नई दिल्ली-आईपीएल में छाये बागेश्वर के मनीष पाण्डेय , अंतिम गेंद पर अटका दी मुंबई की सांसें

8

नई दिल्ली-न्यूज टुडे नेटवर्क-आईपीएल में उत्तराखंड की तीन खिलाड़ी खेल रहे है। जिसमें बागेश्वर के मनीष पाण्डेय, पिथौरागढ़ ऋषभ पंत और रानीखेत के पवन नेगी शामिल है। गुरुवार रात एक रोमांचक मैच देखने को मिला, जहां सुपर ओवर में मुंबई ने हैदराबाद को मात दे दी। इस मैच के सुपर ओवर में हैदराबाद की ओर से खेल रहे उत्तराखंड के मनीष पांडे ने अपनी टीम को अंतिम ओवर में हार से बचाते हुए टीम को सुपर ओवर में पहुंचाने का काम कर दिया। पांडे ने मैच की आखिरी गेंद पर शानदार छक्का लगा कर मैच टाई करा दिया। जिसके बाद रोमांच से पूरा स्टेडियम गूंज उठा। हैदराबाद को दो गेंदों में जीत के लिए 9 रन चाहिए थे। मनीष पांडे ने ओवर की पांचवी गेंद पर दो रन ले लिए। अब आखिरी गेंद पर जीत के लिए 7 रन की जरूरत थी लेकिन एक छक्का लगाकर मनीष मैच को सुपर ओवर में पहुंचा सकते थे। हार्दिक ने आखिरी गेंद फुल लेंथ डाल दी। इस पर मनीष ने मिड विकेट बाउंड्री पर छक्का लगा डाला और स्कोर 162 रन कर सुपर ओवर की नौबत ला दी।

यह भी पढ़ें- हल्द्वानी-उपभोक्ताओं के करोड़ों रूपये लेकर चिटफंड कंपनी अनंत निधि फरार, लखनऊ ऑफिस तक पहुंचे एजेंट

यह भी पढ़ें- नई दिल्‍ली-प्रतापगढ़ में बोले मोदी मेरी 50 साल की तपस्‍या को धूल में नहीं मिला सकते, ऐसे घेरा कांग्रेस को

मनीष पांण्डे ने आखिरी बाल में जड़ा छक्का

इससे पहले मुंबई के कप्तान रोहित शर्मा ने टॉस जीत कर पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में 5 विकेट खोकर 162 रन बनाये। हैदराबाद के गेंदबाजों ने मुंबई के बल्लेबाजों की एक न चलने दी और उन्हें खुल कर बड़े शॉट्स नहीं लगाने दिए। मुंबई की ओर से क्विंटन डि कॉक ने बैट कैरी किया लेकिन वे 58 गेंदों में केवल 69 रन ही बना सके। हैदराबाद के लिए 163 का लक्ष्य आसान नहीं था। 19वें ओवर तक हैदराबाद की टीम पांच विकेट खोकर 146 रन बना पाई थी। अब आखिरी ओवर में टीम को जीत के लिए 17 रन चाहिए थे। लेकिन हैदराबाद के लिए अच्छी बात यह थी कि मनीष पांडे 44 गेंदों पर 62 रन बनाकर क्रीज पर मौजूद थे। आखिरी ओवर फेंक रहे हार्दिक पांड्या की पहली दो गेंदों पर मोहम्मद नबी और मनीष पांडे एक एक रन ही ले सके। तीसरी गेंद पर मोहम्मद नबी ने छक्का लगाकर हैदराबाद को मैच में वापस ला दिया, लेकिन अगली गेंद पर हार्दिक ने नबी को वाइड लॉन्ग ऑफ पर सूर्यकुमार यादव के हाथों कैच कराकर मुंबई की वापसी करा दी।