Home उत्तराखंड हल्द्वानी- तो क्या बंद हो जाएगी मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस की पढ़ाई?...

हल्द्वानी- तो क्या बंद हो जाएगी मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस की पढ़ाई? जाने क्या है बड़ी वजह

हल्द्वानी-STF गौव संरक्षण स्क्वाड को मिली बड़ी सफलता, भारी मात्रा में यहाँ मिला गौमांस

हल्द्वानी-STF गौवंश सरक्षण स्क्वाड कुमाऊ टीम को मुखबिर द्वारा सूचना मिली की बड़ी रोड वनभूलपुरा में दो जगहों पर एक घर में...

हल्द्वानी-कोविड-19 ड्यूटी पर लापरवाही पर अब होगी ये कार्यवाही, पढ़िए क्या है निर्देश

हल्द्वानी- आज मुख्य विकास अधिकारी/इंसीडेन्ट कमाण्डर कोविड-19 नरेन्द्र सिंह भण्डारी ने बताया कि समय समय पर जोनल मजिस्ट्रेटो द्वारा अवगत कराया जा...

कविता-आजादी का दिन

उत्तराखंड के लोकप्रिय वेब पोर्टल न्यूज टुडे नेटवर्क की ओर से स्वतंत्रता दिवस के उपलक्ष्य में आॅनलाइन कविता प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा...

हल्द्वानी-डिग्री कॉलेजों में नए सत्र की तैयारी , MBPG में इस दिन से शुरू होगी ऑनलाइन क्लास

हल्द्वानी- कोरोना काल में अब धीरे धीरे डिग्री कॉलेजों में नए सत्र की तैयारियां शुरू कर दी हैं। कॉलेजों ने स्नातक पांचवें और...

कविता-यह झंडा प्यारा

उत्तराखंड के लोकप्रिय वेब पोर्टल न्यूज टुडे नेटवर्क की ओर से स्वतंत्रता दिवस के उपलक्ष्य में आॅनलाइन कविता प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा...

हल्द्वानी- न्यूज टुडे नेटवर्क: फैकल्टी पूरी न होने के चलते राजकीय मेडिकल कॉलेज हल्द्वानी में एमबीबीएस की पढ़ाई बंद हो सकती है। यह बात मेडिकल काउंसिल आफ इंडिया द्वारा फरवरी को जारी एक पत्र में कहीं गई है। आपको बता दें मेडिकल कॉलेज के कई विभागों में मौजूदा समय में प्रोफेसर व फैकल्टी की भारी कमी है। इससे पहले भी मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया ने फैकल्‍टी पूरी न होने के कारण रेडियोलॉजी, फिजियोलॉजी और बायोकेमेस्ट्रिी विभाग की मान्‍यता रद कर दी थी। अगले सत्र से पीजी में दाखिला देने से पूर्व एमसीआई की अनुमति लेनी पड़ेगी। मेडिकल कॉउंसिल ऑफ इंडिया ने फरवरी के अंतिम सप्‍ताह में गाइडलाइन जारी कर कहा है कि फैकल्‍टी पूरी न होने पर एमबीबीएस का कोर्स भी बंद कर देंगे।

यह भी पढ़ें-रामनगर- टैक्स कमिश्नर का नजदीकी निकला बच्चे के अपहरण की धमकी देने वाला, पुलिस ने ऐसे खोला राज

Slider

यह भी पढ़ें-हल्द्वानी- इलेक्ट्रीशियन चोरों ने गोदाम से ऐसे गायब किया लाखों का सामान, आप भी हो जाए सावधान

इन विभागों में नहीं है प्रोफेसर

राजकीय मेडिकल कॉलेज के बायोकेमिस्‍ट्री विभाग में प्रोफेसर नहीं हैं। रेडियोलॉजी विभाग में प्रोफेसर, असिस्‍टें प्रोफेसर और सीनियर रेजिडेंट की कमी हैं। त्‍वचा रोग विभाग में असिस्‍टेंट प्रोफेसर और सीनियर रेजिडेंट नहीं हैं। एनेस्थिसिया और जनरल मेडिसिन विभाग में सीनियर रेजिडेंट की कमी है। जिसके चलते कॉलेज में एमबीबीएस की पढ़ाई बंद होने की कगार पर पहुंच गई है। वही मामले में मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. सीपी भैंसोड़ा का कहना है कि मेडिकल कांउंसिल ऑफ इंडिया ने फरवरी में आदेश जारी किए हैं। फैकल्‍टी पूरी न होने पर एमबीबीएस की पढ़ाई पर भी ग्रहण लग जाएगा। पांच विभागों में सबसे अधिक संकट है। कमी दूर करने का प्रयास किया जाएगा।

Related News

देहरादून- कोरोना से लड़ाई में बाधा बन रही कांग्रेस, जाने क्यों विपक्ष पर बरसे भाजपा प्रदेश अध्यक्ष

उत्तराखंड में कांग्रेसी नेता भाजपा के खिलाफ लगातार धरना प्रदर्शन कर रहे है। इतना ही नहीं त्रिवेन्द्र सरकार की कमियों को जनता तक पहुंचाने...

हल्द्वानी- कोरोनाकाल में इन बिमारियों से जूंझ रहे मरीज रहे सावधान, एसटीएच में हुई इतनी मौतें

हल्द्वानी के सुशीला अस्पताल के चिकित्सकों ने एक खास रिपोर्ट जारी की है। रिपोर्ट में कोरोना के दौरान हुई मौतों में मरीज के शरीर...

देहरादून- इन युवाओं के Lockdown Plan की पूरे उत्तराखंड में है चर्चा, ऐसे दिया ये अनोखा संदेश

देहरादून के दो युवा इन दिनों लॉकडाउन के दौरान अपने कारनामे को लेकर खूब चर्चाओं में है। और हो भी क्यों न सुविधाओं से...

नैनीताल- अधिक नशा बना जान को खतरा, पढ़े पालिका कर्मचारी की ये करतूत

नैनीताल में मंगलवार सुबह उस वक्त अफरा-तफरी मच गई जब शराब के नशे में धुत्त नगर पालिका का एक कर्मचारी नैनीझील में कूद गया।...

देहरादून- घर पर होम आइसोलेट मरीज की कैसे करें देखभाल, पढ़े होम- आइसोलेशन की शर्तें

उत्तराखंड में कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए होम- आइसोलेशन की सुविधा सरकार ने शुरू कर दी है। इसके लिए किसी भी संक्रमित मरीज की...

देहरादून- भारतीय सेना के इस खास काम को देवभूमि में दिया जाएगा अंजाम, रक्षा मंत्री ने किया शुभारंभ

सेना के लिए जिस टी-90 व टी-72 टैंक के फायरिंग कंट्रोल सिस्टम के निर्माण के लिए हमारा देश रूस व फ्रांस पर निर्भर था,...