inspace haldwani
Home लाइफस्टाइल ये क्या ! इस गांव में 25 साल की उम्र में ही...

ये क्या ! इस गांव में 25 साल की उम्र में ही लोग हो जाते हैं बूढ़े, चलते हैं लाठी का सहारा लेकर

छत्तीसगढ़ -न्यूज टुडे नेटवर्क : जवान दिखने की चाहत सिर्फ महिलाओं में ही नहीं बल्कि पुरुषों में भी काफी ज्यादा मात्रा में होती है लेकिन अगर हम आपको बताएं कि आप 25 साल की उम्र में ही बूढ़े हो जाएंगे तो क्या आप हमारी बात का विश्वास मानेंगे? दरअसल यह बात सुनने में काफी अजीब लगती है, लेकिन ऐसा हकीकत में हो रहा है। जी हां, दरअसल एक ऐसा गांव हैं जहां पर रहने वाले लोग जवानी में ही बूढ़े हो रहे हैं।

15470

25 की उम्र में लाठी लेकर चल रहे लोग

बता दें कि यह अजीबो-गरीब गांव छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले के मुख्यालय से करीब 60 किमी दूर भोपालपटनम में स्थित है। प्राप्त जानकारी के अनुसार इस गांव के लोग 25 वर्ष की उम्र में ही लाठी लेकर चलने पर मजबूर हो जाते हैं और उन्हें देखकर ऐसा लगता है मानों उनकी उम्र 50 से 60 साल के बीच हो।

पानी की वजह से बूढ़े हो रहे यहां के लोग

रहिमन पानी राखिये, बिन पानी सब सून। रहीम की यह पंक्ति पानी की महत्ता को बताती है। वहीं जब पानी अमृत के बजाए जहर बन जाए तो पूरा जीवन अपंगता की ओर बढ़ जाता है। गौरतलब है कि शारीरिक परेशानी या कोई फैली हुई बीमारी नहीं है बल्कि इसके पीछे की वजह गांव की जमीन के नीचे से निकलने वाला पानी है। आपको बता दें कि इस गांव के 40 त्न लोग उम्र से पहले ही या तो लाठी के सहारे चलने लगते हैं या तो बूढ़े हो जाते हैं।

63846763

पानी में फ्लोराइड की मात्रा बहुत ही ज्यादा

शुद्ध पेयजल की व्यवस्था न होने के कारण मजबूरन आज भी यहां के लोग फ्लोराइडयुक्त पानी पीने को मजबूर हैं। दरअसल हैंडपंपों और कुओं से निकलने वाले पानी में फ्लोराइड की मात्रा अधिक होने के कारण पूरा का पूरा गांव समय से पहले ही अपंगता के साथ-साथ लगातार मौत की ओर बढ़ रहा है। शुद्ध पेयजल की कोई व्यवस्था नहीं है। संबंधित विभाग एक-दूसरे पर जिम्मेदारी डाल रहे हैं। इस गांव में आठ वर्ष की उम्र से लेकर 40 वर्ष तक के हर तीसरे व्यक्ति में कूबड़, दांतों में सडऩ, पीलापन और बुढ़ापा नजर आता है।

kuva1

प्रशासन की लापरवाही है मुख्य वजह

मालूम हो कि इस समस्या से ये गांव ही नहीं बल्कि इस गांव के आस पास का इलाका भी जूझ रहा है। फ्लोराइड युक्त पानी पीने की वजह से यहां के ज्यादातर लोग कुबड़ेपन का शिकार हो जाते हैं साथ ही उनके शरीर में कई तरह ही बीमारियां जन्म ले लेती हैं, हालांकि प्रशासन ने इस तरफ कोई ध्यान नहीं दिया गया और गरीबी और प्रशासन की लापरवाही की वजह से इस गांव के लोग अभी भी ये जहरीला पानी पीने पर मजबूर हैं।

Related News

डायबिटीज को कहे बाय-बाय, इन चार चीजों का करें इस्तेमाल

डायबिटीज यानी मधुमेह एक रोग है। इसमें जब व्यक्ति के शरीर में ग्लूकोज की मात्रा बढ़ जाती है तो इस स्थिति को डायबिटीज कहा...

देहरादून- उत्तराखंड के सिंगर पवनदीप के लिए सीएम त्रिवेन्द्र ने की ये खास अपील, जारी किया वीडियो संदेश

देश के प्रसिद्ध गायकी शो इंडियन आइडल 2021 में अपनी आवाज से धूम मचा रहे उत्तराखंड के पवनदीप राजन को ज्यादा से ज्यादा वोट...

नई दिल्ली- इस दिन से शुरू होने जा रही है रेलवे की रेग्युलर ट्रेनें, गृह मंत्रालय के सिग्नल का इंतजार

देश में कोरोना संक्रमण के मामलों में कमी और वैक्सीनेशन प्रोग्राम शुरू होने का साथ ही अब रेलवे अपनी रेग्युलर सर्विस शुरू करने जा...

नई दिल्ली- भारतीय रेलवे जल्द शुरू करने जा रहा ये खास सुविधा, यात्रियों के सामान की ऐसे होगी देखरेख

रेल यात्रियों को अब घर से रेलवे स्टेशन सामान लाने ले जाने की जरूरत नहीं है। इसकी व्यवस्था अब खुद रेलवे करने जा रहा...

नई दिल्ली- टाटा के इस फैसले से चीन को उठाना पड़ेगा नुक्सान, होगा ये बड़ा बदलाव

देश की सबसे बड़ी ऑनलाइन ग्रॉसरी कंपनी बिग बास्केट में सबसे बड़ा हिस्सेदार अब टाटा ग्रुप होने जा रहा है। टाटा ने स्पष्ट किया...

विटामिन डी की कमी को दूर, आजमाये डॉ. एनसी पाण्डेय के टिप्स

विटामिन डी की कमी स्वास्थ्य से जुड़ी आम समस्या बन गई है। असल में विटामिन डी वसा घुलनशील होता है जिसका सीधा स्रोत सूर्य...