drishti haldwani

उत्तराखंड मुख्यमंत्री आँचल अमृत योजना – 2019, अब को बच्चों को मिलेगा मुफ्त में दूूध

283

उत्तराखंड मुख्यमंत्री आँचल अमृत योजना –  उत्तराखंड मुख्यमंत्री आँचल अमृत योजना 2019 के तहत जल्द ही प्रदेश के 20 हजार आंगनबाड़ी केंद्रों के 2.5 लाख बच्चों को सप्ताह में दो दिन 100-100 एमएल दूध निशुल्क उपलब्ध करवाया जाएगा। राज्य में मौजूद बच्चों में से लगभग 18000 बच्चे अब भी कुपोषण का शिकार है। उत्तराखंड सरकार ने भी अपने राज्य में मौजूद इस समस्या को गंभीरता से लेते हुये अभी हाल ही में मुख्यमंत्री आंचल अमृत योजना का शुभारंभ किया है। इस योजना के तहत, उत्तराखंड सरकार आंगनवाड़ी केंद्रों में पढऩे वाले सभी बच्चों को सप्ताह में दो बार नि:शुल्क दूध (100 ml) प्रदान करेगी, ताकि उन्हे उचित पोषण मिले और वे स्वस्थ्य रह सकें।

iimt haldwani

cm5+6

मुख्यमंत्री आँचल अमृत योजना का उद्देश्य

“आंगनवाड़ी केंद्रों में लगभग 2.5 लाख छात्र पढ़ते हैं। चूंकि इनमें से अधिकांश बच्चे समाज के वंचित वर्गों से आते हैं और उनके पास पोषण की उचित व्यवस्था नहीं है, इसलिए सरकार अब उन्हें मुफ्त दूध उपलब्ध कराने का निर्णय लिया है । दूध एक उच्च गुणवत्ता का पोषण स्रोत है, इसलिए सरकार ने उन बच्चों को सप्ताह में दो बार 100 मिलीग्राम मुफ्त दूध प्रदान करने का निर्णय लिया है।” उत्तराखंड में लगभग 20,000 आंगनवाड़ी केंद्र हैं और इन केंद्रों पर बच्चों को सुगंधित, मीठा और skimmed milk powder दिया जाएगा। इस योजना को लागू करने का सरकार का मुख्य उद्देश्य राज्य से कुपोषण की समस्या को जड़ से खत्म करना है।

cm-0

उत्तराखंड मुख्यमंत्री आँचल अमृत योजना की मुख्य विशेषताएं

  • इस योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य मे मौजूद लगभग 20 हजार आंगनबाड़ी केंद्रो में पढ़ रहे 2 से 2.5 लाख बच्चों को मुफ्त दूध उपलब्ध कराकर उन्हे स्वस्थ बनाना है।
  • मुख्यमंत्री आंचल योजना के तहत आंगनबाड़ी में पढ़ रहे बच्चों को सप्ताह में दो बार दूध दिया जाएगा। इन बच्चों को हर बार 100 मिलीग्राम दूध दिया जाएगा, इस तरह से एक सप्ताह में एक बच्चे को 200 ग्राम दूध दिया जाएगा।
  • बच्चों को दूध उपलब्ध कराने के लिए सरकार की तरफ से आंगनबाड़ी केंद्रो में फ्लेवर्ड मिल्क पाउडर दिया जाएगा, जिससे की हर हफ्ते बिना किसी समस्या के बच्चों को दूध उपलब्ध हो सके।

Anchal-Amrit-Yojana

लाभार्थी और उनकी आवश्यक योग्यता –

  • उत्तराखंड राज्य में मौजूद हर आंगनबाड़ी में यह सुविधा उपलब्ध होगी. अगर आपके बच्चे का नाम आंगनबाड़ी केंद्र में रजिस्टर है तो उसे हर हफ्ते दो बार दूध स्वत: ही दिया जाएगा।
  • यह योजना राज्य सरकार द्वारा राज्य में मौजूद 3 से 6 वर्ष के बच्चों के लिए है, इसलिए आंगनबाड़ी में पढ़ रहे 3 से 6 वर्ष के बच्चे इस योजना का लाभ लेने के लिए पात्र होंगे।
  • इस योजना का प्राथमिक उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि राज्य में बच्चे स्वस्थ हों जो देश के भविष्य को स्वस्थ और सुरक्षित बनाने के लिए आवश्यक हैं।

कैसे मिलेगा मुख्यमंत्री आंचल अमृत योजना का लाभ

  • इस योजना का लाभ लेने के लिए आपको अपने बच्चों को आंगनबाड़ी में प्रवेश दिलवाना होगा. अगर आपका बच्चा रोज आंगनबाड़ी जाएगा, तो उसे निश्चित दिन स्वत: ही दूध दिया जाएगा, जिससे उसे आवश्यक पोषण मिलेगा।
  • सरकार का उद्देश्य प्रदेश से कुपोषण की समस्या को दूर करने का है, परंतु अकेले सरकार के चाहने से कुछ नहीं होगा। जब तक आप अपने बच्चों को आंगनबाड़ी में दाखिला नहीं दिलवाएंगे उन्हे रोजाना आंगनबाड़ी केंद्रो पर नहीं भेजेंगे उनके पोषण के साथ उनका विकास भी अधूरा रहेगा।