iimt haldwani

हल्द्वानी-आदि योग फांउडेशन का योग शिविर कल, इंडियन मेडिकल एसोसिएशन और मेडिकल स्टूडेंट्स करेंगे प्रतिभाग

206

हल्द्वानी-न्यूज टुडे नेटवर्क-आदि योग फांउडेशन के तहत रविवार को मेडिकल कॉलेज में योग शिविर लगाया जा रहा है। इस शिविर का शुभारम्भ उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय के योग विभाग के विभागाध्यक्ष भानू प्रकाश जोशी, आईएमए के अध्यक्ष डा. डीसी पंत, मंहामंत्री डा. प्रदीप पाण्डेय, और मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य सीपी भैसोड़ा द्वारा किया जायेगा। यह जानकारी देते हुए आदि योग की अध्यक्ष मानसी जोशी ने दी। उन्होंने बताया कि । वह केवल शरीर की बॉडी हिलाना नहीं बल्कि मानसिक तनाव को दूर करने वाला होना चाहिए। आसन सिर्फ हाथ-पैर हिलाना नहीं है बल्कि आसन के समय और एक ऑडर में लाने की आवश्यकता है। उन्होंने बताया कि योगासन करने से कई सारी बीमारियां ठीक हो सकती है। अगर आप घर पर ही योगासन करने की सोच रहे है तो इसके बारे में सही जानकारी ले कर ही करें। क्यूंकि योगासन अगर सही तरीके से नहीं किया गया तो यह नुकसान भी कर सकता है। इसलिए परम्परागत योग करना आवश्यक हैं।

amarpali haldwani

Dr. Pradeep Pandey (IMA Sectory)

ये भी पढ़े-

हल्द्वानी-पारपंरिक योग से जोडऩे की ऐसी ट्रिक है मानसी जोशी के पास, ऐसे कर रही लोगों को प्रेरित

बीमारियों से बचाता है योग- डा. पाण्डेय

आईएमए के महामंत्री डा. प्रदीप पाण्डेय ने बताया कि योग से मनुष्य स्वस्थ्य रहता है। हमें बीमार पडऩे से पहले योगा के द्वारा खुद को बचाने का प्रयास किया जाना चाहिए। यह तभी संभव है जब हम नियमित योग करें। उन्होंने बताया किया आज लोग कई तरह के बीमारियों का शिकार हो रहे है। भागदौड़ भरी जिंदगी में लोग अपने लिए समय नहीं निकला पा रहे है ऐसे इन सबसे मुक्ति पाने का योग सबसे बेहतर विकल्प है। अपने शरीर को स्वस्थ्य रखने के लिए अपने खान-पान और दिनचर्या पर विशेष ध्यान देना चाहिए। योग से हमें मानसिक मजबूती मिलती है। मनुष्य मानसिक रूप से मजबूत हो तो उसे कोई बीमारी छूं नहीं सकती है। उन्होंने आईएमए से जुड़े सभी चिकित्सकों से योग शिविर में भाग लेने की अपील की है। इस शिविर में डिजिटल मीडिया न्यूज टुडे नेटवर्क है जबकि सोशल मीडिया टीम हल्द्वानी ऑनलाइन 2011 है। इसके अलावा जेएसएच क्रेसन्स, वुडपीकर फूड प्लाजा, जूस वैली, फ्यूचर साउंड ऑफ उत्तराखंड, मनमोहन जोशी क्लासेज, एफटीएन वल्र्ड, आदित्य मेडिकल एंड सर्जीकल हिमालयन सर्जीकेयर और फ्यूचर फर्म ने अपना विशेष योगदान दिया है। शिविर सुबह 6 बजे से शुरू होकर 8 बजे तक चलेगा।