Uttarakhand Government
Uttarakhand Government
Home उत्तराखंड हल्द्वानी से जुड़ी ये खास बातें नहीं जानते होंगे आप, जाने किस...

हल्द्वानी से जुड़ी ये खास बातें नहीं जानते होंगे आप, जाने किस सन् में आया अस्तित्व में अपना शहर

चोरी का हुआ खुलासा साथ में एक कैंटीन संचालक भी था शामिल

संवाददाता - अनुराग शुक्ला स्थान- शक्तिफार्म शक्तिफार्म के वार्ड नंबर 7 से दो युवकों को चोरी के मामले में गिरफ्तार किया गया है साथ ही निशानदेही...

उत्तराखंड- अब ऐसे होगा घर की छत में भी मछली पालन, प्रधानमंत्री की इस योजना से मिलेगा लाभ

अब घरों की छत और अन्य छोटी जगहों में भी मछली पालन का कार्य किया जायेगा। दरअसल प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना के तहत अब...

सिख समाज ने एसडीएम के माध्यम से राष्ट्रपति को भेजा ज्ञापन और साथ ही जताया रोष

संवाददाता- अनुराग शुक्ला सितारगंज में सिख समाज के लोगों ने जम्मू-कश्मीर का राजस्थान में पंजाबी मां बोली का तीसरे स्थान का दर्जा खत्म करने से...

11,000 हाईटेंशन लाइन की चपेट में आने से डिश केबल ऑपरेटर दर्दनाक मौत

संवाददाता -अनुराग शुक्ला सितारगंज नगर के केबल ऑपरेटर की हाईटेंशन लाइट की चपेट में आने से मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई घटना उस...

हल्द्वानी-आम्रपाली इंस्टिट्यूट का बड़ा प्लान, प्रवासियों को देंगे स्वरोजगार की फ्री ट्रेंनिंग, देखिये सरकार के साथ कैसे करना चाहते हैं कदमताल

हल्द्वानी । आम्रपाली ग्रुप आॅफ इंस्टीट्यूटस के सीईओ0 डा0 संजय ढींगरा ने बताया कि कोविड संकट और केन्द्र की नई शिक्षा नीति को देखते...
Uttarakhand Government

Haldwani City, हल्द्वानी कुमाऊँ का सबसे बड़ा एवं देहरादून तथा हरिद्वार के बाद राज्य का तीसरा सबसे बड़ा नगर है। इसे “कुमाऊँ का प्रवेश द्वार” कहा जाता है। कुमाऊँनी भाषा में इसे “हल्द्वेणी” भी कहा जाता है, क्योंकि यहाँ “हल्दू” (कदम्ब) प्रचुर मात्रा में मिलता था। लेकिन क्या आपको पता है कि हल्द्वानी की खोज कब और किसने की थी। कैसे हल्द्वानी के मुख्य बाजार या मुख्य इलाको का नाम पड़ा। कैसे यहां पर व्यावसायिक गतिविधियों को रफ्तार मिली।


Uttarakhand Government

आपको बता दें कि हल्द्वानी की खोज मिस्टर ट्रेल ने सन् 1834 में की। उस वक्त हल्द्वानी आज के हल्द्वानी के बिलकुल विपरीत था। यहां कोई बाजार कोई कालोनी यहा तक कि व्यापार की भी कोई व्यवस्था नहीं थी। सन् 1856 में सर हेनरी रैम्से ने कुमाऊँ के आयुक्त का पदभार संभाला। जिसके बाद कमिश्नर रैमजे ने झोपड़ियों में दुकानें खुलवा कर पहाड़ों की व्यवसायिक मंडी के तौर पर इसकी शुरूआत की। तब यहां व्यवसाय करने वाले गर्मियों में पहाड़ चले जाते थे। कुछ समय बाद ही यहां पर झोपड़ियों के स्थान पर पक्के मकान बनने लगे।

Uttarakhand Government

haldwani history news

Uttarakhand Government

सन् 1883-84 में बरेली और हल्द्वानी के बीच रेलमार्ग बिछाया गया। 24 अप्रैल, 1884 के दिन पहली रेलगाड़ी लखनऊ से हल्द्वानी पहुंची और बाद में रेलमार्ग काठगोदाम तक बढ़ा दिया गया। सन् 1890 के आसपास रेल मार्ग बन जाने के बाद यहां पर पीपल टोला, रेलवे बाजार, सदर बाजार, पियरसन गंज बाजार अस्तित्व में आये। सन् 1842 में मि. बैरन ने नैनीताल की खोज की थी। बाद में जिला नैनीताल की प्रशासनिक व्यवस्था हल्द्वानी से ही चलाई जाती थी। सन् 1882 में रैम्से ने नैनीताल और काठगोदाम को सड़क मार्ग से जोड़ दिया। कमिश्नर रैमजे ने भाबर क्षेत्र के लिए गौला नदी से नहरों का निर्माण कराया जो आज तक अस्तित्व में है।

haldwani city history news

उत्तराखंड के दक्षिण-पूर्वी हिस्से में स्थित हल्द्वानी महानगरीय क्षेत्र का प्रमुख शहर है। हल्द्वानी-काठगोदाम नगरों के अलावा हल्द्वानी महानगरीय क्षेत्र में ग्यारह कॉलोनियां (दमुआ धुंगा बांदोबस्ती, ब्यूरो, बामोरी तल्ली बंदोबस्ती, अमरावती कॉलोनी, शक्ति विहार, भट्ट कॉलोनी, मानपुर उत्तर, हरिपुर सुखा, गौजजली उत्तर, कुसुमखेड़ा, बिथोरिया सं १, कोर्त, बामोरी मल्ली और बामोरी तल्ली खम) और दो जनगणना नगर (मुखानी और हल्दवानी तल्ली) शामिल हैं।

हल्द्वानी नैनीताल जिले की एक तहसील भी है। हल्द्वानी तहसील नैनीताल जिले के दक्षिणी भाग में स्थित है, और इसकी सीमाएं नैनीताल जिले में नैनीताल, कालाढूंगी, लालकुआँ और धारी तहसीलों के अलावा उधमसिंह नगर जिले में गदरपुर, किच्छा और सितारगंज, और चम्पावत जिले में श्री पूर्णागिरी तहसील से मिलती हैं। तहसील में चार नगर और २०२ गांव शामिल हैं।

Uttarakhand Government

Related News

चोरी का हुआ खुलासा साथ में एक कैंटीन संचालक भी था शामिल

संवाददाता - अनुराग शुक्ला स्थान- शक्तिफार्म शक्तिफार्म के वार्ड नंबर 7 से दो युवकों को चोरी के मामले में गिरफ्तार किया गया है साथ ही निशानदेही...

उत्तराखंड- अब ऐसे होगा घर की छत में भी मछली पालन, प्रधानमंत्री की इस योजना से मिलेगा लाभ

अब घरों की छत और अन्य छोटी जगहों में भी मछली पालन का कार्य किया जायेगा। दरअसल प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना के तहत अब...

सिख समाज ने एसडीएम के माध्यम से राष्ट्रपति को भेजा ज्ञापन और साथ ही जताया रोष

संवाददाता- अनुराग शुक्ला सितारगंज में सिख समाज के लोगों ने जम्मू-कश्मीर का राजस्थान में पंजाबी मां बोली का तीसरे स्थान का दर्जा खत्म करने से...

11,000 हाईटेंशन लाइन की चपेट में आने से डिश केबल ऑपरेटर दर्दनाक मौत

संवाददाता -अनुराग शुक्ला सितारगंज नगर के केबल ऑपरेटर की हाईटेंशन लाइट की चपेट में आने से मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई घटना उस...

हल्द्वानी-आम्रपाली इंस्टिट्यूट का बड़ा प्लान, प्रवासियों को देंगे स्वरोजगार की फ्री ट्रेंनिंग, देखिये सरकार के साथ कैसे करना चाहते हैं कदमताल

हल्द्वानी । आम्रपाली ग्रुप आॅफ इंस्टीट्यूटस के सीईओ0 डा0 संजय ढींगरा ने बताया कि कोविड संकट और केन्द्र की नई शिक्षा नीति को देखते...

उत्तराखंड- अब इस मीटर के जरिये बिजली का बिल आयेगा बेहद कम, जानिये ऊर्जा निगम की ये योजना

ऊर्जा निगम ने एक नई योजना जारी की गई है, जो बिजली उपभोक्ताओं के लिये बेहद फायदेमंद है। अगर आप भी अनपे घर में...
Uttarakhand Government