हल्द्वानी-15 सालों से नहीं सुन रही सरकार, एटीएच के 718 कर्मचारियों ने ऐसे जताया विरोध

Slider

हल्द्वानी- लगातार आज छठवें दिन भी सुशीला तिवारी राजकीय चिकित्सालय एवं राजकीय मेडिकल कॉलेज के 718 कर्मचारियों के द्वारा काला फीता बांधकर कार्य किया गया। कर्मचारियों का कहना है कि वह 15-20 सालों से आउटसोर्स के माध्यम से सुशीला तिवारी चिकित्सालय में अपनी सेवाएं देते आ रहे हैं जबकि उनके बाद के आए हुए कर्मचारियों को राज्य सरकार और कॉलेज प्रशासन के द्वारा नियमित कर दिया गया और हम उपनल कर्मचारियों को इतने लंबे अरसे के बाद भी नियमितीकरण नहीं किया गया है।

Hld

Slider

हल्द्वानी-लॉकडाउन में अकेले धरने पर बैठ गये कांग्रेस नेता सुमित, ऐसे जताया विरोध

उन्होंने कहा कि विरोध में कर्मचारियों के द्वारा 2 जुलाई को प्राचार्य को ज्ञापन के माध्यम से अवगत करा दिया गया था कि यदि 15 दिनों के भीतर हमारे नियमितीकरण के संबंध में कॉलेज प्रशासन या राज्य सरकार के द्वारा कोई सकारात्मक कार्रवाई नहीं की जाती है तो मजबूरन कर्मचारी 20 जुलाई से काले फीते बांधकर कार्य करने के लिए विवश होंगे। इसके बाद भी यदि अगर 31 जुलाई तक कर्मचारियों की मांगों पर सकारात्मक निर्णय नहीं लिया जाता है तो उसके बाद कर्मचारी मजबूरन एक अगस्त से कार्य बहिष्कार करने के लिए विवश होंगे। इसकी जिम्मेदारी कॉलेज प्रशासन एवं राज्य सरकार की होगी।

देहरादून-कोविड अस्पतालों में बैड के साथ लगेंगे ऑक्सीजन सिलेंडर, सीएम ने दिये जिलाधिकारियों को ये निर्देश

प्राचार्य का कहना है कि मांगों के संबंध में उनके द्वारा शासन को अवगत करा दिया गया है। प्रदर्शनकारियों में भानु कैड़ा, मोहन रावत, नीरज हैडिया, पूरन चन्द्र भट्ट, चंदू कफलटिया, विजय रौतेला, मनमोहन पाटनी, तेजा बिष्ट, विनोद बिष्ट, दिवान गौरिया, मनीष रौतेला, गिरीश तिवारी, महेश कुमार, दिनेश जोशी, लक्ष्मी बड़ोला, भानु त्रिपाठी, पान सिंह, मदन नौलीया, मनोज जोशी, पृथ्वी पटवाल, केसव दत्त ढोलगाईं, नरेश भट्ट, अजय कुमार, चंचल कुमार आदि मौजूद थे।

 

उत्तराखंड की बड़ी खबरें