उर्स-ए-रजवी: मुस्लिम एजेंडे पर उलेमाओं ने की चर्चा, कहीं ये अहम बातें

 | 

न्यूज टुडे नेटवर्क। नव गठित संगठन आल इंडिया मुस्लिम जमात की तरफ से संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष मौलाना शाहबुद्दीन रजवी ने मुस्लिम एजेंडा जारी किया। इससे पहले उर्स ए आला हजरत के मौके पर इस्लामिक रिसर्च सेंटर पर एक बैठक हुई जिसमें विभिन्न राज्यों से आए हुए उलेमा ने हिस्सा लिया। जिन्होंने मिलकर यह मुस्लिम एजेंडा बनाया है।

chaitanya

जिसके मुताबिक मुसलमान समाज में फैल रही बुराइयों और अपने समाज की शिक्षा व आर्थिक मुद्दों पर ध्यान दे। देश की अखंडता के लिए मुसलमान कुर्बानी देने को तयार है मगर हिंदू मुसलमान की राजनीति बर्दाश्त नहीं की जायेगी। बीते सालों में मुसलमानों की शिक्षा दर काफी हद तक बढ़ी है, मगर अब भी नाकाफी है। नफरत फैलाने वालों के खिलाफ हम आंदोलन करेगा। उलेमा ने राजनीति पार्टियों को चेतावनी दी है की वो किसी का बंधुआ नहीं है। हम इस शर्त पर किसी पार्टी को वोट देंगे जब वो हमारे मुद्दों की बात करेंगे। इसके अलावा भी कई बातें प्रेस कांफ्रेंस में कही गईं।