यूपी : ग्रामीणों का फूटा पुलिस पर गुस्सा, दरोगा सिपाही घायल...

 | 

न्यूज़ टुडे नेटवर्क! उत्तर प्रदेश के बदायूं में 13 दिन पहले गायब हुए लड़के की लाश मिलने के बाद मृतक के परिवारवालों और ग्रामीणों का गुस्‍सा पुलिस पर फूट पड़ा। वजीरगंज थाने के इंचार्ज के साथ ग्रामीणों ने जमकर मारपीट की। ग्रामीणों के हमले में थाना इंचार्ज का सिर फूट गया और एक सिपाही गंभीर रूप से घायल हो गया। गनीमत रही कई पुलिसवाले जान बचाकर मौके से भाग निकले। जो भाग नहीं पाए उन्हें ग्रामीणों ने पकड़कर जमकर पीटा। घटना की जानकारी मिलते ही आसपास के थानों की पुलिस और पीएसी लेकर एसपी देहात मौके पर पहुंचे। मृतक परिवार के लोगों और ग्रामीणों का आरोप है कि लड़के के अपहरण के बाद आरोपियों के खिलाफ तहरीर देने के बाद भी पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। उल्‍टे परिवार को ही गुमराह करती रही। लड़के की हत्या कर दी गयी है और बताया जा रहा है कि शव के नाम पर सिर्फ कंकाल मिला है। परिवार के लोगों ने कपड़ों के आधार पर युवक की शिनाख्त की है।

chaitanya

अपने भाई के अपहरण की आशंका जताते हुए सुनील ने पड़ोसी गांव बरखेड़ा निवासी एक महिला सहित चार लोगों के खिलाफ अपहरण का मामला दर्ज कराया था। सुनील ने बताया, उसके भाई सुखवीर का पड़ोसी गांव बरखेडा निवासी एक व्यक्ति के घर पर आना जाना था। जिस दिन वह लापता हुआ है उस दिन भी गांव वालों ने उसे उसी घर में देखा था। पुलिस ने तहरीर के आधार पर गांव बरखेड़ा निवासी कोमिल पुत्र लटूरी, रामपाल पुत्र लटूरी, कल्लू पुत्र दोदराम, सुखदेई पत्नी कोमिल आदि के खिलाफ अपहरण का मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुलिस ने नामजदों को हिरासत में लिया है। बदायू के थाना वजीरगंज क्षेत्र के गांव पेंपल निवासी जयपाल का 17 वर्षीय बेटा सुखवीर बीते 25 जुलाई को संदिग्ध परिस्थितियों में गायब हो गया था। परिजन उसकी खोजबीन कर रहे थे लेकिन उसका कोई सुराग नहीं मिला। सुखवीर के भाई सुनील ने 27 जुलाई को गुमशुदगी दर्ज कराई थी।