inspace haldwani
inspace haldwani
Home उत्तरप्रदेश BAREILLY: मनरेगा में जागरूक महिलाओं को मेट बनने का मौका, प्रतिदिन मिलेगें...

BAREILLY: मनरेगा में जागरूक महिलाओं को मेट बनने का मौका, प्रतिदिन मिलेगें इतने रुपये

कौशांबी: बहन के घर शादी में आई महिला ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

न्यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के कौशांबी में एक माहिला ने फांसी लगाकर आत्म हत्या कर ली है। महिला अपनी बहन के घर शादी में...

बदायूूं: डीएम एसएसपी ने संपूर्ण समाधान दिवस में सुनी जन शिकायतें

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के बदायूं जिले में बुधवार को सम्पूर्ण समाधान दिवस जिलाधिकारी कुमार प्रशान्त, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संकल्प शर्मा, मुख्य विकास अधिकारी...

जानिए, मेनका गांधी को क्यों आया गुस्सा, फोन पर किससे कहा, एक नंबर के चोर और मक्‍कार हो

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। अपने संसदीय क्षेत्र में रिश्‍वत लेने की शिकायत पर सुलतानपुर से सांसद और पूर्व केन्‍द्रीय मंत्री मेनका गांधी को गुस्‍सा आ...

बरेली: डीएम गए थे नदी का काम देखने, स्कूल पर छापा मारा तो मास्टर मिले गैरहाजिर, फिर चढ़ गया डीएम का पारा

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के बरेली जिले में डीएम नीतीश कुमार ने सरकारी स्‍कूल पर अचानक छापा मारा तो स्‍टाफ गायब मिला। इसके बाद...

एटाःलूट की योजना बना रहे दो शातिर अपराधी गिरफ्तार

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के एटा जिले से पुलिस ने लूट की योजना बना रहे दो शातिर बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया है। अपराधियों...

लॉकडाउन (Lockdown) में गरीबों की आर्थिक स्थिति को देखते हुए प्रशासन महिलाओं को मनरेगा में गांव में ही रोजगार के बेहतर मौके दिए जा रहे हैं। मनरेगा में जागरूक महिलाओं को मेट बनने का मौका दिया गया है। इसमें 50 मजदूरों वाली साइट (Labor site) पर एक महिला को मेट बनाया जाएगा। इस महिला मेट को रोजाना 350 रुपये मिलेंगे। जिले में इस दौरान 1317 वर्किंग साइट्स (Working sites) पर करीब 47 हजार मनरेगा मजदूर काम कर रहे हैं।
mnregaप्रशासन की ओर से महिलाओं को मनरेगा की साइट पर मेट की जिम्मेदारी दी जा रही है। इसमें महिलाओं को मेट बनने के लिए मनरेगा जॉब  कार्ड (MNREGA job card) की आवश्यकता भी नहीं है। स्मार्ट फोन पर डाटा फीड (Data feed) करने की जानकारी रखने वाली महिला मनरेगा मेट के लिए आवेदन कर सकती है। मेट को मनरेगा की साइट पर मजदूरों की हाजिरी तथा काम की नाप जोख करनी होगी।

इसके अलावा मेट को मजदूरों का जॉब कार्ड, आधार कार्ड और खाता नंबर आदि का डेटा मोबाइल मॉनिटरिंग सिस्टम ऐप (Mobile monitoring system app) के जरिए फीड करना होगा। मनरेगा मेट एक साल में सौ दिन काम करने के लिए वाद्य भी नहीं है। मेट जब तक चाहें काम कर सकती है।

यहाँ भी पढ़े

COVID-19: सीएम योगी आदित्यनाथ ने की सभी श्रमिक एवं कामगारों से यह की अपील

Related News

कौशांबी: बहन के घर शादी में आई महिला ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

न्यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के कौशांबी में एक माहिला ने फांसी लगाकर आत्म हत्या कर ली है। महिला अपनी बहन के घर शादी में...

बदायूूं: डीएम एसएसपी ने संपूर्ण समाधान दिवस में सुनी जन शिकायतें

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के बदायूं जिले में बुधवार को सम्पूर्ण समाधान दिवस जिलाधिकारी कुमार प्रशान्त, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संकल्प शर्मा, मुख्य विकास अधिकारी...

जानिए, मेनका गांधी को क्यों आया गुस्सा, फोन पर किससे कहा, एक नंबर के चोर और मक्‍कार हो

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। अपने संसदीय क्षेत्र में रिश्‍वत लेने की शिकायत पर सुलतानपुर से सांसद और पूर्व केन्‍द्रीय मंत्री मेनका गांधी को गुस्‍सा आ...

बरेली: डीएम गए थे नदी का काम देखने, स्कूल पर छापा मारा तो मास्टर मिले गैरहाजिर, फिर चढ़ गया डीएम का पारा

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के बरेली जिले में डीएम नीतीश कुमार ने सरकारी स्‍कूल पर अचानक छापा मारा तो स्‍टाफ गायब मिला। इसके बाद...

एटाःलूट की योजना बना रहे दो शातिर अपराधी गिरफ्तार

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के एटा जिले से पुलिस ने लूट की योजना बना रहे दो शातिर बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया है। अपराधियों...

कुशीनगरः बेकाबू बोलेरो ने मजदूर को कुचला मौके पर मौत

न्यूज टुडे नेटवर्क। यूपी में खराब सड़के और बेकाबू वाहनों के कारण सड़क दुर्घटना बढ़ती ही जा रही है। लेकिन न ही सरकार सड़क...