drishti haldwani

ये हैं दुनिया के सबसे छोटे देश, क्षेत्रफल इतना छोटा कि आप पैदल ही घूम सकते हैं पूरा देश…!

281

पूरी दुनिया घूमने का सपना तो ज्यादातर लोगों का होता है लेकिन पूरी दुनिया इतनी छोटी भी नहीं है कि महज कुछ दिनों में ही पूरा विश्व घूम लिया जाए, लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि दुनिया में ऐसे देशों की भी कमी नहीं है, जो दिल्ली से भी छोटे हैं। खास बात ये है कि इन देशों में घूमने के लिए आपको सिर्फ एक दिन ही लगेगा। इन देशों का क्षेत्रफल इतना कम है कि आप हैरान हुए बिना नहीं रह पाएंगे। इन देशों की आबादी और क्षेत्रफल बाकी देशों की तुलना में काफी कम है। दुनिया में तो कुछ इतने छोटे देश हैं कि घूमने के लिए ट्रेन, बस, कार या हवाई जहाज की जरूरत नहीं, बल्कि पैदल ही आप इन देशों में अच्छी तरह से घूम सकते हैं। तो आइए जानते हैं उन देशों के बारे में जो दुनिया के सबसे छोटे देश माने जाते है।

iimt haldwani

World tourist destination

वैटिकन सिटी

यूरोप महाद्वीप में स्थित यह देश दुनिया का सबसे छोटा देश माना जाता है. सिर्फ 44 हेक्टेयर के क्षेत्रफल में बसे इस देश की जनसंख्या मात्र 840 है। इसके बावजूद इस देश को अंतर्राष्ट्रीय मान्यता प्राप्त है। ईसाई समुदाय के प्रसिद्ध रोमन कैथोलिक चर्च होने और धर्म गुरु पोप की वजह से यह देश पूरी दुनिया में काफी प्रसिद्ध है। यहां के गिरजाघर, मकबरे, संग्रहालय इत्यादि आकर्षण का केंद्र हैं।

यह भी पढ़ें-प्रकृति की हर खूबसूरती को समेटे हुए है लेह-लद्दाख, सैलानियों की सबसे पसंदीदा जगह, जानिए क्या है यहां पर खास

यह भी पढ़ें-‘औली’- भारत का स्विट्रलैंड ! मन को सकून देता है यहां का वातावरण , बर्फबारी का आनंद लेना है तो चले आइए औली

 

monaco/ paryatan

मोनैको

वेटिकन सिटी के बाद मोनैको को दुनिया का दूसरा सबसे छोटा देश माना जाता है। यह देश फ्रांस और इटली के बीच समुद्र किनारे बसा हुआ है। 2.02 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्रफल में फैले इस देश की कुल आबादी लगभग 38,499 है।

sain marino/ paryatan

सैन मैरिनो

सैन मैरिनो यूरोप का सबसे पुराना देश माना जाता है। यह विश्व का पांचवा सबसे छोटा देश माना जाता है। इस देश की भाषा इटालियन है। 61 वर्ग किलोमीटर में फैले इस देश की जनसंख्या तकरीबन 33,203 है। इटली द्वारा पूरी तरह से घिरा हुआ, सैन मैरिनो सैन मैरिनो के सबसे शांत गणराज्य के रूप में भी जाना जाता है।

maldiv

मालदीव

इस देश की गिनती भले ही दुनिया के छोटे देशों में होती है, लेकिन यह देश टूरिज्म के लिहाज से दुनिया के प्रसिद्ध देशों में गिना जाता है। हिन्द महासागर में स्थित होने की वजह से इस देश को हिंद महासागर का मोती भी कहा जाता है। 298 वर्ग किलोमीटर में फैले इस देश की कुल आबादी 4 लाख 17 हजार है। खूबसूरत होने के साथ ही जनसंख्या के मामले में भी यह एशिया का सबसे छोटा देश है।

लिक्टनस्टीन

पश्चिमी यूरोप में स्थित यह देश दुनिया का 6वां सबसे छोटा देश माना जाता है, इस देश की सीमाएं स्विट्जरलैंड और ऑस्ट्रिया से मिलती हैं। 160 वर्ग किलोमीटर क्षेत्रफल में फैले इस देश की जनसंख्या 37,666 के आस पास है।

marshal

मार्शल आइलैंड

अटलांटिक महासागर में स्थित यह देश विश्व के सबसे छोटे देशों में सातवें नंबर पर आता है। इसका क्षेत्रफल 181 वर्ग किलोमीटर और जनसंख्या लगभग 53,066 है।

ग्रेनाडा

ग्रेनाडा कैरिबियाई सागर के दक्षिणी किनारे पर स्थित द्वीप देश है, जो अन्य छोटे 6 द्वीपों से मिलकर बना हुआ है। इसका क्षेत्रफल 348 वर्ग किलोमीटर है और मौजूदा समय में इस देश की जनसंख्या लगभग 1 लाख हजार है।

पलाऊ / turist

पलाऊ

यह देश आकार के विषय में संसार में दसवें नंबर पर आता है इस देश की जनसंख्या 21347 है और इसका क्षेत्रफल 459 स्क्वायर किलोमीटर है।

नियू

ये देश 261 स्क्वायर किलोमीटर में फैला हुआ है इस देश की जनसंख्या 1190 है।

sainkits

सेंट किट्स एंड नेविस

यह देश 260 स्क्वायर किलोमीटर में फैला हुआ है इस देश की जनसंख्या 52329 है। सेंट किट्स और नेविस को दुनिया का आठवां सबसे छोटा देश बनाता है। इसकी अर्थव्यवस्था पर्यटन, कृषि और छोटे विनिर्माण उद्योगों पर निर्भर है।

tuvalu/ paryatan

तुवालु

तुवालु की गिनती दुनिया के चौथे सबसे छोटे देश में होती है. यह भी नौरु की तरह प्रशांत महासागर में स्थित है। यह देश एलिस द्वीप समूह के रूप में जाना जाता है, तुवालु ऑस्ट्रेलिया के प्रशांत महासागर उत्तरपूर्व में स्थित है। यह देश पहले ब्रिटेन के अधीन था। इसका क्षेत्रफल 26 वर्ग किलोमीटर है।  8 किमी सड़कों के साथ,  इस देश की आबादी लगभग 11,097 है और मुख्य द्वीप पर केवल एक अस्पताल मौजूद है।

nauru/ paryatan

नौरु

नौरु प्रशांत महासागर में स्थित एक द्वीप देश है. इस देश का क्षेत्रफल 21.3 वर्ग किलोमीटर है। जनसंख्या गणना के अनुसार इस देश की कुल आबादी करीब13,049 है। ये देश इतना छोटा है कि गूगल मैप या गूगल अर्थ पर इस देश को देखनेवाले वाकई हैरत में पड़ जाते हैं।

molossia/ turist

मोलोसिया गणराज्य

यह देश 0.055 स्क्वायर किलोमीटर में फैला हुआ है इस देश की जनसंख्या 7 है। मोलोसिया संयुक्त राज्य अमेरिका को करों का भुगतान करता है, लेकिन आधिकारिक तौर पर इसे “विदेशी सहायता” के रूप में लेबल करता है। मोलोसिया में विभिन्न प्रकार की विचित्र चीजों पर प्रतिबंध लगाया जाता है

malta/ paryatan

माल्टा

दुनिया के सबसे छोटे देशों में शुमार माल्टा यूरोपीय महादीप का एक विकसित देश माना जाता है। जनसंख्या के लिहाज से देखें तो इस देश की आबादी 4 लाख 37 हजार हैं। जो अन्य छोटे देशों से ज्यादा है। इस देश का क्षेत्रफल 316 वर्ग किलोमीटर है। इस देश में रहने वाले लोगों की आबादी बहुत ज्यादा है।

sealand/ turist

सीलैंड की रियासत

ब्रिटेन के सुफोल्क तट से करीब 10 किमी दूर समुद्र में बसा है दुनिया का सबसे छोटा देश सीलैंड। दूर से देखने पर यह किसी ऑयल प्लेटफॉर्म की तरह लगता है लेकिन इस रियासत में 27 लोग रहते हैं। इस देश का क्षेत्रफल 0.004 स्क्वायर किलोमीटर है  यहां की अपनी मुद्रा “द सीलैंड डॉलर” है और इनकी एक फुटबॉल टीम “द सीलैंड ऑल स्टार्स” भी है। यहां का डाक टिकट भी है और राजा व रानी भी हैं। हालांकि, किसी देश ने सीलैंड को मान्यता नहीं दी है। यह देश समुद्र के बीच कांक्रीट के दो खंभो पर लोहे का एक प्लेटफार्म पर बसा हुआ है। इसका कुल क्षेत्रफल महज 5,290 वर्गफुट है। यहां के निवासी पीने योग्य पानी खुद बनाते हैं और मछली पकड़ते हैं। मगर अधिकांश भोजन और अन्य जरूरी चीजों को ब्रिटेन से आयात करते हैं।