iimt haldwani

हल्द्वानी- विक्रम बोरा उर्फ रोबो ने जोहार महोत्सव में लगाये चार चांद, मंच पर चढऩे को तैयार हुए युवा

614

हल्द्वानी-न्यूज टुडे नेटवर्क– दो दिवसीय जोहार महोत्सव का रविवार देर रात समापन हो गया। इस मौके पर शौका समाज के संस्कृति में जोहार की झलक देखने को मिली। इस महोत्सव में सिर्फ मुनस्यार जोहार ही नहीं समूचा हल्द्वानी झूम उठा। परंपरागत वेशभूषा में लोक वाद्यों की धुन के साथ शौका समाज के लोग रंगयात्रा में निकले तो जोहार की संस्कृति की अद्भुत झलक देखकर हर कोई मोहित हो गया। साथ ही शौका समाज से बाल कलाकारों व महिलाओं ने लोकनृत्य प्रस्तुत किए। सायंकालीन सांस्कृतिक कार्यक्रमों का सात बार एवरेस्ट फतेह कर चुके पर्वतारोही लवराज धर्मशक्तू ने शुभारंभ किया। इसके बाद आये उत्तराखंड के सुपर स्टार लोक गायक अमित सागर ने चेता की चैत्वाला गाने से स्टेज हिला दिया। अमित सागर ने खूब वाहवाही लूटी। इसके जैसे कार्यक्रम ने रफ्तार ही पकड़ ली।

amarpali haldwani

अनु मलिक ने बताया था छोटा प्रभु देवा

मुबंई से आये पिथौरागढ़ गणाई गंगोली निवासी विक्रम बोरा उर्फ रोबो ने अपने डांस से कार्यक्रम में चार चांद लगा दिये। विक्रम हाल ही में सोनी सब पर आयोजित रियलिटी शो इंडिया के मस्त कलंदर में फाइनल तक पहुंचे थे। जहां उन्होंने उत्तराखंड का नाम रोशन किया। रोबो उत्तराखंड में माइकल जैक्सन के नाम से जाने जाते है। इससे पहले सोनी टीवी में भी रवीना टंडन और अनु मलिक उनकी काफी तारीफ कर चुके है। अनु मलिक ने रोबो को छोटा प्रभु देवा कहा। वही सोनी सब टीवी में सिंगर मीका सिंह और गीता कपूर विक्रम के बबल डांस के दीवाने हो गये। इसके बाद जी मराठी चैनल पर भी विक्रम ने अपना दबदबा कायम रखा। वह अपने बबल डांस के लिए देश भर में छा गये। रोबो ने सबसे पहले उत्तराखंड के अमर लोकगायक स्व. पप्पू कार्की को याद किया। कहा कि आज में पहली बार उत्तराखंड में अकेला शो कर रहा हूं। पप्पू दी हर कार्यक्रम में मेरे साथ होते थे। पप्पू कार्की को याद करते-करते रोबो भावुक हो गये। इसके बाद उन्होंने अपने डंास से दर्शकों को सीट से उठने पर मजबूर कर दिया। बच्चे मंच पर चढऩे को तैयार हो गये।

मधुली गाने पर किया डांस

स्व. कार्की को श्रद्धांजलि देते हुए उन्होंने उनके मधुली गाने पर डांस किया और उसके बाद दक्ष कार्की के गाने सुन रे दगडिय़ा पर पप्पू से अपना रिश्ता लोगों तक पहुंचाया। विक्रम से सभी लोगों से मोबाइल का टार्च जलाकर दिखाने को कहा और पप्पू कार्की को श्रद्धांजलि दी। स्व. पप्पू कार्की की याद दिलाकर रोबो ने सबकी आंखें नम कर दी। इसके बाद आये गोविन्द दिगारी, प्रहलाद मेहरा और लास्ट में आये उत्तराखंड के सुपर स्टार लोकगायक जितेन्द्र तोमक्याल ने घुमिक्या बादल, लाली ओ लाली हौसिया आदि गाने को पूरा पंडाल खड़ा हो गया। सारे दर्शक अपनी जगह से उठकर आये और झूमने लगे। आयोजक भी अपने को नहीं रोक सकें। तोमक्याल के गानों के साथ ही कार्यक्रम का समापन हो गया।