बरेली समेत कोहरे की चादर में लिपटा समूचा उत्तर भारत, हाईवे पर सावधानी बरतने की अपील

 | 

न्यूज टुडे नेटवर्क। यूपी में शीतलहर और सर्दी का सितम शुरू हो गया है। कोहरे के कहर के चलते सड़कों पर हादसे भी खूब हो रहे हैं। सर्दी धीरे-धीरे गहराती जा रही है और इसी के साथ प्रदेश में कोहरा भी गहराता जा रहा है। घने कोहरे का दौर अभी जारी रहेगा और कोहरे का प्रकोप अभी और बढ़ने के आसार हैं। लखनउ, कानपुर, वाराणसी, आगरा, बरेली और मेरठ समेत प्रदेश के कई दूसरे हिस्सों में कोहरे का कहर देखा जा रहा है। तमाम जिलों में घना कोहरा छाया हुआ है, जिसकी वजह से सड़कों पर कहीं कहीं दृश्यता शून्य हो रही है।

बरेली में कई स्थानो पर लोग सर्दी से ठिठुरते दिखे, प्रशासन की ओर से आश्रय ग्रहों और शेल्टर होम को संचालित किया जा रहा है। वैज्ञानिकों के अनुसार मौसम में पश्चिमी विक्षोभ के चलते ऐसा असर बना हुआ है, जिस कारण नमी की भी अधिकता है। इसी का नतीजा है कि घना कोहरा छा रहा है।

लखनऊ, बांदा, चित्रकूट, फतेहपुर, हरदोई, फर्रुखाबाद, कानपुर, उन्नाव, रायबरेली, बागपत, मेरठ, गाजियाबाद, हापुड़, गौतम बुद्ध नगर, बुलंदशहर, अलीगढ़, मथुरा, हाथरस, कासगंज, एटा, आगरा, फिरोजाबाद, मैनपुरी, इटावा, औरैया, बरेली, शाहजहांपुर, संभल, बदायूं, जालौन, हमीरपुर, महोबा, झांसी, ललितपुर समेत आसपास के इलाकों में घना कोहरा छाए रहने की चेतावनी जारी की गई है।

कोहरे का असर दिन भर छाया हुआ है। इसके चलते तापमान में भी गिरावट देखी गई। कई इलाकों में अधिकतम तापमान बीस डिग्री के नीचे पहुंच गया और सामान्य रूप से तापमान में दो डिग्री तक गिरावट दर्ज की गई है।

पश्चिमी यूपी में सर्दी का सितम बढ़ता जा रहा है। यहां  विभिन्न जिलों में कोहरे का कहर दिखाई दे रहा है। वहीं सीजन में सबसे सर्द मंगलवार का दिन रहा। तापमान सामान्य से नीचे आ गया। कोहरे के चलते दिन भर धूप गायब रही और गलन वाली सर्दी ने ठिठुरन बढ़ा दी। शाम होते होते फिर कोहरे का असर दिखने लगा। बुधवार को भी सुबह से ही शहर से देहात तक घना कोहरा छाया रहा। मौसम वैज्ञानिकों की माने तो कोहरे के चलते मौसम ठंडा बना रहेगा। दो दिन में करीब सात डिग्री अधिकतम तापमान में गिरावट दर्ज की गई है।

एक्सप्रेस वे समेत अलग अलग हाईवे पर कोहरे के चलते हाल ही में कई हादसे हो चुके हैं। वाहनों के टकराने से कई लोग घायल हुए हैं, और कुछ को जान भी गंवानी पड़ी है। एक्सप्रेस वे पर वाहनों की गति कम कराने के लिए पुलिस विशेष सतर्कता बरत रही है। हाल ही में यमुना एक्सप्रेस वे पर हुए हादसों के बाद पुलिस लाउडस्पीकर लेकर वाहनों की गति कम करने की अपील कर रही है। सोशल मीडिया के माध्यमों से भी लगातार सड़कों पर सतर्कता बरतने की अपील की जा रही है।