Uttarakhand Disaster - उत्तराखंड में आपदा से 650 करोड़ से अधिक का नुकसान, कई लोगों की हो चुकी हैं मौतें 
 

 | 

Uttarakhand Disaster 2023 - भारी बारिश और मानसून की वजह से उत्तराखंड के कई इलाकों में तबाही मची हुई है. उत्तराखंड के कुमाऊं ओर गढ़वाल दोनों ही मंडलों में बीते दिनों से भारी बारिश हो रही है. पुरे उत्तराखंड में तबाही और जलप्रलय की तस्वीरें नजर आ रही हैं. पहाड़ों पर से मलबा गिर रहा है.कई जगहों पर लैंडस्लाइड हो रहे है। मैदानी इलाकों में जल भराव और बाढ़ जैसे हालात बने हैं. मैदानी इलाकों में सबसे ज्यादा नुकसान हरिद्वार में हुआ है. यहाँ सबसे ज्यादा बाढ़ का प्रकोप दिखाई दे रहा है. जलभराव की जिम्मेदारी प्रकृति की है या फिर पहाड़ों पर हो रहे अव्यवस्थित विकास ओर बिना मानकों के पहाड़ों पर घर बनाना पहाड़ों की क्षमता से अधिक होटल की बड़ी  बड़ी बिल्डिंग बनाना भी भूस्खलन का कारण है। उत्तराखंड को आपदा में 650 करोड़ से अधिक का नुकसान आंकलन लगाया जा चुका है। 
 

उत्तराखंड में भारी बारिश के कारण राज्य के कई हिस्सों में जनजीवन प्रभावित हुआ है। बारिश की वजह से अभी तक 75 लोगों की मौत हो गई ओर 19 लोग लापता हैं. प्रशासनों की मदद से लापता लोगों को तलाश की जा रही है। बाढ़ और जल भराव की वजह से अभी तक 1226 भवन प्रभावित हुए हैं.जिनमे से 44 घर पूरी तरह से नष्ट हो गए हैं. आपदा और बाढ़ में फंसे हुए लोगों को एनडीआरफ (NDRF) की मदद से  बाहर निकाला जा रहा है. बाढ़ की वजह से 528 जानवरों की भी मौत हो गई है। बारिश की वजह से जगह - जगह सड़कें ख़राब हैं जिस कारण रोड एक्सीडेंट भी बढ़ गए है। रोड एक्सीडेंट में 50 लोगों की मौत हो गई है उत्तराखंड में 302 सड़कें अभी बंद पड़ी हुई हैं. जिसमें स्टेट हाईवे भी शामिल हैं, सड़कों को खोलने का काम जारी है जिसके लिए 246 जेसीबी मशीनें लगाई गई हैं।

tags :-:uttrakhand disaster ,how many places caused flood ,how many places caused flood ,how many places caused flood ,how many places caused flood