PMS Group Venture haldwani

हल्द्वानी- नैनीवैली की प्रधानाचार्य ने दिया Biology के पेपर में अच्छे अंक लाने का गुरुमंत्र, छात्र इन बातों का रखें ध्यान

CBSE Board Exams, केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की 12वीं की परीक्षा शुरु होने में अब कुछ ही समय बाकी रह गया है। ऐसे में हर कोई छात्र अच्छे अंक प्राप्त करने की पूरी कोशिश में जुट गया है। कड़ी मेहनत के बावजूद केवल कुछ ही छात्र परीक्षा में अच्छे अंग हासिल कर पाते है। आपको बता दें किसी भी परीक्षा में अच्छे अंग लाने के लिये पढ़ाई करने के साथ-साथ एक स्ट्रैजी तैयार करना भी बेहद जरुरी है। जिससे आपको पढ़ाई करने में आसानी हो सकें।

विद्यार्थियों आपको बता दें कि बायोलॉजी मुख्य परीक्षा 70 अंकों की होगी। तीन घंटे की इस परीक्षा में 27 प्रश्न पूछे जाएंगे। नैनीवैली स्कूल की प्रधानाचार्य संगीता गोयल ने बताया की किन बिंदुओं को ध्यान में रखकर वद्यार्थी बायोलॉजी में अच्छे अंक पा सकते है। उनकी माने तो परीक्षा में अच्छे अंकों के लिए डायग्राम पर विशेष ध्यान देना होगा। इनकी लेबलिंग भी उतनी ही महत्वपूर्ण होती है। बायोलॉजी को समझ कर पढ़ना चाहिए न कि रटना चाहिए। पेपर ज्यादातर एनसीईआरटी की पुस्तक से बनाए जाते हैं। ऐसे में कम से कम दो बार किताब को बहुत बारीकी से पढ़ा जाना चाहिए।

Biology board exam preparation

यह भी पढ़े👉 ल्द्वानी- विद्यार्थी बिना घबरायें ऐसे करें Chemistry बोर्ड पेपर की तैयारी, शेमफोर्ड स्कूल की प्रधानाचार्य ने दिये महत्वपूर्ण टिप्स

यह भी पढ़े👉 हल्द्वानी- UBSE बोर्ड के छात्र इन टिप्स को ध्यान में रखकर दें English एग्जाम, डाउनलोड करें सैंपल पेपर

एनसीईआरटी पर दें विशेष ध्यान

प्रधानाचार्य संगीता गोयल बताती है कि परीक्षा की तैयारी करते समय एनसीईआरटी की पुस्तक बारीकी से पढ़नी चाहिए। छात्रों को चाहिए कि जो नोट्स तैयार किए हैं, उसे किताब के साथ जोड़कर तैयार करें। चैप्टर की रींडग के दौरान चैप्टर की हर एक महत्वपूर्ण लाइन, दिए गए उदाहरण, परिभाषा, वैज्ञानिक के नाम आदि को अंडरलाइन कर लें। इसके डायग्राम और नामांकन की प्रैक्टिस करें। फिर नोट्स तैयार करें। अगर आपको लंबे जवाब याद नहीं हो रहे हैं तो बिंदुवार लिख लें। क्यूं की एक्जाम में आपको प्रश्न का सटीक जवाब देने पर ही अंग मिलेंगे।

पेपर पढ़ने के समय का करे उपयोग

बायोलाजी की टीचर व नैनीवैली की प्रधानाचार्य कहती है कि विद्यार्थियों को प्रश्न पत्र पढ़ने वाले समय का पूर्ण उपयोग करना चाहिये। पेपर पढ़ने के लिए दिये गए 15 मीनट में ही प्रश्न हल करने की पूरी स्ट्रैजी को तैयार करना बेहद जरुरी है। सेक्शन ‘ई’ में पूछे गए 5-5 अंकों वाले प्रश्नों को सबसे पहले हल कर लें। उत्तर में केवल उतना ही जवाब दें जितनी बात पूछी गई हो। जवाब के इतर अतिरिक्त कुछ भी लिखने से अंक नहीं मिलते। ज्यादा लंबे जवाब लिखेंगे तो प्रश्नों के छूटने का खतरा रहेगा। लेखन साफ हो। जवाब के महत्वपूर्ण अंक (कीवर्डस) को अंडरलाइन कर दें। पेपर के उत्तर लिखने के बाद जांच लें। अगर वक्त बचा हो तो हर उत्तर की खास बातें अंडरलाइन कर दें।

इन चैप्टरों में दें विशेष ध्यान

वैसे तो परीक्षा में कहीं से आपसे प्रश्न किया जा सकता है। लेकिन सीबीएसई बायोलॉजी में जनसंख्या नियंत्रण, कांट्रासेप्टिव मेथड, पर्यावरण संबंधी समस्याएं, ग्रीन हाउस इफेक्ट, ओजोन क्षरण, बायोडायवर्सिटी, कजर्वेशन, री-प्रोडक्शन इन ह्युमन्स, बायोटेक्नोलॉजी और ह्युमन हेल्थ एंड डिजीज आदि चैप्टर खास हैं। इनका बारीकी से अध्ययन करना चाहिए। हर टॉपिक को रिवाइज करें।

ncert books board exam

पढ़ाई के लिए ज्यादा किताबों का प्रयोग न करते हुए एनसीआरटी और खुद के द्वारा बनाये गए नोट्स को पढ़े। इसके अलावा एनसीआरटी में हर चैप्टर के बाद दिये गए नीले बॉक्स के अंदर के महत्वपूर्ण बिंदुओं का बारीकी से अध्ययन करें। इसके अलावा एनसीआरटी बुक के आखीरी में दिये गए हर चैप्टर के प्रश्नों की अच्छे ले प्रैक्टिस करें। साथ 3 से 4 साल पुराने पेपल लेकर बार-बार साल्व करें।

कैसा होगा पेपर का पैटर्न

प्रश्नपत्र पांच सेक्शन में बंटा होगा। सेक्शन ‘ए’ प्रश्न संख्या 01 से 05 तक होगा। इसमें बहुविकल्पीय प्रश्न पूछे जाएंगे। सभी सवाल एक-एक अंक के होंगे। सेक्शन ‘बी’ में प्रश्न संख्या 06 से 12 तक कुल सात प्रश्न होंगे। लघु उत्तरीय यह प्रश्न 02-02 अंक के होंगे। सेक्शन ‘सी’ प्रश्न संख्या 13 से 21 तक होगी। इसमें कुल 09 सवाल होंगे यह प्रश्न 03-03 अंक के होंगे। सेक्शन ‘डी’ प्रश्न संख्या 22 से 24 तक रहेगी। इसमें तीन प्रश्न होंगे। सभी 03-03 अंक के होंगे। सेक्शन ‘ई’ में 03 सवाल होंगे और सभी 05-05 अंक के होंगे।

(कोरोना वायरस)उत्तराखंड के पहले ट्रेनी IFS अफसर जिन्होंने मौत को मात दी, देखिये पूरी कहानी