drishti haldwani

नंदा गौरा देवी कन्या धन योजना, जन्म से लेकर ब्याह तक बेटी को मिलेगा ये विशेष लाभ

408

उत्तराखंड में बेटियों का भविष्य सवारने के लिए उत्तराखंड सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। राज्य सरकार ने प्रदेश की लड़कियों के लिए एक विशेष योजना लांच की है। इस योजना में गरीब परिवार की लडक़ी को आर्थिक सहायता दी जाएगी। प्रदेश सरकार अब इस नई योजना के द्वारा लडक़ी के जन्म से लेकर उसकी शादी तक के लिए पैसे देगी, जिससे वे अच्छी से अच्छी शिक्षा प्राप्त हो सके और अपने पैरों में खड़ी हो सके। इस योजना की शुरुआत प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने जनवरी 2018 में की है। बताते चले कि एक जुलाई 2017 से पहले नंदा देवी कन्या धन योजना और गौरा देवी कन्या योजना नाम से दो अलग योजनाएं थीं। इसे अब नंदा गौरा कन्या जन धन योजना कर दिया गया है। तो चलिए हम आपको बताते हैं कि उत्तराखंड सरकार की इस योजना में क्या है और आप इससे किस तरह फायदा हासिल कर सकते हैं।

iimt haldwani

uk

यह भी पढ़ें- जानिए क्या है उत्तराखंड सरकार की वैष्णवी सुरक्षा योजना, कैसे मिलेगा इस योजना का लाभ

इस योजना का उद्देश्य

  • इस योजना का मुख्य उद्देश्य लिंब अनुपात को ठीक करना है। अभी भी देश-प्रदेश में लडक़ों की अपेक्षा लड़कियों की संख्या कम होती है।
  • लड़कियों के शोषण को कम करना भी इस योजना का उद्देश्य है। देश में बहुत कुप्रथा चलती है, जिसके चलते लड़कियों को कम उम्र में शादी कर देते, उन्हें पढऩे नहीं दिया जाता है। ये सब परिवार की आर्थिक तंगी के कारण भी होता है। इस योजना के चलते लडक़ी के परिवार को आर्थिक सहायता दी जाएगी। जिससे वे लडक़ी उनके लिए बोझ नहीं रहेगी।

लाभ : इस योजना के अंतर्गत लडक़ी के परिवार को आर्थिक सहायता के रूप में 51000 रुपए दिए जाएंगे, जो 7 किश्तों में जन्म से लेकर शादी होने तक दिए जाएंगे।

  • uk2जन्म के समय – 5000

  • जन्म के एक साल बाद – 5000
  • 8वीं पास करने के बाद – 5000
  • 10वीं पास करने के बाद – 5000
  • 12वीं पास करने के बाद – 5000
  • स्नातक डिप्लोमा के बाद – 10000
  • शादी के पहले               – 16000

यह भी पढ़ें- वृद्धावस्था पेंशन योजना : उत्तराखंड के बुजुर्ग जी सकेंगे बेहतर जिंदगी, अब इतने रुपए मिलेगी हर महीने पेंशन

क्या है पात्रता

मूल निवासी– इस योजना के लिए वही पात्र होगा जिसके पास उत्तराखंड के मूल निवास पत्र होगा। दूसरे प्रदेश के लोग इस येाजना के लिए पात्र नहीं होंगे।

आय- लाभार्थी के परिवार की वार्षिक आय, अगर वह शहरी है तो 42000 रुपए से ज्यादा नहीं होनी चाहिए, एवं अगर वो ग्रामीण इलाके में आते हैं तो 36000रुपए से ज्यादा नहीं होनी चाहिए।

uk5

  • बच्चे का जन्म या तो किसी सरकारी अस्पताल में या एएनएम सेंटर्स या चाइल्ड केयर सेंटर्स में ही हुआ हो। अगर बच्ची का जन्म इसके अलावा कहीं और होता है तो वो इस योजना के लिए पात्र नहीं है।
  • बच्चे को जन्म देने से पहले गर्भवती महिला को अपना आंगनवाड़ी में दर्ज करवाना अनिवार्य है।
  • कन्या के जन्म के बाद एक साल तक इस योजना के लिए आवेदन किया जा सकता है। यानी अगर किसी की बेटी हुई है तो वह एक साल के अंदर के समय तक इस योजना के लिए आवेदन कर सकता है।

योजना के लिए दस्तावेज

  • योजना मेें आवेदन के लिए कुछ दस्तावेज की भी आवश्यकता होगी। आवेदक को अपना आधार कार्ड, बीपीएल कार्ड, आय प्रमाण पत्र, मूल निवास प्रमाण पत्र एवं मैट्रिक परीक्षा की मार्कशीट साथ रखनी होगी। ये सभी दस्तावेज आवेदक को फॉर्म के साथ संलग्र करने होंगे।
  • बैंक विवरण भी देना होगा। 18 साल पूरे होने पर बालिका का खाता बैंक में खुलवाना होगा। पैसे सीधे बैंक में ही ट्रांसफर किए जाएंगे।

girl-child_

  • नंदा गौरा योजना के अंतर्गत लाभार्थी को आवेदन करने के लिए इसकी ऑफिसियल साइट में जाना होगा। नंदा गौरा देवी कन्या धन योजना. यहां योजना का आवेदन फॉर्म में अपनी सारी जानकारी सही से भरें।
  • इस योजना से प्रदेश में लिंग अनुपात सही होगा, साथ ही भू्रण हत्या जैसी घटनाएं भी कम होगी। अगर किसी परिवार में दो लडक़ी है तो वो दोनों लड़कियों को इस योजना के अंतर्गत लाभ प्राप्त होगा।

योजना का मकसद : उत्तराखंड सरकार की ओर से शुरू की गई नंदा देवी कन्या योजना का मकसद बालिकाओं को आर्थिक सपोर्ट प्रदान करना है। इस योजना के तहत अभिभावकों का भी ख्याल रखा जा रहा है। गौरतलब है कि कन्या के जन्म पर पांच हजार रुपये की राशि चेक के माध्यम से सीधे अभिभावकों को प्रदान की जाएगी। इसका मकसद उनके खर्च को कम करना है। डिलेवरी के वक्त अस्पतालों में काफी पैसे खर्च हो जाते हैं। इसको ध्यान में रखकर ही अभिभावकों को पांच हजार रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी। इसके बाद जो रकम बचेगी, वह ब्याज सहित बालिका के बैंक खाते में उस वक्त ट्रांसफर की जाएगी, जब वह अपनी जिंदगी के 18 साल पूरे कर चुकी होगी। ऐसा इसलिए ताकि बालिका इस पैसे का इस्तेमाल अपनी पढ़ाई सहित दूसरी तमाम जरूरी चीजों के लिए कर सके।

Nashe Se Chutkara Kaise Paye