अहमदाबाद - राम रहीम पर कोर्ट मेहरबान, आसाराम पर अदालतों का ऐसा अन्याय क्यों, बाबा के सेवकों ने उठाये सवाल 

 | 

अहमदाबाद - पिछले 10 सालों से जेल में बंद संत आसाराम बापू को न्याय दिलाने के लिए अब तमाम आवाजें उठने लगी हैं। गुजरात के अहमदाबाद स्थित मोटेरा आश्रम (Sant Shri Asharamji Asaram, Ashram in Ahmedabad, Gujarat) में संत आसाराम बापू की सेविकाओं और सेवकों ने उन्हें न्याय दिलाने की गुहार लगाई है। संत आसाराम बापू की सेविकाओं ने कहा कि राम रहीम को कई बार कोर्ट ने पैरोल दी है. लेकिन उनके गुरुदेव के साथ लगातार अन्याय हो रहा है। सेविकाओं ने कहा कि अगर रेप किया है तो आरोप सिद्ध क्यों नहीं हुआ। आश्रम में मौजूद सेविकाओं ने कहा कि उन्हें ईश्वर पर पूरा भरोसा है और उनके गुरुदेव 100 टका निर्दोष हैं। उन्होंने कई वर्षों से सनातन की सेवा की है। और संत ही देश को आगे बढ़ाने का काम करते हैं, उन्होंने कहा उनके गुरुदेव निष्कलंक और पाक साफ हैं और एक दिन बापू जल्द निर्दोष साबित होकर उनके बीच जरूर आएंगे। 


राम रहीम को पैरोल और फरलो दिए जाने की बात में बाबा की सेविकाओं ने कहा कि कई क्रिमिनल राजनीतिज्ञ, अभिनेता और आतंकवादियों तक को पैरोल दी जाती हैं, लेकिन आसाराम बापू को दस सालों में एक बार भी फरलो क्यों नहीं मिला?......सेविकाओं ने कहा कि इस बात से यह सिद्ध होता है कि यह कहीं ना कहीं एक अंतरराष्ट्रीय षड्यंत्र है। ना न्यायपालिका न्याय दे रही है, और ना ही राजनेता उन्हें न्याय दिलवा पा रहे हैं। सेवकों ने कहा उन्हें राम रहीम के पेरोल से कोई दिक़्क़त नहीं है पर कानून सबके लिए एक बराबर है. तो उनके बापू के साथ क्यों ऐसा भेदभाव क्यों रखा जा रहा है. 80 साल की आयु के बावजूद कोरोना के वक्त भी आसाराम बापू को जेल से मुक्ति नहीं दी गई. आसाराम के समर्थकों ने कहा, उन्हें उम्मीद है, उनके साथ न्याय होगा. उनके साथ हो रहा भेदभाव एक दिन जरूर दूर होगा।


2017 से 7 बार जेल से बाहर आ चूका है राम रहीम -
हरियाणा की जेल में रेप केस में बंद राम रहीम एक बार फिर पेरौल पर बाहर आ गया है, साल 2017 से अब तक राम रहीम सात बार जेल से बाहर आ चूका है. हरियाणा सरकार ने एक बार फिर 21 दिन का फरलो मंजूर किया है. इसी के साथ साल 2023 में राम रहीम तीसरी बार जेल से बाहर आया है. इस मामले में पिछले 10 साल से ज़्यादा वक्त से जेल में बंद आसाराम की कोई सुध नहीं ले रहा है।