iimt haldwani

हल्द्वानी-(वार्ड नंबर 48) पति के विकास कार्यों का गीता बल्यूटिया को मिल रहा फायदा, पढिय़े क्या है गीता के भविष्य के प्लान

510

हल्द्वानी-न्यूज टुडे नेटवर्क– नगर निगम चुनाव में वार्ड नंबर 48 मल्ली बमौरी से पार्षद पर प्रत्याशी गीता बल्यूटिया को जबरदस्त सहयोग देखने को मिल रहा है। गीता बल्यूटिया लगातार अपने जनसंपर्क में जुटी है। वह अपनी साफ और स्वच्छ छवि के लिए जानी जाती है। वही उनके पति मुकुल बल्यूटिया द्वारा किये गये विकास के कार्यों का फायदा उन्हें सीधे तौर पर मिल रहा है। मुकुल बल्यूटिया पिछले बार मल्ली बमौरी के ग्राम प्रधान रह चुके है। दोनों पति-पत्नी लंबे समय से सामाजिक सेवा में सक्रिय है। पार्षद प्रत्याशी गीता बल्यूटिया का चुनाव चिन्ह गैस सिलेंडर है। उन्होंने लोगों से अपील की कि वह उनके चुनाव निशान गैस सिलेंडर पर मोहर लगाकर उनके पक्ष में मतदान करें। बता दे कि वार्ड नंबर 48 मल्ली बमौरी से गीता बल्यूटिया पार्षद पद के लिए चुनाव मैदार में है। जिस तरह उनके पति मुकुल बल्यूटिया ने विकास कार्यो किये है। उससे साफ होता है कि इसका फायदा उनकी पत्नी पार्षद प्रत्याशी गीता बल्यूटिया को मिलेगा

drishti haldwani

ग्राम प्रधान रहते हुए पति ने किये विकास कार्य

अपने कार्यकाल के दौरान गीता बल्यूटिया के पति मुकुल बल्यूटिया ने प्रधान रहते हुए कई विकास कार्यो को अंजाम दिया। उन्होंने क्षेत्र में ट्यूबवेल, करीब 250 स्ट्रीट लाइटें, क्रियाशाला और नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश के सहयोग से अपनी निजी जमीन पर पंचायत भवन का निर्माण भी कराया। जिसमें क्षेत्र के लोगों के लिए कई सरकारी प्रमाण पत्र और कागज बनाने का काम किया जाता है। इसके अलावा उन्होंने मल्ली बमौरी में चम्बल पुल, सागम्बरी विहार में ट्यबवेल, आंगनबाड़ी का निर्माण कराया। गांव में होने के बावजूद बल्यूटिया ने करीब 250 स्ट्रीट लाइटें वार्ड नंबर 48 में बांटी। वही आजादी के बाद से पंचायत भवन अपने निजी आवास पर बनाया। साथ ही मंत्री जी के सहयोग से क्षेत्र में कई सडक़ों का निर्माण कराया। पेयजल के लिए तरस रहे लोगों को पेयजल आपूर्ति करायी। उन्होंने कहा कि उनके द्वारा किये गये विकास कार्यों को देखकर जनता वोट करें।

पति की तरह विकास कार्यो को आगे बढ़ाने का लक्ष्य- गीता

जिस तरह से पार्षद प्रत्याशी गीता बल्यूटिया के पति मुकुल बल्यूटिया ने ग्राम प्रधान रहते हुए मल्ली बमौरी में विकास के काम किये है। इससे साफ होता है इसका फायदा उनकी पत्नी गीता बल्यूटिया को पार्षद के चुनाव में मिलेगा। दोनों पति-पति लंबे समय से सामाजिक कार्यों में सक्रिय है। पार्षद प्रत्याशी गीता बल्यूटिया ने कहा कि जिस तरह से उनके पति ने ग्राम प्रधान रहते हुए क्षेत्र का विकास किया। उसी तरह वह भी क्षेत्र में विकास कार्यों को आगे बढ़ायेगी। आज उनके सहयोग से क्षेत्र के वृद्ध और विधवा महिलाओं को वृद्धावस्था पेंशन कैंप लगाकर वितरित की जा चुकी है। साथ ही क्षेत्र के छोटे-छोटे बच्चे आंगनबाड़ी में अध्ययन कर रहे है। पार्षद प्रत्याशी गीता बल्यूटिया ने लोगों से अपील की कि वह उनके चुनाव चिन्ह गैस सिलेंडर पर मोहर लगाकर उन्हें विजयी बनाये। जिससे क्षेत्र का विकास हो सकें। उन्होंने कहा कि भविष्य में क्षेत्र के लिए उन्होंने कई योजनाएं बनाई है जिससे आम जनता को फायदा मिल सकें। वह क्षेत्र के विकास के लिए कोई कोर-कसर नहीं छोड़ेगी।