inspace haldwani
inspace haldwani
Home आध्यात्मिक क्यों लगाते हैं माथे पर तिलक, जानिए क्या है इसका महत्व

क्यों लगाते हैं माथे पर तिलक, जानिए क्या है इसका महत्व

Chhath Puja 2020- नहाय खाय के साथ शुरू हुआ छठ महापर्व, पढिय़े आखिर क्यों मनाया जाता है यह त्योहार

लोक आस्था का छठ महापर्व छठ नहाय खाय के साथ शुरू हो गया है। पर्व की खुशियों पर कोरोना संक्रमण का साया न मंडरा...

ऐसे शुरू हुआ बूढ़ी दिवाली मनाने का प्रचलन, पढिय़े किन राज्यों में जारी है ये परम्परा

हर साल दीपावली के बाद बूढ़ी दिवाली मनाई जाती है। बूढ़ी दिवाली खासकर पहाड़ी क्षेत्रों में मनाई जाती है। हिमाचल और उत्तराखंड के कई...

पटाखों जलाते समय बरते सावधानी, नहीं तो आंखों को हो सकता है ये नुकसान

दिवाली का त्योहार पूरे देश में बड़े हर्ष और उल्लास के साथ मनाया जाता हैं। पटाखों की गूंज और रोशनी से यह त्योहार धमाकेदार...

499 वर्ष के बाद दीपावली पर होगा यह दुर्लभ संयोग, ग्रहों के होंगे दुर्लभ योग, जानिए कब, कैसे क्या हैं कारण, देखें यह खबर…

बरेली,न्‍यूज टुडे नेटवर्क। इस बार दीपावली पर दुर्लभ संयोग उत्‍पन्‍न हो रहा है। लगभग ४९९ वर्षों के बाद यह दुर्लभ संयोग बन रहा है।...

HAPPY DIWALI-2020- पटाखों से जलने पर न करें ये गलतियां, ऐसे करें तुंरत उपचार

दिवाली का त्योहार रोशनी और पटाखों के बिना अधूरा है। लेकिन कई बार इस खुशहाली पर नजर तब लग जाती है जब पटाखों से...

नई दिल्ली-न्यूज टुडे नेटवर्क : यूं तो माथे पर तिलक लगाने के अलावा हिन्दू परंपराओं में गले, हृदय दोनों बाजू, नाभि, पीठ, दोनों बगल आदि मिलाकर शरीर के 12 स्थानों पर तिलक लगाने का विधान है। शोधकर्ताओं का मानना है कि मस्तक पर तिलक लगाने से शांति और ऊर्जा मिलती है। शास्त्रों के अनुसार मनुष्य मस्तक के मध्य में भगवान विष्णु का वास होता है। मंदिर में या घर में जब भी हम पूजा करते हैं भगवान के दर्शन के बाद पंडित जी तिलक जरूर लगाते हैं। माथे पर तिलक लगाना ईश्वर का प्रसाद माना जाता है। माथे पर तिलक लगाना ना सिर्फ धा्र्मिक आस्था होती है बल्की इसके पीछे वैज्ञानिक कारण भी हैं।

tilak3

माथे पर तिलक लगाने के कारण-

आत्मविश्वास

दोनों भोंहों के बीच के स्थान को अग्नि चक्र कहा जाता है। वैज्ञानिक भाषा में इसको थर्ड आई भी कहा जाता है। यहीं से हमारे शरीर में शक्ति का संचार होता है। अग्नि चक्र पर तिलक लगाने से आत्मविश्वास बढ़ता है।

 एकाग्रता

सभी पंडित या साधू-संत पूजा अराधना से पहले माथे पर तिलक लगाते हैं। ऐसा करने से मन शांत रहता है।

tilak

सुख-समृद्धि

अगर आप अपनी आर्थिक स्थिती से परेशान हैं तो, आप मां लक्ष्मी का पूजन करें और केसर का तिलक लगाएं। ऐसा करने से सुख-समृद्धि प्राप्त होगी।

शुभ

साधू-संत के कहे अनुसार देवी देवताओं की अराधना करें। हर दिन के अलग-अलग स्वामी ग्रह होते हैं। जिनका प्रभाव हमारे उपर होता है। वार के अनुसार तिलक लगाया जाए तो उस दिन से संबंधित ग्रह को अनुकूल बनाया जा सकता है।

Related News

Chhath Puja 2020- नहाय खाय के साथ शुरू हुआ छठ महापर्व, पढिय़े आखिर क्यों मनाया जाता है यह त्योहार

लोक आस्था का छठ महापर्व छठ नहाय खाय के साथ शुरू हो गया है। पर्व की खुशियों पर कोरोना संक्रमण का साया न मंडरा...

ऐसे शुरू हुआ बूढ़ी दिवाली मनाने का प्रचलन, पढिय़े किन राज्यों में जारी है ये परम्परा

हर साल दीपावली के बाद बूढ़ी दिवाली मनाई जाती है। बूढ़ी दिवाली खासकर पहाड़ी क्षेत्रों में मनाई जाती है। हिमाचल और उत्तराखंड के कई...

पटाखों जलाते समय बरते सावधानी, नहीं तो आंखों को हो सकता है ये नुकसान

दिवाली का त्योहार पूरे देश में बड़े हर्ष और उल्लास के साथ मनाया जाता हैं। पटाखों की गूंज और रोशनी से यह त्योहार धमाकेदार...

499 वर्ष के बाद दीपावली पर होगा यह दुर्लभ संयोग, ग्रहों के होंगे दुर्लभ योग, जानिए कब, कैसे क्या हैं कारण, देखें यह खबर…

बरेली,न्‍यूज टुडे नेटवर्क। इस बार दीपावली पर दुर्लभ संयोग उत्‍पन्‍न हो रहा है। लगभग ४९९ वर्षों के बाद यह दुर्लभ संयोग बन रहा है।...

HAPPY DIWALI-2020- पटाखों से जलने पर न करें ये गलतियां, ऐसे करें तुंरत उपचार

दिवाली का त्योहार रोशनी और पटाखों के बिना अधूरा है। लेकिन कई बार इस खुशहाली पर नजर तब लग जाती है जब पटाखों से...

पांच सौ सालों के बाद ऐसा योग, गुरूवार को नहीं होगा धनतेरस पूजन, शुक्रवार को मनाएं, कब रहेगी धनत्रयोदशी (धनतेरस ) जानें पूजन मुहूर्त…

आइए जानते हैं इस बार ऐसा क्‍यों, और क्‍या हो रहे परिवर्तन..क्‍या करें, क्‍या ना करें बरेली,न्‍यूज टुडे नेटवर्क। इस बार धनतेरस के पर्व को...