पूर्व प्रधानमंत्री नेहरू का बेटा क्यों नहीं आ पाया राजनीति में, जानिए क्या थी ऐसी वजह

Slider

नई दिल्ली-न्यूज टुडे नेटवर्क : हम भारत देश के पहले प्रधानमंत्री का नाम ले तो जवाहरलाल नेहरू जी को याद करते है दोस्तों ये हमारे देश के पहले प्रधानमंत्री मंत्री थे और ये अपने राजनीति के लिए माने जाते थे और कहा जाता है ये अपने देश की हित के लिए जेल भी जा चुके है और जनता के विकास के लिए कई बड़े कार्य भी किए है इनकी बेटी का नाम इंदिरा गांधी था और जो पहली भरतीय पीएम बनीं और क्या आपको ये बात पता है कि इनको एक पुत्र भी था मगर बहुत कम ही लोग जानते है उस पुत्र के बारे में कौन था और उसका नाम क्या था तो चलिए जानते है उनके बारे में।

neharu1

Slider

जवाहर लाल नेहरू की थीं दो संतान

जवाहरलाल नेहरू जी का जन्म 14 नवंबर 1889 को इलाहाबाद में हुआ था दोस्तों इनके पिता का नाम मोतीलाल नेहरू था और माता का नाम स्वरूप रानी था इनका विवाह 8 फरवरी 1916 में हुआ था जिनका नाम कमला नेहरू था उस वक्त इनकी उम्र सिर्फ 17 साल ही थी शादी के करीब पौने 2 साल बाद इन्हें पुत्री हुई थी जिसका नाम इंदिरा गांधी था 19 नवंबर 1917 में इनका जन्म हुआ था लेकिन जवाहरलाल नेहरू की ये एकलौती पुत्री नही थी एक और भी संतान थी।

pm-nehru_

प्रीमेच्योर था नेहरू का पुत्र

बहुत कम ही लोग जानते है कि इंदिरा गांधी के अलावा इनका एक पुत्र भी था इंदिरा गांधी के बाद इनको एक पुत्र भी हुआ था लेकिन वो प्रीमेच्योर था इनका यह पुत्र बहुत ज्यादा बीमार था और काफी इलाज भी किया गया, लेकिन उसकी मौत हो गयी इस घटना के बाद ही कमला नेहरू को एक बड़ा झटका लगा और पुत्र के मौत के बाद ये बहुत बीमार रहने लगी और उनकी मृत्यु हो गयी और 1936 में कमला नेहरू की भी मौत हो गई।

उत्तराखंड की बड़ी खबरें