हल्द्वानी - भुवन पनेरू को मिली हल्द्वानी वन प्रभाग के अध्यक्ष की कमान, अन्य पदों पर इन्हें मिली जिम्मेदारी 

 | 

हल्द्वानी - उत्तराखण्ड वन बीट अधिकारी/वन आरक्षी संघ, शाखा- हल्द्वानी वन प्रभाग, हल्द्वानी का द्विवार्षिक अधिवेशन/बैठक, दिनांक 27 दिसम्बर, 2023 को नंधौर वन विश्राम भवन में सफलता पूर्वक सम्पन्न हुई, जिसकी अध्यक्षता गोपाल दत्त पाण्डे, अध्यक्ष सहायक वन कर्मचारी संघ, शाखा- हल्द्वानी वन प्रभाग, हल्द्वानी की गई। जिसमें मुख्य अतिथि हर्षवर्धन गड़िया, प्रान्तीय अध्यक्ष वन बीट अधिकारी/वन आरक्षी संघ रहें। निर्वाचन मण्डल समिति में अतुल कुमार भगत, प्रान्तीय वरिष्ट संयुक्त मंत्री एवं नन्दा प्रसाद, अध्यक्ष नैनीताल वन प्रभाग एवं मोहन सिंह लखेड़ा, सदस्य सहा वन कर्मचारी संघ शाखा- हल्द्वानी वन प्रभाग भी रहे। 


कार्यकारिणी पदाधिकारियों का चयन प्रभागीय अध्यक्ष भुवन चन्द्र पनेरू, प्रभागीय उपाध्यक्ष मुकेश सिंह बिष्ट, प्रभागीय महामंत्री पुष्पेन्द्र, महिला उपाध्यक्ष ममता गोस्वामी, कोषाध्यक्ष बालम सिंह बोरा, रेंज प्रतिनिधि डाण्डा कमल सिंह, रेंज प्रतिनिधि जौलासाल सुमित चन्द्र खर्कवाल, रेंज प्रतिनिधि छकाता कु० कविता मिश्रा, रेंज प्रतिनिधि नन्धौर कु० ललिता आर्या, रेंज प्रतिनिधि शारदा रजनीश आर्य को सर्वसम्मति से नियुक्त किया गया। 
उत्तराखंड वन बीट अधिकारी/ वन आरक्षी संघ, शाखा हल्द्वानी वन प्रभाग के नवनियुक्त अध्यक्ष भुवन चंद्र पनेरु ने कहा की वह विश्वास दिलाते हैं की आप सभी सदस्यों की हर आवाज को उच्च स्तर तक पहुंचाने और उसको इंप्लीमेंट करने मै कार्यकारिणी कोई कसर नहीं छोड़ेगी। 


बैठक में कार्यकारिणी के पदाधिकारियों के अलावा आम सदस्यों के द्वारा उत्साह के साथ प्रतिभाग किया। बैठक का संचालन राजीव कुमार राठौर, उपाध्यक्ष पश्चिमी वृत्त द्वारा किया गया। नई कार्यकारिणी के गठन से पहले सुरेश सिंह मेहरा प्रभागीय अध्यक्ष व प्रभागीय महामंत्री भुवन चन्द्र पनेरू एवं राकेश शाह, प्रान्तीय वरिष्ठ उपाध्यक्ष द्वारा बैठक में प्रभागीय कार्यकारिणी द्वारा विभिन्न विषयों पर किये जा रहे प्रयासों पर विस्तार पूर्वक चर्चा की गयी। बैठक में सभी वक्ताओं द्वारा अपनी बात को रखा एवं प्रभागीय कार्यकारिणी एवं प्रान्तीय कार्यकारिणी से सवाल भी पूछे जिनका उत्तर प्रान्तीय पदाधिकारियों व प्रभागीय पदाधिकारियों द्वारा दिया गया। बैठक में हर्ष वर्धन गडिया, प्रांतीय अध्यक्ष, के द्वारा अवगत कराया गया की वर्तमान में वन दरोगा 316 पदों के डायरेक्ट भर्ती से संबंधित रिट हाईकोट में विचाराधीन है तथा मृतक आश्रित कोटे से डायरेक्ट वन दरोगा पद पर नियुक्त मिलने के संघ घोर विरोध में है।