Uttarakhand Government
Uttarakhand Government
Home उत्तरप्रदेश COVID-19: कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़ने के कारण प्रदेश में हुई...

COVID-19: कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़ने के कारण प्रदेश में हुई वेंटिलेटर की कमी

UP BOARD: यूपी बोर्ड इन कक्षाओं के विद्यार्थियों के लिए बना रहा है वेब पोर्टल, मिलेंगी ये सुविधाएं

यूपी बोर्ड (UP Board) प्रदेश के 28 हजार से अधिक स्कूलों में कक्षा 9 से 12वीं तक के विद्यार्थियों की ऑनलाइन पढ़ाई (Online Study)...

Bareilly: किसान आंदोलन के समर्थन में सपा कार्यकर्ताओं सौंपा ज्ञापन, की यह मांग

प्रदेश में पिछले कई दिनों से किसानों का आंदोलन (farmers movement) जारी है। कई विपक्षी पार्टियां किसानों के साथ खड़ी हैं। इसी बीच बरेली...

ड्रग्स मामले में एनसीबी की पूछताछ है जारी, रकुल प्रीत और दीपिका की मैनेजर करिश्मा से चल रही है पूछताछ

सुशांत सिंह राजपूत केस (Sushant Singh Rajput Case) के ड्रग्स मामले में बॉलीवुड की कई बड़ी हस्तियां एसीबी (NCB) की रडार पर है। ड्रग्स...

पाकिस्तान की घिनौनी करतूत आई दुनिया के सामने, UN में छलका POK कार्यकर्ता का दर्द

पाकिस्तान (Pakistan) अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। इसी बीच पाकिस्तान की एक घिनौनी करतूत दुनिया के सामने आई है। संयुक्त राष्ट्र...

Covid-19: देश में एक दिन में इतने मरीज मिलने से कोरोना की संख्या 58 लाख के पार

भारत में कोरोना वायरस (Corona virus) की संख्या बढ़ती ही जा रही है। जब तक वैक्सीन नहीं आ जाती तब तक लोगों को ऐसे...

कोरोना वायरस (Corona Virus) के बढ़ते संक्रमण (Infection) को रोकने के लिए प्रदेश में चिकित्सा सेवाएं (Medical Services) बहुत ही तेजी से चल रहे हैं। हर जगह अस्पतालों में आइसोलेशन वार्ड (Isolation Ward) बनाए गए हैं। लेकिन मरीजों की संख्या बढ़ने के कारण वेंटिलेटर (Ventilator) व कई अन्य उपकरणों की कमी होने लगी है।
ventilator..जब किसी कोरोना संक्रमित (Corona Infected) व्यक्ति की स्थिति गंभीर हो जाती है। तो उसे वेंटिलेटर की जरूरत होती है क्योंकि संक्रमण की वजह से मरीज के फेफड़े काम कर नहीं पाते हैं। प्रदेश के सरकारी अस्पतालों (Government Hospitals) में गिनती के ही वेंटिलेटर है। मरीजों की संख्या बढ़ने के कारण वेंटिलेटर कम पड़ रहे है। लेकिन प्रदेश सरकार (State Government) वेंटिलेटर की कमी को पूरा करने के लिए हर संभव कोशिश कर रही है। आईआईटी कानपुर (IIT Kanpur) पोर्टेबल वेंटिलेटर अन्य जरूरी उपकरणों की तकनीक विकसित करने पर काम शुरू कर चुका है। साथ ही नोएडा की कंपनी भी पोर्टेबल डिजाइन वेंटिलेटर बना रही है और आईआईटी रुड़की (IIT Roorkee) ने भी वेंटीलेटर बनाया है।

यहाँ भी पढ़े

COVID-19: राशन कार्ड न होने पर भी मुफ्त में मिलेंगी खाद्य सामग्री, इन नंबरों पर करें संपर्क

Related News

UP BOARD: यूपी बोर्ड इन कक्षाओं के विद्यार्थियों के लिए बना रहा है वेब पोर्टल, मिलेंगी ये सुविधाएं

यूपी बोर्ड (UP Board) प्रदेश के 28 हजार से अधिक स्कूलों में कक्षा 9 से 12वीं तक के विद्यार्थियों की ऑनलाइन पढ़ाई (Online Study)...

Bareilly: किसान आंदोलन के समर्थन में सपा कार्यकर्ताओं सौंपा ज्ञापन, की यह मांग

प्रदेश में पिछले कई दिनों से किसानों का आंदोलन (farmers movement) जारी है। कई विपक्षी पार्टियां किसानों के साथ खड़ी हैं। इसी बीच बरेली...

ड्रग्स मामले में एनसीबी की पूछताछ है जारी, रकुल प्रीत और दीपिका की मैनेजर करिश्मा से चल रही है पूछताछ

सुशांत सिंह राजपूत केस (Sushant Singh Rajput Case) के ड्रग्स मामले में बॉलीवुड की कई बड़ी हस्तियां एसीबी (NCB) की रडार पर है। ड्रग्स...

पाकिस्तान की घिनौनी करतूत आई दुनिया के सामने, UN में छलका POK कार्यकर्ता का दर्द

पाकिस्तान (Pakistan) अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। इसी बीच पाकिस्तान की एक घिनौनी करतूत दुनिया के सामने आई है। संयुक्त राष्ट्र...

Covid-19: देश में एक दिन में इतने मरीज मिलने से कोरोना की संख्या 58 लाख के पार

भारत में कोरोना वायरस (Corona virus) की संख्या बढ़ती ही जा रही है। जब तक वैक्सीन नहीं आ जाती तब तक लोगों को ऐसे...

CBSE: सीबीएसई इन क्लासेस के सिलेबस में शामिल करेगा कोरोना वायरस की पढ़ाई

कोरोना संक्रमण (Corona Infection) से जुड़ी चुनौतियों को अब स्कूल की पढ़ाई में शामिल किया जाएगा। सीबीएसई (CBSE) 11वीं और 12वीं के छात्रों को...