नहीं रहे हंसी की दुनियां के बादशाह राजू श्रीवास्तव, 58 की उम्र में ली अंतिम सांस

 | 

न्यूज टुडे नेटवर्क। अपने हंसगुल्लों से दुनिया को हंसाने वाले मशहूर मशहूर कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव दुनिया को अलविदा कह गए। मौत से लंबा संघर्ष करने के बाद उन्होंने बुधवार को एम्स में अंतिम सांस ली। वह 58 वर्ष के थे और पिछले दिनों हार्ट अटैक होने के बाद अस्पताल में भर्ती थे। 42 दिन विशेषज्ञ डॉक्टरों की टीम राजू श्रीवास्तव के इलाज में जुटी रही मगर आखिरकार जिंदगी और मौत की जंग में मौत भारी पड़ी।

chaitanya

कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव को 10 अगस्त की सुबह व्यायाम करते वक्त हार्ट अटैक आया था। जिसके बाद उन्हें दिल्ली के AIIMS में भर्ती कराया गया था। डॉक्टरों ने उनके सिर का सीटी स्कैन कराया तो दिमाग के एक हिस्से में सूजन मिली थी। उनका ब्रेन भी रिस्पॉन्स नहीं कर रहा था। AIIMS में राजू की एंजियोप्लास्टी की गई थी, जिसमें हार्ट के एक बड़े हिस्से में 100% ब्लॉकेज मिला था। राजू ने पीछे पत्नी शिखा, बेटी अंतरा, बेटे आयुष्मान  को बिलखते छोड़ा है।

25 दिसंबर 1963 को जन्मे राजू श्रीवास्तव मूलरूप से कानपुर के रहने वाले थे। वह मशहूर हास्य कलाकार होने के साथ बहुत सहज एवं सरल व्यक्तित्व के मालिक थे। आमआदमी और रोज़मर्रा की छोटी छोटी घटनाओं पर उनके व्यंग सुनकर कोई भी हंसे बिना नहीं रह पाता था। राजू ने कल्यानजी आनंदजी, बप्पी लाहिड़ी एवं नितिन मुकेश जैसे कलाकारों के साथ भारत व विदेश में काम किया है। वह अपनी कुशल मिमिक्री के लिए जाने जाते थे। काम तो उन्होंने बालीवुड की फिल्मों में भी किया मगर उनको असली सफलता ग्रेट इंडियन लाफ्टर चैलेंज से मिली थी।

इस शो में अपने कमाल के प्रदर्शन की बदौलत वह घर-घर में सबकी जुबान पर आ गए थे। उन्होंने बिग बॉस-3 में भी हिस्सा लिया था। समाजवादी पार्टी () ने 2014 के लोकसभा चुनाव में राजू श्रीवास्तव को कानपुर से उम्मीदवार बनाया था मगर राजू ने टिकट वापस कर दिया था। बाद में वह भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें स्वच्छ भारत अभियान का हिस्सा बनने के लिए नामित भी किया था। राजू के निधन से उनके लाखों-करोड़ों फेंस सदमे में हैं।