Uttarakhand News - दुःखद दस महीने पहले हुई थी शादी, साल गिरह से पहले ही जवान का पार्थिव शरीर तिरंगे से लिपटकर आया घर 
 

 | 

Uttarakhand News - पंजाब के पटियाला में तैनात उधम सिंह नगर जिले के जवाहरनगर निवासी भुवन चंद्र भट्ट  (Soldier Bhuwan Chandra Bhatt) डिप ऑर्डिनेंस यूनिट पटियाला में नायक के पद पर तैनात थे। 19 सितंबर रविवार को वहअपने दोस्तों के साथ घूमने यूनिट से बाहर गए थे . इस दौरान वो  इंदिरा कैनाल नहर में बह गए थे। आर्मी के काफी सर्च अभियान के बाद मंगलवार को यूनिट द्वारा आर्मी के जवान का शव 80 किलोमीटर दूर पानी में तैरता हुआ बरामद किया। गुरुवार सुबह भुवन का पार्थिव शरीर शांतिपुरी के जवाहर नगर उनके आवास पर पहुंचते ही परिजनों में कोहराम मच गया। तिरंगे में लिपटा जवान का पार्थिव शरीर को देख सभी की आंखे नम हो गई। जवान के पार्थिव शरीर के साथ भारत माता की जय, जब तक सूरज चाद रहेगा भुवन तेरा नाम रहेगा नारो के साथ क्षेत्र गुंजायमान हो गया। आज हल्द्वानी के चित्रशिला घाट में सैन्य सम्मान के साथ जवान का अंतिम संस्कार किया जाएगा। 

chaitanya

 

डिप ऑर्डिनेंस यूनिट पटियाला (Deep Ordnance Unit Patiala) में तैनात उधम सिंह नगर जवाहर नगर निवासी भुवन चंद्र भट्ट का शव घटना स्थल से 80 किलोमीटर दूर खनौरी शहर के पास नहर से बरामद (Bhuwan Chandra Bhatt Body Found in Canal) किया गया । जिसके बाद आज जवान का पार्थिव शरीर उनके आवास जवाहर नगर लाया गया। जैसे ही जवान का पार्थिव शरीर क्षेत्र में पहुंचा तो क्षेत्र में शोक की लहर दौड़ पड़ी। इस दौरान जवान को देख सभी की आंखे नम हो गई।

 

पत्नी पूजा और माँ के साथ शहीद जवान भुवन चंद्र भट्ट -

जवान भुवन चंद्र भट्ट (Jawan Bhuwan Chandra Bhatt) के निधन की जहां परिजन बेसुध हैं तो पत्नी पूजा का रो रोकर बुरा हाल है. भुवन भट्ट घर के इकलौते चिराग थे. साल 2014 में भुवन चंद्र भट्ट को डीप ऑर्डिनेंस यूनिट में तैनाती मिली थी. भुवन का विवाह 10 महीने पहले 29 नवंबर 2021 में हल्द्वानी के झलुवाझाला की पूजा से हुआ था. मृतक जवान भुवन भट्ट को दो माह बाद शादी की पहली सालगिरह में आना था लेकिन वक्त को कुछ और ही मंजूर था। आज उसका शव तिरंगे पर लिपट कर घर आया। भुवन के निधन के बाद पूजा का संसार उजड़ गया है।