नई दिल्ली- कोरोना के दौरान मंडरा रहा नौकरी का खतरा, तो घबराएं नहीं इन सेक्टरों में जल्द होगी बंपर भर्तियां!

Slider

देश में कोरोना वायरस महामारी और लॉकडाउन के चलते कई लोगों पर रोजगार और नौकरी छिन जाने का खतरा मंडरा रहा है। हर कोई आर्थिक संकट और वैश्विक मंदी की बातें कर रहा हैं। कैरियर एक्सपर्ट्स की माने तो लॉकडाउन खत्म होने के बाद कई सेक्टरों में उछाल आने की उम्मीद है। कई प्रोफेशनल्स के लिए पहले से अधिक आकर्षक अवसर निकलकर सामने आ सकते हैं।

carrier and job news during lockdown

Slider

ऐसे में जरुरी यह है कि आप इस समय का उपयोग करके अपने लिए कमाई के नये तरीकों पर विचार है, लॉकडाउन के समय का सदउपयोग न करते हुए अपने भविष्य के लिए नई कार्य योजनाओं पर होम वर्क करें। अपनी खबर के जरिए हम आपको बताएंगे कि लॉकडाउन के बाद किन सेक्टर में सबसे ज्यादा उछाल और नौकरियां आने की संभावना है। इतना ही नहीं कोरोना संकट के बाद आने वाली नई नौकरियों के लिए युवा किस तरह तैयारी कर सकते।

इन सेक्टरों में बंपर नौकरी

ऐक्सपर्ट्स की माने तो लॉकडाउन के बाद उभरने वाली नई अर्थव्यवस्था में इन सेक्टर को हम आवश्यक सेक्टर कह सकते हैं। इन सेक्टरों में हेल्थ केयर, हेल्थ टेक, फार्मा, हाइटेक, मैन्युफैक्चरिंग, एग्री टेक, नियो-बैंकिंग और फिनटेक शामिल है। यानी लॉकडाउन के बाद इन सेक्टरों में युवाओं के लिए रोजगार के नये रास्ते खुलेंगे। आइयें इन सेक्टरों के बारें में विस्तार से जानते है, और जानेंगे कि क्यों इन सेक्टरों में आएंगी नौकरियां।

new jobs after lockdown

सपोर्ट सर्विस (सहायक सेवा)- देश में लॉकडाउन लगे होने के कारण अधिक्तर कंपिनों में अपने कर्माचारियों को वर्क फ्रॉम होम की सुविधा में रखा है। इन हालातों में जब ज्यादा से ज्यादा कंपनियां वर्क फ्रॉम होम को तरजीह देंगी, तो सपोर्ट सर्विस जैसे लॉजिस्टिक, रसद, सुविधा प्रबंधन जैसे सेक्टर में काफी ग्रोथ होगी और देश में नई नौकरियां आएंगी।

तकनीकी विकास- अब जब वर्क फ्रॉम होम बढ़ रहा है, तो संचार बेहतर करने के लिए इस सेक्टर के निवेश में इजाफा होगा। एचआर टेक जैसे जीरो टच पैरोल और जियो फेंसिंग का इस्तेमाल बढ़ेगा। इससे तकनीकी सेक्टर में नौकरियां आएंगी।

स्वदेशी पर जोर- मेड इन इंडिया और मेक इन इंडिया कार्यक्रम रफ्तार पकड़ेंगे। खासकर मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर पर काफी जोर होगा। इन सेक्टर्स में ढेरों भारतीयों के लिए नौकरियां आ सकती हैं।

कृषि तकनीक- देश में कृषि संबंधी तकनीक पर काफी ध्यान दिए जाने की संभावना है और इससे काफी नौकरियां आएंगी। कोरोना संकट ने हमारा ध्यान कृषि क्षेत्र की ओर खींचा है। मजबूत कृषि देश की इकोनॉमी की रीढ़ बन सकती है। वहीं, यह श्रमिकों के माइग्रेंट होने की समस्या से निपटने में भी मदद करेगी। संभावना है कि राज्य सरकारें खासकर कृषि तकनीक में ज्यादा निवेश करेंगी, जिससे स्थानीय रोजगार उत्पन्न होंगे।

एजुकेशन तकनीक- एजुकेशन तकनीक के साथ बेहतर लर्निंग मैनेजमेंट के लिए निवेश आएगा। इस सेक्टर में भी आने वाले दिनों में नौकरी आएगी।

नई जॉब ढूंढ रहे हैं तो इन बातों का रखें ध्यान

अंतराष्ट्रीय ग्लोबल एजेंसी जीक्यूआर की प्रमुख एमिली स्लोकम की मानें तो नई नौकरियां आएंगी। विशेषज्ञों के मुताबिक, एयरलाइंस कंपनियों में मार्केट एसोसिएट की नौकरियां भले कम होंगी, लेकिन फार्मा कंपनियों में ऐसी नौकरियां बढ़ेंगी, ऐसे में आप उन उद्योगों पर ध्यान दें जो ज्यादा नौकरियां दे रहे हैं। ग्राहक सेवा, वेयरहाउस वर्कर, अकाउंटेंट्स, स्वास्थ्यकर्मियों की मांग बढ़ेगी। सरकारें भी महामारी से लड़ने के लिए नई नौकरियां लाएगी। आप ये देखें कि आप किस सेक्टर में काम कर सकते हैं।

Searching new job tips

उसके लिए खुद को तैयार करें। नौकरी तालशने वाले युवा छोटी-छोटी बारिकियों से अपनी प्रोफाइल को और आकर्षित बना सकते है। रिक्रूटमेंट एजेंसी एरोटेक के मुताबिक, अपनी सीवी और लिंक्डइन प्रोफाइल हमेशा अपडेट रखें। वहीं, अपने सोशल मीडिया अकाउंट को भी हमेशा साफ-सुथरा, ऐसा करने से किसी भी कंपनी में यदि आपसे संबंधित छान-बीन हो, तो आप हर चुनौतियों पर खरें उतरे। कोरोना के चलते सोशल डिस्टेंसिंग का नियम पूरे देश में लागू है ऐसे में खुद को वीडियो इंटरव्यू के लिए तैयार करें।

यहाँ भी पढ़े

हल्द्वानी-लोकगायक बीके सामन्त ने लिखा सीएम त्रिवेंद्र को ऐसा पत्र, पूरे देश में फंसे पहाड़ी युवाओं ने किया समर्थन

हल्द्वानी- पाठकों के ईजा-बौज्यू के लिए डीएम का फरमान, जनिये क्यों करना होगा इनको क्वारंटीन

उत्तराखंड की बड़ी खबरें