drishti haldwani

नई दिल्ली- पत्नी अपूर्वा को रोहित की हत्या मामले में किया गिरफ्तार, हत्यारिन ने खोले कई राज

142

नई दिल्ली- न्यूज टुडे नेटवर्क: रोहित शेखर तिवारी की संदिग्‍ध हालातों में हुई मौत के बाद पुलिस ने उनकी पत्नी अपूर्वा शुक्ला को आज राजधानी से गिरफ्तार कर लिया है। बता दें रविवार को पुलिस ने अपूर्वा शुक्ला और घर के दो नौकरों को हिरासत में लिया था। शनिवार रात को भी क्राइम ब्रांच के अधिकारियों ने अपूर्वा से करीब 8 घंटे तक पूछताछ की थी। पुलिस पूछताछ में भी अपूर्वा शुक्ला लगातार अपने बयान बदल रही थी। जिसके बाद उन्हें आज गिरफ्तार कर लिया गया है।

iimt haldwani

यह भी पढ़ें- नई दिल्ली- जब पीएम मोदी का फोन आते ही खिसक गई इस पंजाबी सिंगर के पैरों तले जमीन, परिवार में ऐसे मच गई गलबली

यह भी पढ़ें- नई दिल्ली- जाने किस वजह से सनी लियोनी ने जॉइन की पॉर्न इंडस्ट्री, इस शो में खुलकर सुनाई अपनी दास्तां

15 दिन पहले लौटी थी दिल्ली

गौरतलब है कि स्व. एनडी तिवारी की पत्नी और रोहित शेखर की मां उज्जवला ने शुक्रवार को कहा था कि उनके बेटे और बहू अपूर्वा के बीच रिश्ते अच्छे नहीं थे। उन्होंने कहा था कि यह मेरे लिए झटके से कम नहीं है। मैं विश्वास नहीं कर पा रही हूं कि मेरे बेटे की हत्या की गई है। उन्होंने कहा कि ऐसा क्या था जो रोहित दोपहर में 4 बजे तक सोता रहा। शेखर और उसकी पत्नी के बीच शादी के पहले ही दिन से विवाद थे। इससे पहले आई मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, मौत से कुछ दिन पहले रोहित शेखर और उनकी पत्नी अपूर्वा के बीच काफी झगड़ा हुआ था। झगड़े के बाद अपूर्वा अपने मायके इंदौर चली गई थीं। करीब 15 दिन पहले ही वह दिल्ली लौटी थीं।

पुलिस को जब अपूर्वा के ऊपर शक हुआ तो अपूर्वा के पिता ने कहा कि मेरी बेटी निर्दोष है। उन्होंने कहा कि मेरे दामाद और बेटी के बीच रिश्ते अच्छे थे और उस पर शक का कोई मतलब नहीं बनता है। उन दोनों के बीच कभी तनाव नहीं देखा। वही रोहित की मां उज्जवला ने यह भी बताया था कि रोहित-अपूर्वा के बीच आए दिन झगड़ते होते रहते थे। इस दौरान दोनों तलाक को लेकर बहस भी करते थे। कई मीडिया रिपोर्ट्स में ये भी दावा किया जा रहा है कि दोनों के तलाक पर आखिरी फैसला जून में होना था। बता दें कि रोहित और अपूर्वा की मुलाकात एक मैट्रोमोनियल साइट के ज़रिए 2017 में हुई थी।

इन वजहों से पुलिस को हुआ था शक

एनडी तिवारी के बेटे रोहित शेखर तिवारी के घर के अंदर छह लोग थे। कत्ल से पहले न कोई बाहर से घर के अंदर आया, न ही घर से कोई बाहर गया। फिर भी छह में से एक का क़त्ल हो गया। घर के अंदर और बाहर कुल सात सीसीटीवी कैमरे लगे थे। लेकिन सात में से दो कैमरे खराब थे। दोनों खराब कैमरे रोहित शेखर के बेडरूम के दरवाजे के पास के ही थे।