Uttarakhand Government
Uttarakhand Government
Home उत्तराखंड कुमाऊँ हल्द्वानी-शहर के इन अस्पतालों में होगा कोरोना मरीजों का इलाज, देखिये अस्पतालों...

हल्द्वानी-शहर के इन अस्पतालों में होगा कोरोना मरीजों का इलाज, देखिये अस्पतालों की सूची

हल्द्वानी ऑनलाइन संस्था (सहायता समूह) के सदस्य कर रहे कोरोना पीड़ितों के किए प्लाज्मा डोनेशन, ऐसे जुटे हैं नेक काम में

कोरोना जैसी महामारी से उभरने के लिए वर्तमान में कई मरीजों को प्लाज्मा रक्त की जरूरत पड़ रही है जिससे कि कोरोना...

रुद्रपुर: जिले के किसानों ने कलक्ट्रेट पर क्यों किया प्रदर्शन

रुद्रपुर । भारतीय किसान यूनियन के बैनर तले ज़िले के किसानों ने कलक्ट्रेट पर प्रदर्शन करके केंद्र सरकार द्वारा पारित अध्यादेशों को वापस लेने...

चंपावत से चरस लेकर आए दो युवक नानकमत्ता में गिरफ्तार

संवाददाता - अनुराग शुक्ला नानकमत्ता पुलिस ने 1 किलो चरस के साथ दो युवकों को गिरफ्तार कर उन पर मुकदमा पंजीकृत कर लिया है पुलिस...

ओमैक्स सोसायटी के कोषाध्यक्ष का चुनाव छाबड़ा ने जीता

रुद्रपुर । ओमैक्स आवासीय सोसायटी के कोषाध्यक्ष पद पर हुए चुनाव में जतिन छाबड़ा निर्वाचित घोषित किये गए हैं। उन्होंने अपने एक मात्र प्रतिद्वंदी...

रुद्रपुर के डाक्टरों ने कैंडल मार्च निकाल कर दी श्रद्धांजलि, फिर दी सरकार को यह धमकी

रुद्रपुर । प्रांतीय चिकित्सा सेवा संघ के आह्वान पर चिकित्सकों ने देश के विभिन्न अस्पतालों में कोविड 19 की वजह से जान गवां चुके...
Uttarakhand Government

हल्द्वानी- प्राइवेट अस्पतालों को कोविड मरीजों के इलाज की अनुमति दे दी गई है। हल्द्वानी के छह निजी अस्पताल चयनित किए गए हैं। सीएमओ डॉ. भागीरथी जोशी ने इन अस्पतालों को 25 फीसद बेड कोरोना मरीजों के लिए आरक्षित रखने के आदेश दिए हैं। शासन से निर्धारित शुल्क पर ही इलाज करना होगा। आदेश का पालन नहीं करने पर दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी। इन अस्पतालों में कृष्णा अस्पताल रिसर्च सेंटर, नीलकंठ अस्पताल, विवेकानंद अस्पताल, सांईं अस्पताल, सेंट्रल अस्पताल, बृजलाल अस्पताल को इसके लिए चुना गया है।


Uttarakhand Government

हल्द्वानी-(खुशखबरी)-यहां बनेंगी राज्य की पहली हाइटेक कोरोना टेस्टिंग लैब, हर दिन होगी 1000 नमूनों की जांच
रविवार शाम सीएमओ की ओर से आदेश मिलने के बाद छह निजी अस्पताल संचालकों ने वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिये बैठक की। इस दौरान अस्पताल संचालकों का कहना था कि शहर के इन्हीं छह अस्पतालों में सबसे अधिक नॉन कोविड मरीज हैं। ओपीडी में भी इन्हीं मरीजों की संख्या अधिक रहती है। अधिकांश अस्पतालों के पास प्रवेश व निकासी द्वार अलग-अलग नहीं हैं। अस्पतालों का कहना है कि केवल एक फिजीशियन हैं। जूनियर डॉक्टर भी नहीं हैं। ऐसे में एक ही डॉक्टर कैसे कोविड मरीज व अन्य मरीजों को देखेगा। सबसे अधिक दिक्कत यह है कि सभी तरह के मरीजों के मिक्सिंग होने पर संक्रमण बढऩे का खतरा रहेगा।

Uttarakhand Government

 

Uttarakhand Government
Uttarakhand Government

Related News

हल्द्वानी ऑनलाइन संस्था (सहायता समूह) के सदस्य कर रहे कोरोना पीड़ितों के किए प्लाज्मा डोनेशन, ऐसे जुटे हैं नेक काम में

कोरोना जैसी महामारी से उभरने के लिए वर्तमान में कई मरीजों को प्लाज्मा रक्त की जरूरत पड़ रही है जिससे कि कोरोना...

रुद्रपुर: जिले के किसानों ने कलक्ट्रेट पर क्यों किया प्रदर्शन

रुद्रपुर । भारतीय किसान यूनियन के बैनर तले ज़िले के किसानों ने कलक्ट्रेट पर प्रदर्शन करके केंद्र सरकार द्वारा पारित अध्यादेशों को वापस लेने...

चंपावत से चरस लेकर आए दो युवक नानकमत्ता में गिरफ्तार

संवाददाता - अनुराग शुक्ला नानकमत्ता पुलिस ने 1 किलो चरस के साथ दो युवकों को गिरफ्तार कर उन पर मुकदमा पंजीकृत कर लिया है पुलिस...

ओमैक्स सोसायटी के कोषाध्यक्ष का चुनाव छाबड़ा ने जीता

रुद्रपुर । ओमैक्स आवासीय सोसायटी के कोषाध्यक्ष पद पर हुए चुनाव में जतिन छाबड़ा निर्वाचित घोषित किये गए हैं। उन्होंने अपने एक मात्र प्रतिद्वंदी...

रुद्रपुर के डाक्टरों ने कैंडल मार्च निकाल कर दी श्रद्धांजलि, फिर दी सरकार को यह धमकी

रुद्रपुर । प्रांतीय चिकित्सा सेवा संघ के आह्वान पर चिकित्सकों ने देश के विभिन्न अस्पतालों में कोविड 19 की वजह से जान गवां चुके...

रुद्रपुर में बिल्डर के दफ्तर पर दबंगों ने चलवाई जेसीबी , पुलिस पहुंची तो जेसीबी छोड़ भागे

रुद्रपुर। काशीपुर रोड पर स्थित एक बिल्डर के ऑफिस को दबंगों ने रात के अंधेरे में जेसीबी मशीनों के जरिये ध्वस्त कर दिया। सूचना...
Uttarakhand Government