inspace haldwani
Home उत्तराखंड गढ़वाल देहरादून-पीएम मोदी ने जाना चौथी बार चमोली का हाल, सीएम त्रिवेन्द्र की...

देहरादून-पीएम मोदी ने जाना चौथी बार चमोली का हाल, सीएम त्रिवेन्द्र की सक्रियता से ऐसे रूकी बड़ी तबाही

देहरादून-चमोली आपदा ने तबाही मचाई तो प्रदेश के मुखिया त्रिवेन्द्र सिंह रावत तुंरत एक्शन में आ गये। सीएम ने अपने कार्यक्रम रद्द करते हुए घटनास्थल की ओर जाने की तैयारी की। थोड़ी देर वह घटना स्थल पर भी पहुंच गये। साथ ही सभी विभागों को अलर्ट कर दिया गया। वहीं केन्द्र सरकार से भी तुंरत बात की। खुद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह लगातार उनसे हादसे की अपडेट लेते रहे और पूरी मदद का आश्वासन भी दिया। वही यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ भी मदद का आश्वासन दिया।

चमोली-टनलों से मलबा हटाने का काम जारी, 153 लोग लापता

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने बिना समय गंवाए ताबड़तोड़ फैसले लिए गए। राज्य सरकार की सक्रियता की हर तरफ सराहना हो रही है। खुद सीएम रावत ने ट्वीट कर बताया कि पीएम मोदी ने चौथी बार फोन कर चमोली में आई आपदा का अपडेट लिया है और हरसंभव मदद की आश्वासन दिया है। जैसे ही रैणी गांव मेंं ग्लेशियर फटा तो इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। सीएम को सूचना मिली तो उन्होंने तुंरत अलर्ट रखते हुए प्रशासन को आश्वासन दिया। घंटेभर के भीतर राहत एवं बचाव अभियान की रूपरेखा तैयार हो गई और उस पर अमल शुरू हो गया।

मौके पर एनडीआरएफ की टीमें दिल्ली से रवाना की गईं तो शाम होते-होते हिंडन से जौली एयरपोर्ट पर प्लेन उतरने लगे। पीएम नरेन्द्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह सबने सक्रियता दिखाई और तुुंरत राहत एवं बचाव कार्य तेज हो गया। एक तरफ सूचना इक_ा की जा रही थी तो दूसरी तरफ पूरा फोकस लोगों की जिंदगियां बचाने का था। इसके साथ ही किसी तरह की अफवाह न फैले, इसका भी बराबर ध्यान रखा गया। केवल किसी अधिकारी या मंत्री को घटनास्थल पर भेजने की जगह सीएम त्रिवेंद्र ने फौरन खुद जाने का फैसला किया। वही बाढ़ आगे बढऩे की सूचना पर लोगों को लगातार अलर्ट किया गया। जिससे आगे बड़ा हादसा होने से रोका गया।

सीएम त्रिवेन्द्र रावत के इस कदम की पूरे देशभर में तारीफ हो रही है। जिस तरह से उन्होंने चमोली आपदा में सक्रियता दिखाई वाकई में वह सराहनीय है। इसके अलावा सीएम ने आपदा आने के कुछ देर बाद ही टिहरी डैम से भागीरथी नदी के पानी को रोकने का आदेश दे दिया, जिससे देवप्रयाग से आगे ऋषिकेश, हरिद्वार और उत्तर प्रदेश के गंगा क्षेत्रों में नुकसान न हो। ऐसे में कहा जा सकता है कि उनकी दूरदर्शिता ने यूपी को भी प्रभावित होने से बचा लिया। गृह मंत्रालय एमएचए का कहना है कि रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन स्नो एंड एवलांच स्टडी इस्टेब्लिशमेंट संस्था के वैज्ञानिकों की एक टीम कल रात देहरादून के लिए रवाना हुई। जोशीमठ क्षेत्र से निगरानी के लिए वैज्ञानिकों की टीम रवाना हो रही है।

 

 

 

Related News

Cm त्रिवेंद्र ने बीजेपी कार्यकर्ताओं को दिया तोहफा, देखिये राज्यमंत्रियों की पूरी सूची

देहरादून। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने विभिन्न आयोगों, निगम, परिषद, समितियों में 17 महानुभावों को अध्यक्ष, उपाध्यक्ष और सलाहकार का दायित्व सौंपा है।...

देहरादून-सीएम त्रिवेन्द्र ने दी सल्ट का सौगात, पढिय़े सल्ट विधानसभा क्षेत्र की 14 घोषणाएं

देहरादून-आज मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने मुख्यमंत्री आवास से वर्चुअल माध्यम से अल्मोड़ा जिले के सल्ट विधानसभा की विभिन्न विकास योजनाओं का लोकार्पण एवं...

विकासनगर-अचानक घर में लग गई आग, आंगन में खेल रहे बच्चे सहमे

विकासनगर-आज चकराता ब्लॉक अंतर्गत सुदूरवर्ती गोरछा गांव में एक ग्रामीण के मकान में अचानक आग लग गई। आग लगने के बाद अफरा-तफरी मच गई।...

देहरादून- ऐपण कलाकृति मिलेंगी विश्वव्यापी पहचान, सीएम त्रिवेन्द्र ने एपण को दिलाई नई पहचान

देहरादून-उत्तराखंड की पारंपरिक ऐपण कलाकृति को नया आयाम मिल रहा है। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने हालिया दिल्ली दौरे पर केंद्रीय मंत्रियों को ऐपण...

चमोली-श्रम विभाग मेंं पंजीकृत मजदूरों को नहीं मिल रहा योजनाओं का लाभ, सरकार के दावे हवा-हवाई

चमोली- जिले के गोपेश्वर में श्रम विभाग के कार्यालय में पंजीकृत मजदूरों को केंद्र सरकार एवं राज्य सरकार द्वारा श्रमिकों के लिए ऑनलाइन कई...

देहरादून-सीएम त्रिवेन्द्र की अध्यक्षता में हुई बैठक, इन सात प्रस्तावों पर लगी मोहर

देहरादून- आज हुई कैबिनेट की बैठक में सात प्रस्ताव आये। जिसमें से सातों प्रस्तावों पर सहमति बनी। प्रदेश मंत्रिमंडल की बैठक आज को न्यू...