हल्द्वानी - प्रोफेसर अनुराग ने आईआईएम इंदौर के लीडरशिप एंड चेंज मैनेजर प्रोग्राम में बढ़ाया उत्तराखंड का मान, डीन बोले युवाओं के लिए प्रेरणास्रोत हैं 

 | 

उत्तराखंड उच्च शिक्षा के क्षेत्र में कार्यरत प्रोफेसर अनुराग अग्रवाल को देश-विदेश में प्रतिष्ठित प्रबंध संस्थान आई आई एम इंदौर ने लीडरशिप एंड चेंज मैनेजर के रूप में प्रमाणित करते हुए इस आशय का प्रमाणपत्र गत दिवस इंदौर में आयोजित उपाधि वितरण कार्यक्रम में प्रदान किया।

मल्टीनेशनल कंपनी, डिफेन्स सेक्टर और पब्लिक सेक्टर के अधिकारी भी थे इस कोर्स का हिस्सा


डॉ अग्रवाल को यह उपलब्धि 7 महीने के ऑनलाइन कोर्स वर्क एवं परीक्षा उत्तीर्ण करने पर प्राप्त हुई है। उनके द्वारा यह उपलब्धि प्राप्त करने से उत्तराखंड उच्च शिक्षा विभाग का नाम प्रबंधन संस्थान में इस रूप में दर्ज हुआ कि देश भर से कुल 70 प्रतिभागियों में उत्तराखंड से डॉ अग्रवाल एकमात्र प्रतिभागी थे।6 माह के सर्टिफिकेट कोर्स में देश भर से मल्टीनेशनल कंपनी, पब्लिक सेक्टर, डिफेंस के एग्जीक्यूटिव अधिकारी सम्मिलित रहे । डॉ अग्रवाल उत्तराखंड राज्य से अकेले शासकीय अधिकारी थे। कोर्स के कोऑर्डिनेटर प्रोफेसर निशित कुमार सिन्हा ने डॉ अग्रवाल के सबसे अधिक वरिष्ठ होने और सौ प्रतिशत उपस्थिति प्राप्त किये जाने एवं अन्य युवा प्रतिभागियों को इससे प्रेरणा मिलने की प्रशंसा की और प्रोफेसर महापात्र, डीन आई आई एम ने प्रमाणपत्र प्रदान किया।

chaitanya

प्लानिंग के महारथी हैं प्रोफेसर अग्रवाल

इससे पूर्व भी प्रोफेसर अग्रवाल ने राज्य स्तर पर उच्च शिक्षा के सुधार हेतु सहायक निदेशक प्लांनिग एंड डेवलपमेंट के पद पर 7 वर्ष सेवाएं देते हुए महाविद्यालयों की अवसंरचना, भूमि प्रबंधन, पदों का सृजन, वित्तीय सहायता, सीटों का निर्धारण, नवीन महाविद्यालयों की स्थापना, गेस्ट फैकल्टी के चयन आदि 2 दर्जन से अधिक महत्वपूर्ण शासकीय जिम्मेदारियों का बखूबी निर्वहन किया है। प्राध्यापक के रूप में भी शिक्षण के साथ विभिन्न प्रतिष्ठित जर्नल में शोध पत्र प्रकाशित हैं। भारत सरकार एवं राज्य सरकार के अनेकों ट्रेनिंग प्रोग्राम,वर्कशॉप भी सफलता पूर्वक की गई हैं। वर्तमान में डॉ अपनी सेवाएं पी जी कॉलेज काशीपुर में प्रदान कर रहे हैं।

chaitanya

प्रोफेसर अग्रवाल की वर्तमान उपलब्धि पर उनके कार्यस्थल जिलों चंपावत, नैनीताल, पौड़ी, उधमसिंह नगर के अधिकारियों और कर्मचारियों के बधाई संदेश निरंतर प्राप्त हो रहे हैं। 
डॉ अग्रवाल ने बताया कि कोर्स करने के साथ ही मुम्बई, गोवा एवं हैदराबाद स्थित कंपनियों से जॉब ऑफर भी प्राप्त हुए हैं किंतु मेरी प्राथमिकता राज्य उच्च शिक्षा को इसका लाभ पहुँचाने की रहेगी तत्पश्चात अन्य विकल्पों पर विचार किया जाएगा।