उत्तरकाशी-गाजियाबाद से पैदल पहुंचा था गांव, क्वारंटीन किये गये युवक की ऐसे हो गई मौत

उत्तरकाशी-प्रदेश में प्रवासियों की संख्या में लगातार इजाफा होता जा रहा है। ऐसे में कोरोना मरीजों की संख्या भी बढ़ रही है। कई क्वारंटीन सेंटरों में मौत के माले भी सामने आये है। विगत दिनों बेतालघाट के एक क्वारंटीन सेंटर में 5 साल की बच्ची की सांप के काटने से मौत हो गई। इससे प्रशासन में हडक़ंप मच गया। अब बुधवार को एक युवती ने क्वारंटीन सेंटर से घर जाने के बाद दम तोड़ दिया। आज फिर एक और खबर आयी है कि देर रात उत्तरकाशी में एक युवक की मौत हो गई। युवक गाजियाबाद से अपने दो साथियों के साथ पैदल 19 मई को अपने गांव पहुंचा था।

death

Slider

पूरा मामला उत्तरकाशी जिले के पुरोला ब्लॉक का है। क्वारंटीन किए गए एक युवक की  दून अस्पताल में मौत हो गई है। गाजियाबाद से आये इन तीनों को आंगनबाड़ी केंद्र में क्वारंटीन किया गया था। विगत 24 मई को युवक ने छाती में दर्द होने की शिकायत की। जिसके बाद सीएचसी पुरोला से टीम ने पहुंच कर उसकी जांच की थी। जांच में युवक में कोरोना का कोई लक्षण नहीं पाया गया था।

इसके बाद 26 मई को युवक को चिकित्सकों ने सीएचसी पुरोला से उत्तरकाशी रेफर कर दिया। उसी दिन युवक को देहरादून रेफर कर दिया गया था। युवक के साथ आए दो लोग अभी क्वारंटीन सेंटर में ही हैं। स्टेट कॉर्डिनेटर डा. एनएस खत्री ने बताया कि मृतक युवक की आंतों में इंफेक्शन और डिहाईड्रेशन की शिकायत भी थी। कोरोना जांच के लिए सैंपल ले लिए गए हैं। युवक की मौत के बाद उसके घर में कोहराम मच गया।

 

उत्तराखंड की बड़ी खबरें