यूपीः पर्यटक आवास गृहों को लीज पर देने जा रही योगी सरकार, निजी निवेशकों के साथ एमओयू पर करार जल्द

अयोध्या मथुरा काशी के साथ बरेली समेत प्रदेश के कई जिलों को लाभ मिलने की उम्मीद
 | 

न्यूज टुडे नेटवर्क। यूपी सरकार प्रदेश के पर्यटक आवास गृहों को लीज पर देने जा रही है। पर्यटन को बढ़ावा देने और पर्यटक आवास गृहों की हालत सुधारने के लिए सरकार यह कदम उठाएगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश के बाद शासन ने पर्यटक आवास गृहों को लीज पर दिए जाने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। पीपीपी मोड पर पर्यटक आवास गृहों का संचालन किया जायेगा। इस कदम के बाद पर्यटकों को आवास गृहों में बेहतरीन सुविधाएं मिल सकेंगी। पांच निजी निवेशकों के साथ गुरूवार को लखनउ में पर्यटक आवास गृहों के संचालन के लिए एमओयू साइन करने की प्रक्रिया शुरू होने की संभावना है।

पर्यटन मंत्री जयवीर सिंह की मौजूदगी में निजी निवेशकों के साथ एमओयू पर करार किया जायेगा। गौरतलब है कि राज्य में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए यूपी सरकार हर संभव प्रयास कर रही है। पर्यटन के लिहाज से महत्वपूर्ण स्थानों को विकसित किया जा रहा है। अयोध्या मथुरा काशी की तर्ज पर दूसरे जिलों में भी धार्मिक व पर्यटकों स्थलों को विकसित किया जा रहा है। अयोध्या काशी के बाद मथुरा वृन्दावन कारिडोर, विध्यवासिनी कारिडोर और नाथ नगरी कारिडोर सरकार की प्राथमिकताओं में शामिल हैं।

नाथनगरी कारिडोर के तहत बरेली को भी राज्य में विशेष दर्जा मिलने जा रहा है। स्मार्ट सिटी के तहत नाथ नगरी कारिडोर को विकसित किया जा रहा है। नाथनगरी के तहत बरेली की सड़कों पर चौड़ीकरण और सौन्दर्यीकरण किया जा रहा है। वहीं चौराहों को भगवान शिव के प्रतीकों के साथ सजाया संवारा जा रहा है। नाथनगरी में चार प्रवेश द्वार बनाए गए हैं, जिनके नाम आध्यात्मिकता के आधार पर रखे गए हैं। इसके अलावा नाथनगरी के धार्मिक स्थलों को जोड़ने के लिए भी काम किया जा रहा है।