक प्रगति रिपोर्ट पढ़ी गई, जिसमें विद्यालय की  विगत वर्षों की उपलब्धियों एवं विद्यालय के द्वारा बच्चों के  सर्वांगीण विकास के लिए किए जा रहे अभिनव प्रयोगों का जिक्र हुआ। इस अवसर पर विद्यार्थियों ने एक ओर हमारी आधुनिक लोक संस्कृति को प्रस्तुत किया तो वहीं दूसरी तरफ हमारी प्राचीन वेद संस्कृति की भी दर्शकों के समक्ष सुन्दर प्रस्तुति दी, साथ ही देशभक्ति नृत्य की मनमोहन प्रस्तुति के साथ अपने देश एवं राष्ट्र के प्रति  कृतज्ञता प्रकट की। मौके पर विद्यार्थियों ने रोबोटिक नृत्य के द्वारा विज्ञान एवं तकनीकी की झलक प्रस्तुत कर सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया। मौके पर विद्यालय के निदेशक महोदय ने सभी अतिथियों, प्रतिनिधि गणों, अभिभावकों का कार्यक्रम में आने के लिए आभार व्यक्त किया । अपने उद्बोधन में उन्होंने कहा कि बच्चे हमारी धरोहर हैं इसीलिए ज्ञान के साथ-साथ बच्चों के व्यक्तित्व का विकास कर उन्हें एक अच्छा नागरिक बनाने का उत्तरदायित्व भी हमारा है, ताकि एक सुदृढ़ भारत के विकास में हम भी अपना यत्किंचित योगदान दे सकें।  कार्यक्रम का समापन राष्ट्रगान के साथ किया गया। इस दौरान विभिन्न विद्यालयों के निदेशक, प्रबन्धक, प्रधानाचार्य, अभिभावक एवं शिक्षकों समेत समस्त विद्यालय परिवार उपस्थित रहा।