iimt haldwani

चमोली-छुट्टी काटकर घर से खुशी-खुशी लौटा था उत्तराखंड का यह लाल, बार्डर पर हुआ शहीद

2644

चमोली- न्यूज टुडे नेटवर्क- उत्तराखंड एक ऐसा राज्य है जहां सबसे ज्यादा युवा देश सेवा में लगे है। हाल ही में घर से छुट्टी काटकर गया देवभूमि का यह लाल जम्मू-कश्मीर के बार्डर पर शहीद हो गया। बेटे की शहादत की खबर से घर में कोहराम मच गया। बेटे के जाने से मां बेसुध हो गई। वहीं पूरे गांव की आंखें भर आयी। शनिवार को सैन्य अधिकारियों ने जब सुरजीत सिंह राणा के शहीद होने की जानकारी दी तो पूरा परिवार गम में डूब गया। जम्मू कश्मीर के राजौरी में माइन ब्लास्ट की चपेट में आने से उत्तराखंड के चमोली जिले का जवान सुरजीत सिंह राणा शहीद हो गये। माइन ब्लास्ट की चपेट में आने से सेना के दो जवान शहीद हो गए। हादसे में एक सैनिक घायल हो गया है। घायल जवान को इलाज के लिये सेना के कमान अस्पताल उधमपुर भेज दिया गया है।

amarpali haldwani

माइन ब्लास्ट की चपेट में आने से हुए शहीद

चमोली जिले के स्यूंण गांव निवासी सुरजीत सिंह राणा कुछ दिन पहले ही छुट्टी काटकर ड्यूटी पर लौटे थे। शनिवार की शाम वह शहीद हो गये। यह जानकारी सैन्य अधिकारी की ओर से परिजनों को फोन पर दी गई कि सुरजीत सिंह राणा के शहीद हो गये है। इसके बाद से परिजनों का रो रोकर बुरा हाल है। बताया जा रहा है कि शहीद के पिता शहीद के पिता त्यारा सिंह की पहले ही मौत हो चुकी है। घर में शहीद की मां विश्येश्वरी देवी व भाई महावीर राणा रहते हैं। शहीद की सूचना के बाद गांव में मातम है। शहीद सुरजीत 10वी गढ़वाल में सेवारत थे। रजौरी में अभियान के दौरान माइन ब्लास्ट की चपेट में आने से मौके पर ही शहीद हो गए। एक साल पहले सुरजीत की पत्नी का भी देहांत हो चुका था। उनके कोई बच्चे नही हैं। सुरजीत के पिता का देहांत लगभग 22 साल पहले हो गया। गरीबी के दिनों में पढ़ाई कर वह सेना में भर्ती हुए थे। अभी घर सम्भल ही था कि बहादुर भाई शहीद हो गया।