ये क्या…भारत के इस शहर में पहली बार होने जा रही जंगली बिल्लियों की नसबंदी, जानिए क्या है कारण

119

मुंबई-न्यूज टुडे नेटवर्क : शहर की सडक़ों पर आवारा कुत्तों से लोग परेशान रहते ही हैं, लेकिन अब तो इस महानगर में लाखों की संख्या में खुली घूमने वाली जंगली बिल्लियां लोगों के लिए समस्या बन चुकी हैं। इस लिए अब इनकी आबादी पर नियंत्रण लगाया जाएगा। देश में पहली बार किसी महानगर या शहर में सरकारी स्तर पर यह निर्णय हुआ है। एनिमल वेलफेयर बोर्ड ऑफ इंडिया ने बृहनमुंबई महानगर पालिका द्वारा सडक़ों पर घूमने वाली बिल्लियों का एनिमल बर्थ कंट्रोल प्रोग्राम के तहत नसबंदी की इजाजत दी है।

cat5

मुंबई होगा पहला शहर


प्राप्त जानकारी अनुसार एडब्ल्यूबीआई कि माने तो देश के विभिन्न शहरों के स्थानीय प्रशासनों को आवारा कुत्तों, बिल्लियों और अन्य घुमंतु पशुओं के बंध्याकरण से संबंधित एडवाइजरी पिछले साल अक्तूबर में जारी की गई थी। परंतु बिल्लियों को लेकर इसे अमल करने वाला मुंबई पहला शहर है। प्रोजेक्ट से जुड़े एक अधिकारी ने बताया कि पिछले साल बीएमसी ने एडब्ल्यूबीआई से बिल्लियों के नसबंदी कार्यक्रम पर इजाजत मांगी थी। जब एक कारपोरेटर ने पहली बार मुंबई में बिल्लियों की आबादी नियंत्रित करने का प्रस्ताव रखा था।

cat7

कुत्तों के बाद अब बिल्ली की बारी

सूत्रों से मिली जानकारी अनुसार महाराष्ट्र सरकार का पशुपालन विभाग भी पहली बार मुंबई में बिल्लियों की गणना करने की योजना पर भी काम करने जा रहा है। बता दें बीएमसी इससे पहले आवारा कुत्तों की आबादी नियंत्रित करने का कार्यक्रम सफलतापूर्वक चला चुकी है। उसके पास हर पांच साल में अवारा कुत्तों की आबादी के आंकड़े हैं।