[adinserter block="17"]
[adinserter block="17"]
[adinserter name="Block 1"]
Home उत्तराखंड नैनीताल घूमने आये चार दोस्त थे इस बात से अंजान, घर जाने...

नैनीताल घूमने आये चार दोस्त थे इस बात से अंजान, घर जाने को मांगी लिफ्ट तो रास्ते में हुआ ये अंजाम

अब नहीं बच सकेंगे साइबर अपराधी, प्रदेश में शुरू किए गए 16 नए साइबर थाने

कोरोना काल में साइबर अपराध (Cyber Crime) बढ़े हैं। अपराधी नए-नए तरीकों से इसको अंजाम दे रहे हैं। जिसको देखते हुए प्रदेश भर में...

कविता-न्योछावर मेरा तन-मन- धन

उत्तराखंड के लोकप्रिय वेब पोर्टल न्यूज टुडे नेटवर्क की ओर से स्वतंत्रता दिवस के उपलक्ष्य में आॅनलाइन कविता प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा...

कार्ड धारकों को सरकार ने दी राहत, अब इस तारीख तक दिया जाएगा राशन

राशन कार्ड धारकों (Ration Card Holder) को सरकार ने राहत दी है। जो कार्डधारक अभी तक राशन नहीं ले सके हैं। उन्हें 16 अगस्त...

कविता-तुझे जान से भी प्यारा मानते हैं हम

उत्तराखंड के लोकप्रिय वेब पोर्टल न्यूज टुडे नेटवर्क की ओर से स्वतंत्रता दिवस के उपलक्ष्य में आॅनलाइन कविता प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा...

कविता- वतन मेरा हिंदुस्तान

उत्तराखंड के लोकप्रिय वेब पोर्टल न्यूज टुडे नेटवर्क की ओर से स्वतंत्रता दिवस के उपलक्ष्य में आॅनलाइन कविता प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा...

Road Accident, वाहन की कमी के कारण नैनीताल घूमने आये चार पर्यटकों में से एक की मौत हो गई। जानकारी मुताबिक देर रात चारों नैनीताल से घूम कर वापस लौट रहे थे। कोई वाहन न मिलने के चलते चारों नैनीताल से हल्द्वानी की तरफ आ रहे एक ट्रैक्टर में सवार हो गये। ट्रैक्टर भुजियाघाट के समीप पहुंचा ही था कि उसके ब्रेक फेल हो गये। जब चालक से ट्रैक्टर काबू नहीं हुआ तो उसने चारों पर्यटकों को इस बात से अवगत कराया। इस बीच चारों पर्यटक अपनी जान बचाने के लिए ट्रैक्टर से कूद गये। जिससे वह बुरी तरह घायल हो गये। रात अधिक होने के कारण वह काफी देर तक सडक़ पर पड़े रहे। घंटों बाद नैनीताल से हल्द्वानी की तरफ आ रहे एक कार चालक ने उन्हें हल्द्वानी के निजी चिकित्सालय में भर्ती कराया जहां उपचार के दौरान शावेज की मौत हो गई जबकि तीन अन्य घायलों का चिकित्सक उपचार कर रहे हैं। मामले में पुलिस कार्यवाई जारी है।

यह भी पढ़े.. पहले कोल्ड ड्रिंक में मिलाई नशे की गोली, फिर युवती के संग ऐसे की घिनौनी हरकत और बना डाला अश्लील वीडियो

ट्रैक्टर चालक लापता

जानकारी के अनुसार एक मीनार की मस्जिद के पास लिसाड़ी गेट मेरठ में रहने वाला 21 वर्षीय शावेज अख्तर पुत्र वसीम अख्तर अपने दोस्त शुऐब, शावेज व शाहरूख के साथ सात जून को नैनीताल घूमने आया हुआ था। सभी कल घूमकर वापस अपने घर लौट रहे थे। लेकिन उनको नैनीताल से हल्द्वानी आने के लिए कोई वाहन नहीं मिला। काफी देर तक वाहन का इंतार करने के बाद चारों हल्द्वानी की ओर आ रहे एक ट्रैक्टर में लिफ्ट मांगकर सवार हो गए। जिसके भुजियाघाट के पास पहुंकर ब्रेक फेल हो गये। और चारों दुर्घटना के शिकार हो गए। हादसे में चारों दोस्तों में से शावेज की मौत हो गई। वही पुलिस से मिली सूचना के बाद सभी के परिजन यहां पहुंच गये है। उधर घटना के बाद से ट्रैक्टर चालक गायब बताया जा रहा है। इधर अस्पताल प्रशासन की सूचना पर पहुंची पुलिस ने मृतक के शव को कब्जे में लेकर पंचनामा भर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

Related News

देहरादून- कोरोना से लड़ाई में बाधा बन रही कांग्रेस, जाने क्यों विपक्ष पर बरसे भाजपा प्रदेश अध्यक्ष

उत्तराखंड में कांग्रेसी नेता भाजपा के खिलाफ लगातार धरना प्रदर्शन कर रहे है। इतना ही नहीं त्रिवेन्द्र सरकार की कमियों को जनता तक पहुंचाने...

हल्द्वानी- कोरोनाकाल में इन बिमारियों से जूंझ रहे मरीज रहे सावधान, एसटीएच में हुई इतनी मौतें

हल्द्वानी के सुशीला अस्पताल के चिकित्सकों ने एक खास रिपोर्ट जारी की है। रिपोर्ट में कोरोना के दौरान हुई मौतों में मरीज के शरीर...

देहरादून- इन युवाओं के Lockdown Plan की पूरे उत्तराखंड में है चर्चा, ऐसे दिया ये अनोखा संदेश

देहरादून के दो युवा इन दिनों लॉकडाउन के दौरान अपने कारनामे को लेकर खूब चर्चाओं में है। और हो भी क्यों न सुविधाओं से...

नैनीताल- अधिक नशा बना जान को खतरा, पढ़े पालिका कर्मचारी की ये करतूत

नैनीताल में मंगलवार सुबह उस वक्त अफरा-तफरी मच गई जब शराब के नशे में धुत्त नगर पालिका का एक कर्मचारी नैनीझील में कूद गया।...

देहरादून- घर पर होम आइसोलेट मरीज की कैसे करें देखभाल, पढ़े होम- आइसोलेशन की शर्तें

उत्तराखंड में कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए होम- आइसोलेशन की सुविधा सरकार ने शुरू कर दी है। इसके लिए किसी भी संक्रमित मरीज की...

देहरादून- भारतीय सेना के इस खास काम को देवभूमि में दिया जाएगा अंजाम, रक्षा मंत्री ने किया शुभारंभ

सेना के लिए जिस टी-90 व टी-72 टैंक के फायरिंग कंट्रोल सिस्टम के निर्माण के लिए हमारा देश रूस व फ्रांस पर निर्भर था,...