LOKSABHA ELECTION-2024: नरेन्द्र मोदी के कल्किधाम एजेंडे पर कांग्रेसी पलटवार, जानिए, मुरादाबाद से क्या है प्रियंका गांधी, क्यों नरेन्द्र मोदी संभल को बता गए सियासी भविष्य का पायदान

 | 
  • मुरादाबाद को राहुल गांधी- प्रियंका गांधी ने क्यों बनाया पश्चिमी उत्तर प्रदेश की सियासत का केन्द्र
  • आखिर, मुरादाबाद से ही क्यों कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने शुरू की है वेस्ट यूपी में न्याय यात्रा
  • पीएम नरेन्द्र मोदी के द्वारा संभल के कल्किधाम शिलान्यास के क्या हैं, सियासी मायने
  • क्यों, पीएम मोदी ने कल्किधाम को राममन्दिर के बाद बताया भविष्य का स्तंभ
  • क्या वेस्ट यूपी की सियासत को एक नया धार्मिक एजेंडा दे गए हैं, पीएम नरेन्द्र मोदी

    न्यूज टुडे नेटवर्क। लोकसभा चुनाव की सियासत में वार पलटवार की राजनीति तेज हो गयी है। उत्तर प्रदेश में भाजपा, कांग्रेस, सपा और बसपा में सियासी उठापटक का दौर चल रहा है। हाल ही में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वेस्ट यूपी में कल्किधाम के शिलान्यास के साथ पश्चिमी उत्तर प्रदेश में नयी राजनीति का आगाज किया था। कल्कि धाम के सहारे पीएम मोदी वेस्ट यूपी के कार्यकर्ताओं को नया चुनावी धार्मिक एजेंडा तो दे ही गए थे। इसके साथ अयोध्या श्री राममन्दिर के बाद कल्किधाम को भविष्य का दूसरा बड़ा अध्याय भी बता गए थे।

    अब पीएम मोदी के कल्किधाम शिलान्यास की राजनीति के बाद कांग्रेस ने इसके पलटवार में वेस्ट यूपी को साधने की कवायद शुरू कर दी है। जहां एक ओर भाजपा मुरादाबाद मंडल की हारी हुयी सीटों पर इस बार फतेह पाना चाहती है तो वहीं कांग्रेस इंडिया गठबंधन के जरिए मंडल की सभी छह सीटों पर विपक्ष का कब्जा बरकरार रखना चाहती है। बता दें कि पिछले लोकसभा चुनाव में मुरादाबाद मंडल की छह सीटों में तीन पर सपा और तीन पर बसपा ने कब्जा जमाया था।

    मोदी के कल्किधाम शिलान्यास के पलटवार के रूप में अब राहुल और प्रियंका गांधी ने मुरादाबाद से वेस्ट यूपी में न्याय यात्रा की शुरूआत की है। मुरादाबाद से दोनों भाई बहन चुनावी तैयारी के लिए किसान आंदोलन, महंगाई और बेरोजगारी जैसे मुद्दों को उठाकर भाजपा को घेरने का प्रयास करेंगे। इस दौरान राहुल प्रियंका मुरादाबाद मंडल के मुद्दों को धार देकर भी भाजपा को घेरने का प्रयास करेंगे।

    शनिवार को मुरादाबाद से कांग्रेस की भारत जोड़ो न्याय यात्रा का आगाज हो गया है। राहुल गांधी और प्रियंका गांधी ने खुली जीप में सवार होकर लोगों का अभिवादन स्वीकार किया। इस दौरान दोनों नेताओं ने लोगों से संवाद भी किया। शनिवार सुबह से ही कार्यक्रम स्थल पर बड़ी संख्या में लोगों की भीड़ जुटनी शुरू हो गई थी। कांग्रेस सांसद राहुल गांधी यात्रा में भाग लेने के लिए नई दिल्ली से सुबह रवाना हुए।

    यहां से कांग्रेस की न्याय यात्रा अमरोहा और संभल पहुंचेंगी। कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने कहा कि मुरादाबाद से शुरू होने वाली यात्रा में प्रियंका गांधी मुख्य रूप से भाग लेंगी। 25 फरवरी को यात्रा संभल से शुरू होकर आगरा पहुंचेगी। जहां सपा प्रमुख अखिलेश यादव भी यात्रा मं शामिल होंगे।

    न्याय यात्रा के सहारे प्रियंका गांधी करीब दो साल बाद अपनी ससुराल मुरादाबाद पहुंचेंगीं। इससे पहले उन्होंने दस फरवरी दो हजार बाइस को मुरादाबाद में विधान सभा चुनाव के दौरान कांग्रेस प्रत्याशी के पक्ष में रोड शो किया था। प्रियंका गांधी की शादी 1997 में मुरादाबाद निवासी राबर्ट वाड्रा से शादी हुई थी।

    राहुल गांधी की सुरक्षा के लिए पुलिस-प्रशासन ने सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए हैं। पूरे यात्रा मार्ग को तीन जोन और आठ सेक्टर में बांटा गया है। जिसमें तीन एएसपी, आठ सीओ और 12 एसएचओ की ड्यूटी लगाई गई है। थानों की फोर्स के साथ ही चार सौ पुलिसकर्मी और पीएसी जवानों की दो कंपनी लगाई गई हैं। इस दौरान सीसीटीवी कैमरे से निगरानी की व्यवस्था भी की गई है। जामा मस्जिद चौराहे से संभल चौराहा डबल फाटक तक ऊंची इमारतों पर भी पुलिस कर्मी तैनात रहेंगे।