हल्द्वानी- कहीं आपके परिवार में तो नहीं हुआ किसी को कोरोना फोबिया, तो अपनायें डॉ. नेहा के ये टिप्स

Slider

घरों में कैद लोग कहीं कोरोना फोबिया का तो नहीं हो रहे शिकार? हल्द्वानी की मनोचिकित्सक डा. नेहा शर्मा की माने   तो कोरोना के खौफ के कारण घरों में कैद हो चुके भारतीयों को कोरोना से मृत्यु का भय होने लगा है। जिसके कारण “कोरोना फोबिया” उनमें बढ़ता जा रहा है। उनकी माने तो उनके पास रोज ऐसे 3 से 4 केस आ रहे जिनमें कि कोरोना फोबिया एन्जाइटी पैनिक के संकेत आ रहे है। डॉ. नेहा कहती है कि जो लोग किसी भी बिमारी वहम या फोबिया से ग्रसित होते है, इन लोगों में कोरोना के चलते कोरोना फोबिया और पैनीक अटैक की संभावना बड़ रही है।

हर लक्ष्ण कोरोना नहीं है- डॉ. नेहा

डॉ. नेहा का कहना है कि इस समय कोरोना के अलावा वायरल, सर्दी, जुखाम, खांसी व मौसम में बदलाव से एलर्जी के कारण शरीर में इस तरह के लक्ष्ण देखने को मिलते है। ऐसे में आपको खबराने की जरुरत नहीं है। उनकी माने तो हर लक्ष्ण कोरोना नहीं है। वायरल या एलर्जी भी हो सकता है। डॉ. नेहा कहती है कि आप बिमारी से डरे या घबरायें नहीं।

Slider

haldwani dr. neha sharma news

वलकी उसका सामना करें। ऐसे लोगो की उनके द्वारा लगातार ऑनलाईन काउनसिलिंग भी कि जा रही है। अगर आप भी अपने या घर के किसी भी सदस्य के बरताव में किसी तरह की कोई समस्या महसूस कर रहे है। तो आप डॉ नेहा से (9837173140) नबंर पर संपर्क कर अपनी दिक्कतों को दूर कर सकते है।

कोरोना वायरस में देश के हालातों को देखते हुए उन्होंने देश की जनता से अनुरोध किया है कि पब्लिक ऐरिया में न जाये, क्योंकि कोरोना लोगों के संपर्क व मिलने से फैलता है।

यहाँ भी पढ़े

हल्द्वानी-(बड़ी खबर)-टीपी नगर पुलिस ने पकड़े तीन और जमाती, 5 दिनों से छिपे थे टांडा जंगल में

उत्तराखंड की बड़ी खबरें